UPSC 2017: अनुदीप ने किया टॉप, अनु दूसरे और सचिन तीसरे नंबर पर

यूपीएससी ने 2017 की लिखित परीक्षा और 2018 में इंटरव्यू के नतीजों का एलान किया। हैदराबाद के अनुदीप दुरिशेट्टी ने टॉप किया।

नई दिल्ली.  यूपीएससी ने 2017 में सिविल सर्विसेज एग्जामिनेशन की लिखित परीक्षा और 2018 में इंटरव्यू के आधार पर शुक्रवार को नतीजों का एलान किया। इसमें, हैदराबाद के अनुदीप दुरिशेट्टी ने टॉप किया। उधर, अनु कुमारी ने दूसरा और सचिन गुप्ता ने तीसरा स्थान पाया।  मेरिट में आए 990 कैंडिडेट्स में से 476 उम्मीदवार सामान्य वर्ग के हैं। वहीं, 275 कैंडिडेट ओबीसी, 165 कैंडिडेट एससी और 74 कैंडिडेट एसटी से हैं। 

टॉपर अनुदीप गूगल में काम कर चुके हैं

इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियर अनुदीप ने एग्जाम में एंथ्रोपोलॉजी को ऑप्शनल सब्जेक्ट रखा था। वे ओबीसी श्रेणी से हैं। पिछले साल की टॉपर रही नंदनी केआर भी ओबीसी कैटेगरी से ही थीं। अनुदीप अभी आईआरएस में असिस्टेंट कमिश्नर के पद पर तैनात हैं। वह गूगल में भी जॉब कर चुके हैं। उन्होंने 2011 में बिट्स पिलानी से ग्रेजुएशन की थी। 2013 के एग्जाम में उनकी 790वीं रैंक आई थी।

 

II टॉपर अनु कुमारी: तैयारी के लिए नौकरी छोड़ी, डेढ़ साल बच्चे से भी दूर रही
अनु ने सोनीपत के शिवा शिक्षा सदन से 12वीं करने के बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी से फिजिक्स में बीएससी ऑनर्स किया। आईएमटी नागपुर से फाइनेंस और मार्केटिंग में एमबीए करने के बाद गुड़गांव में एक कंपनी में नौ साल नौकरी की। प्री-एग्जाम में एक अंक से चूकने के बाद नौकरी छोड़ दी। फिर डेढ़ साल के बच्चे को मां के पास छोड़ा और खुद मौसी के घर रहकर तैयारी की। ऑनलाइन कोचिंग ली। 

 

III टॉपर सचिन गुप्ता: पिछले एग्जाम में 575वीं रैंक आई तो 18 घंटे पढ़ने लगे

सचिन के मुताबिक, एक बार पहले भी उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा दी थी। उसमें 575वीं रैंक आया। लेकिन, आईएएस बनने की जिद दिमाग में सवार रही। इसके चलते वह लगातार 18 घंटे पढ़ाई करने लगे।

180 आईएएस बनेंगे और 42 आईआरएस

कामयाब रहे कुल 990 कैंडिडेट्स में से 180 आईएएस अफसर बनेंगे। भारतीय विदेश सेवा के लिए 42, भारतीय पुलिस सेवा के लिए 150, केंद्रीय सेवा ग्रुप (क) के लिए 565 और ग्रुप (ख) सेवाओं के लिए 121। कामयाब उम्मीदवारों में 476 जनरल, 275 ओबीसी, 165 एससी और 74 एसटी कैटेगरी के हैं। यूपीएससी मेन्स की परीक्षा 28 अक्टूबर, 2017 को हुई थी।

पिछले साल कर्नाटक की नंदिनी ने किया था टॉप 

- पिछले साल कर्नाटक की नंदिनी के आर ने टॉप किया था। उन्होंने इस एग्जाम में कर्नाटक लिटरेचर को ऑप्शनल सब्जेक्ट के तौर पर चुना था। अनमोल शेर सिंह बेदी दूसरे और और गोपालकृष्ण रोनांकी को तीसरा स्थान हासिल हुआ था। 
- साल 2016 की सिविल सेवा परीक्षा में 1099 उम्मीदवार सफल हुए थे। 220 कैंडिडेट्स का नाम वेटिंग लिस्ट में था। 
- बता दें कि सिविल सर्विसेस एग्जाम यूपीएससी द्वारा तीन चरणों प्रारंभिक, मैन और इंटरव्यू में संचालित करता है। इस एग्जाम के जरिए इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस (आईएएस), इंडियन फॉरेन सर्विस (आईएफएस) और इंडियन पुलिस सर्विस (आईपीएस) के चुने जाते हैं।

-  रिजल्ट यूपीएससी की वेबसाइट upsc.gov.in पर देखे जा सकते हैं। 

Next News

UPSC 2018: 22 अप्रैल को होगा NDA फर्स्ट राउंड, 41 शहरों में बनेंगे एग्जाम सेंटर

सेना में नौकरी करने के इछुक के लिये एनडीए एक बेहतरीन प्लेटफार्म साबित हो सकता है। राष्ट्रीय रक्षा अकादमी व नौसेना अकादमी एग्जाम 2018 में दो बार कंडक्ट

UPSC 2017 : कोटा के तीन मेधावी शामिल, एमएनआईटी पासआउट अनंत की 85वीं रैंक

यूपीएससी के जारी हुए रिजल्ट में कोटा के अनंत मैकेनिकल इंजीनियर के स्टूडेंट रहे है। 227वीं रैंक हासिल करने वाले अनुपम आईआईटी गुवाहटी से पासआउट हैं। वहीं

Array ( )