Articles worth reading

वीरप्पन ने तीन दशक तमिलनाडु और कर्नाटक की

मेन एग्जाम 4 नवंबर को आयोजित किया जाएगा।

नीट मेडिकल और डेंटल एंट्रेंस एग्जाम

क्या होती है राष्ट्रीय आय और प्रति व्‍यक्ति आय

राष्ट्रीय आय के आंकड़ों से  हम यह जान सकते हैं कि अर्थव्यस्था में विकास हो रहा है या नहीं।

एजुेशन डेस्क,भोपाल। राष्ट्रीय आय किसी देश की ओर से एक वर्ष में उत्पादित सभी वस्तुओं और सेवाओं की कीमत है। यहां यह गौर करना जरूरी है कि वस्तुओं और सेवाओं में अंतिम या - -सिर्फ वही वस्तुएं या सेवाएं ही शामिल हैं, जिनका उपयोग खपत में होता है न कि दोबारा उत्पादन में। राष्ट्रीय आय के आंकड़ों से  हम यह जान सकते हैं कि अर्थव्यस्था में विकास हो रहा है या नहीं। अगर राष्ट्र की वास्तविक आय पिछले साल की तुलना में ज्यादा दिख रही है तो इसमें से महंगाई दर को घटा कर हम  ग्रोथ की वास्‍तविक दर पता चला सकते हैं। 
  
क्या है  प्रति व्यक्ति आय ?
- प्रति व्यक्ति आय वह पैमाना है जिसके जरिए यह पता चलता है कि किसी क्षेत्र में प्रति व्यक्ति की कमाई कितनी है। इससे किसी शहर, क्षेत्र या देश में रहने वाले लोगों के रहन-सहन का स्तर और जीवन की गुणवत्ता का पता चलता है। देश की आमदनी में कुल आबादी को भाग देकर प्रति व्यक्ति आय निकाली जाती है।

 

 

Next News

जानिए कहां और कैसे छपता है रुपया, भारतीय करंसी से जुड़े रोचक फैक्ट्स

भारत में रुपए का प्रचलन कब शुरू हुआ था, कहां छपता है करंसी नोट और इससे जुड़े अन्‍य इंटरेस्टिंग फैक्‍ट्स

जानिए, क्‍या होती है थोक महंगाई दर, क्‍या है इसको मापने का पैमाना

वस्‍तुओं की डिमांड और सप्‍लाई में अंतर की वजह से बढ़ जाती है महंगाई दरें।

Array ( )