ममता का NEET में गड़बड़ी का आरोप, जावड़ेकर को भेजी री- एग्जाम की चिट्‌ठी

ममता बनर्जी ने प्रकाश जावड़ेकर को लिखे लेटर में लिखा है कि स्टूडेंट्स को बंगाली में पेपर नहीं दिए गए।

एजुकेशन डेस्क। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने NEET एग्जाम में 'अनियमितताएं' बरतने का आरोप लगाया है। उन्होंने इसके लिए एचआरडी मिनिस्टर प्रकाश जावड़ेकर को भी लेटर लिखा है और कुछ जगहों पर री-एग्जाम कराने की मांग की है। ममता बनर्जी ने अपने लेटर में जावड़ेकर से NEET एग्जाम में अनियमितताएं बरतने के मामले में कार्रवाई करने को कहा है। बता दें कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) की तरफ से 6 मई को देशभर में नीट का एग्जाम कराया गया था।

ममता बनर्जी ने अपने लेटर में क्या कहा?

- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ममता बनर्जी ने एचआरडी मिनिस्टर प्रकाश जावड़ेकर को लिखे लेटर में NEET एग्जाम में अनियमितताएं बरते जाने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि कई एग्जाम सेंटर्स पर कैंडिडेट्स को बंगाली में पेपर नहीं दिए गए और कई जगहों पर दूसरे पेपर की फोटोकॉपी करके पेपर दिए गए।
- उन्होंने कहा कि कई कैंडिडेट्स को हिंदी और इंग्लिश में पेपर दिए गए। उन्होंने अपील करते हुए कहा कि उन लोगों के खिलाफ एक्शन लिया जाए, जो इन अनियमितताओं के लिए रिस्पॉन्सिबल हैं। साथ ही अगर जरुरत पड़े तो कुछ कैंडिडेट्स के पेपर दोबारा लिए जाएं, ताकि कैंडिडेट्स पर इसका असर न हो। 
- अपने लेटर ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि एक एग्जाम सेंटर्स में 600 कैंडिडेट्स को एग्जाम देना था, लेकिन उसके बावजूद वहां सिर्फ 520 पेपर्स ही पहुंचे।

NEET 2018: एग्जाम का पूरा एनालिसिस, कितना हो सकता है कटऑफ?

NEET 2018 की बड़ी बातें

- इस साल इस एग्जाम में 13,26,725 कैंडिडेट्स हिस्सा ले रहे हैं। इनमें से 5,80,648 मेल कैंडिडेट्स और 7,46,076 कैंडिडेट्स शामिल हो रहे हैं। जबकि एक ट्रांसजेंडर भी शामिल है।
- इस एग्जाम के लिए देशभर के 136 शहरों में 2,225 एग्जाम सेंटर्स बनाए गए हैं। बता दें कि एग्जाम का रिजल्ट 5 जून तक डिक्लेयर किया जा सकता है और इसी के बाद आगे की प्रोसेस शुरू होगी।

NEET 2018: फिजिक्स के पेपर से तय होगी रैंक, 180 में से 110 आसान सवाल

5 जून को आएगा रिजल्ट, OMR भी देख सकेंगे

- NEET एग्जाम का रिजल्ट 5 जून को डिक्लेयर किया जाएगा। इसके बाद ही काउंसलिंग और बाकी की प्रोसेस शुरू होगी।
- इसके साथ ही एग्जाम के बाद 10 मई को बोर्ड की वेबसाइट पर कैंडिडेट्स अपनी OMR शीट भी देख सकते हैं।
- इसके लिए कैंडिडेट्स को बोर्ड की वेबसाइट पर जाना होगा और अपना रोल नंबर डालना होगा। इससे कैंडिडेट्स की OMR शीट ओपन हो जाएगी।
- इसके बाद ही आंसर-की जारी की जाएगी। हालांकि अभी तक इसके लिए बोर्ड ने कोई डेट डिसाइड नहीं की है।

Next News

टूरिज्म में इंटरेस्ट रखने वालों को MP सरकार देगी रोजगार, 24 मई को लगेगा जॉब फेयर

मध्यप्रदेश टूरिज्म एंड हॉस्पिटैलिटी स्किल काउंसिल (टीएचएससी) की एक बैठक में मेगा जॉब फेयर की घोषणा की गई हैं।

एमपी बोर्ड ने बढ़ाई एग्जाम फीस, सालाना 108 करोड़ की होगी कमाई

बोर्ड ने इस साल एग्जाम फीस 550 से बढ़ाकर 900 रुपए कर दिया है।

Array ( )