बिजनेस में पैसिव इनकम प्लान्स के जरिए बढ़ाएं अपनी आय

extra income : कुछ क्रिएटिव स्ट्रैटजी के माध्यम से आंत्रप्रेन्योर्स अपनी सहूलियत के मुताबिक रेवेन्यू को बढ़ा सकते हैं।

करियर डेस्क । बिजनेस और जॉब दोनों में आय एक महत्वपूर्ण मसला है। ऐसे में हरेक पेशेवर आय बढ़ोतरी के बारे में सोचता है, लेकिन अच्छी बात यह है कि हर महीने की निश्चित राशि के अलावा भी इनकम में बढ़ोतरी के लिए अब कई तरीके हैं, खासतौर पर आंत्रप्रेन्योर्स के लिए। इसके लिए आपको पैसिव इनकम के बारे में समझना होगा। पैसिव इनकम यानी कम मेहनत में ज्यादा आय। इसके तहत कुछ क्रिएटिव स्ट्रैटजी के जरिए रेवेन्यू बढ़ाया जा सकता है। इसके लिए अपनी जरूरत, सुविधा और स्किल के हिसाब से कुछ तरीके अपनाए जा सकते हैं। जानिए कुछ पैसिव प्लान्स के बारे में जिनका इस्तेमाल आप अपनी आय बढ़ाने के लिए कर सकते हैं।

साइलेंट बिजनेस पार्टनर
प्रसिद्ध उद्यमी रतन टाटा ने साइलेंट इन्वेस्टर के रूप में पेटीएम, ओला और जियोमी में पैसा लगाया है। आप भी किसी बिजनेस में साइलेंट इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं। जरूरी नहीं कि आप उस कंपनी में शामिल हों। वक्त के साथ वह पैसा रिटर्न देने लगेगा। पैसा कहां लगाना है यह फैसला आप अपनी पसंद के हिसाब से कर सकते हैं। 

फ्रेंचाइजी मॉड
नियमित आय के लिए आप कोई भी ऐसा बिजनेस मॉडल डेवलप कर सकते हैं जो आपको फ्रेंचाइजी फर्म्स से जुड़ाव बढ़ाने में मदद दे। इसमें रॉयल्टी, कमीशन या मुनाफा अलग-अलग हो सकता है। बास्किन रॉबिन्स, मैक डोनाल्ड, पिज्जा हट की फ्रेंचाइजी लेकर कई उद्यमी पैसा कमा रहे हैं। 

मेंबरशिप बेस्डबिजनेस मॉड
बीटूबी सर्विसेज में अलग-अलग बिजनेस सेक्टर्स जैसे जिम, स्पा, सैलून, क्लब्स में कस्टमर्स को अच्छे ऑफर देना भी फायदेमंद हो सकता है। मसलन महीने की भारी-भरकम फीस के बजाय पूरे साल का सब्सक्रिप्शन करवाने पर फीस में कटौती जैसे विकल्प आप आजमा सकते हैं। इससे भी आपकी आय में बढ़ोतरी होगी। 

एक बार तक सीमित न हो मुनाफा
अगर आप सॉफ्टवेयर डेवलपर हैं तो एक बार में इसे बड़ी कीमत में बेचने के बजाय सालाना सब्सक्रिप्शन के आधार पर बेचें तो ज्यादा फायदा हो सकता है। उदाहरण के तौर पर एडोब ने शुरुआत में ज्यादा कीमत वाली सर्विसेज ऑफर कीं जिसके चलते वह लंबे समय तक अपने ग्राहकों को नहीं जोड़ पाया, लेकिन आगे कंपनी ने
क्लाउड बेस्ड सर्विस का सहारा लिया और अच्छा मुनाफा कमाया। 

आउटसोर्सिंग का फायदा
ज्यादा काम होने पर आप एक तय कीमत में फ्रीलांसर्स से काम करवा सकते हैं। ऐसा करना अप्रत्यक्ष रूप से आपकी इनकम में बढ़ोतरी करेगा।

Next News

इंटरव्यू में ये गलतियां आपको कर सकतीे हैं जॉब से दूर

एचआर एक्सपर्ट्स की राय में कैंडिडेट्स को यह समझना जरूरी है कि जब रिक्रूटर आपके रेज्यूमे को चुनते हैं तो इसका मतलब है कि वे आपको मौका दे रहे हैं और अब

इन बातों काे ध्यान में रखकर स्टार्टअप को बनाएं सफल

उत्पाद की सफलता के लिए यह महत्वपूर्ण है कि उसे सही रणनीति के साथ बाजार में उतारा जाए। इसके लिए जरूरी है कि आप प्रॉडक्ट का टार्गेट, जरूरतें, फीचर्स और

Array ( )