JEE Mains: Ans Key में है ऑब्जेक्शन तो अप्लाय करने की आज लास्ट डेट

जो भी स्टूडेंट्स आंसर-की से सहमत नहीं हैं तो वे इसे चुनौती दे सकते हैं। चुनौती देने की आखिरी तारीख 27 अप्रैल है। इसके लिए 1000 रूपए फीस तय की गई है।

एडमिशन डेस्क । सीबीएसई की ओर से आयोजित जेईई मेन्स की आंसर-की और रिकाॅर्डेड रिस्पोंस पर आपत्ति शुक्रवार तक की जा सकती है। इससे पहले सीबीएसई ने 24 अप्रैल को मेन्स की आंसर की साथ ही स्टूडेंट्स के रिकाॅर्डेड रिस्पोंस और ओएमआर शीट वेबसाइट पर जारी कर दी थी। स्टूडेंट्स को आपत्ति के लिए 4 दिन का समय दिया था। अब शुक्रवार आपत्ति दर्ज करवाने का अंतिम दिन रहेगा। हर आपत्ति पर स्टूडेंट्स को डेबिट-क्रेडिट कार्ड या फिर ई चालान के जरिए 1000 रुपए फीस जमा करनी होगी।

आॅब्जेक्शन सही होने पर फीस होगी रिफंड

सीबीएसई की ओर से आपत्ति सही मानी जाने पर ही रिवाइज्ड आंसर-की जारी की जाएगी। वहीं, आपत्ति सही पाए जाने पर स्टूडेंट्स को फीस रिफंड भी की जाएगी। पिछले साल एक सवाल पर सीबीएसई ने चार बोनस अंक सभी को दिए थे। 30 अप्रैल को जेईई मेन्स का कट ऑफ स्कोर और स्टूडेंट्स की ऑल इंडिया रैंक जारी कर दी जाएगी।

ऐसे दें चुनौती
- JEE Main 2018 रजिस्ट्रेशन नंबर और पासवर्ड का इस्तेमाल करके लॉग-इन करें।
- 'Challenge Answer Key' को और इसके लिए अप्लाय करें।
- चुनौती देने के साक्ष्य को अपलोड करें।
- चुनौती दिए जाने वाले हर सवाल के लिए 1000 रुपये फीस डेबिट कार्ड/क्रेडिट कार्ड, पेटीएम या एसबीआई द्वारा चुकाने होंगे।

एक्सपर्ट कमेटी लेगी फैसला
इन चुनौतियों पर एक एक्सपर्ट कमेटी फैसला लेगी। अगर किसी मामले में दी गई चुनौती सही पाई जाती है तो स्टूडेंट को इसके लिए किया गया भुगतान वापिस कर दिया जाएगा और जारी किए जाने वाले फाइनल ऑन्सर में इसको शामिल कर दिया जाएगा।

30 अप्रैल को आएगा रिजल्ट
JEE Main के ऑनलाइन मोड के पेपर-I का रिजल्ट 30 अप्रैल को आएगा। JEE Main में हासिल की गई ऑल इंडिया रैंक भी रिजल्ट के साथ ही घोषित की जाएगी। कैंडिडेट अपना रैंक कार्ड डाउनलोड भी कर सकेंगे। हालांकि पेपर-II का रिजल्ट 31 मई को घोषित किया जाएगा। CBSE इसके साथ ही JEE Advanced 2018 के लिए भी क्वालिफाइंग कटऑफ जारी करेगा। बता दें इस साल 2,24,000 कैंडिडेट्स प्रवेश परीक्षा में शामिल होंगे, जिससे IIT में एडमिशन की राह खुलती है। यह संख्या बीते साल की 2,20,000 स्टूडेंट से 4000 ज्यादा है।

Next News

IIT JEE : पटना हाईकोर्ट ने खारिज की याचिका, ऑनलाइन ही होगा एडवांस एग्जाम

कोर्ट ने IIT संयुक्त परीक्षा बोर्ड के सितम्बर 2017 के इस निर्णय में कोई दोष नहीं पाया, जिसके तहत इस साल से जेईई एडवांस परीक्षा सिर्फ ऑनलाइन होगी। पिछले

IIT में 14% ज्यादा होंगी लड़कियां जेईई एडवांस में बढ़ेंगी चार हजार सीटें

देशभर की सभी आईआईटीज़ में इस सत्र से लड़कियों के लिए कुल 779 सीट्स बढ़ाई जाएंगी। एमएचआरडी द्वारा जेंडर बैलेंस के लिए जारी किए गए निर्देशों के बाद 2018-19

Array ( )