छोटे बिजनेस की ग्रोथ के लिए बदलनी होगी आपको अपनी स्ट्रैटजी

ऐसी कई ग्रोथ स्ट्रैटजी हैं, जो छोटे उद्यमों के काम आ सकती हैं। बस जरूरत है उन्हें सही प्लानिंग के साथ आजमाने की। अगर आप भी किसी छोटे बिजनेस से जुड़े आंत्रप्रेन्योर हैं तो इन तरीकों की मदद से अपने उद्यम को रफ्तार दे सकते हैं।

करियर डेस्क । जरूरी नहीं कि बड़े स्तर पर ही बिजनेस मुनाफा और तरक्की हासिल कर सकता है। बल्कि छोटे बिजनेस को भी जल्दी ग्रोथ देने के लिए अब कई तरीके हैं। असल में अब ऐसी कई ग्रोथ स्ट्रैटजी हैं, जो छोटे उद्यमों के काम आ सकती हैं। बस जरूरत है उन्हें सही प्लानिंग के साथ आजमाने की। अगर आप भी किसी छोटे बिजनेस से जुड़े आंत्रप्रेन्योर हैं तो इन तरीकों की मदद से अपने उद्यम को रफ्तार दे सकते हैं।

मार्केट सेग्मेंटेशन 
ज्यादातर बड़े बिजनेस अपने मार्केट स्पेस को लेकर गंभीर होते हैं। बड़े प्रतिस्पर्धियों से जीतने के लिए छोटे उद्यमों को अपने बेसिक कस्टमर्स पर फोकस करना चाहिए जिससे उनकी बिक्री में बढ़ोतरी होगी, मार्केट रेवेन्यू बढ़ेगा और ग्रोथ भी होगी। इस सिलसिले में कई बार अपने प्रतिस्पर्धी के टार्गेट को छोड़ना भी फायदेमंद होता है। उदाहरण के तौर पर पेप्सी ने अपने प्रतिस्पर्धी की तुलना में अपने कस्टमर्सके रूप में 30 की उम्र से ज्यादा के युवाओं को टार्गेट करने के बजाय कम उम्र के युवाओं पर फोकस किया जिसके उसे बेहतर नतीजे भी मिले।

पार्टनरशिप का फायदा
दूसरे बिजनेस हाउसेज से पार्टनरशिप भी छोटे बिजनेस को आगे बढ़ने में मदद करती है। एक स्ट्रैटजिक पार्टनर पूंजी, विशेषज्ञता, ग्लोबल एक्सपोजर देने के साथ-साथ आपके ब्रांड को ग्रोथ भी देता है। इसके जरिए आप अपने पार्टनर की उन ऑफरिंग्स का इस्तेमाल अपने कस्टमर्सके लिए कर सकते हैं जो आपकी कंपनी में उपलब्ध नहीं हैं।

प्रॉडक्ट व सर्विसेज का रखें ध्यान 
ऐसे प्रॉडक्ट्स तैयार कीजिए जो कस्टमर्स के लिए जरूरी हों। साथ ही उनकी अपेक्षाओं पर खरे उतर सकें। छोटे बिजनेस का एक बड़ा फायदा यह भी है कि वे अपने कस्टमर्स से सीधे संवाद कर सकते हैं। इसके चलते वे उन्हें बेहतर अनुभव दे सकते हैं। 

Next News

आईटी के बजाय ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग अब बन रहा पसंदीदा स्ट्रीम

एचआर एक्सपर्ट्स के मुताबिक ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में बिग डेटा व आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के बढ़ते महत्व ने आईटी बैकग्राउंड वाले इंजीनियर्स की रुचि इस क्षेत्र

जॉब के साथ शुरू करना चाहते है अपना बिजनेस तो ये टिप्स आएंगे बहुत काम

जॉब के साथ-साथ खुद का स्टार्टअप शुरू करना अब एक प्रचलित ट्रेंड बनता जा रहा है, लेकिन इसके लिए टाइम मैनेजमेंट के साथ सही प्लानिंग भी जरूरी है।

Array ( )