पब्लिक रिलेशन में करिअर बनाना हैं तो 12वीं के बाद करें मास कम्युनिकेशन

पब्लिक रिलेशन कंसल्टेंट्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के मुताबिक देश की पब्लिक रिलेशन इंडस्ट्री 2020 तक करीब 2,100 करोड़ रुपए की हो जाएगी।

एजुकेशन डेस्क। विभिन्न संस्थानों को मार्केटिंग के लिए बेहतर छवि बनाने की जरूरत होती है। वहीं सेलेब्रिटी से लेकर नेताओं तक को अब अपने छवि बेहतर बनाए रखने के लिए एक टीम की आवश्यकता होती है। यहीं पब्लिक रिलेशन काम में आता है। पब्लिक रिलेशन कंसल्टेंट्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया के मुताबिक देश की पब्लिक रिलेशन इंडस्ट्री 2020 तक करीब 2,100 करोड़ रुपए की हो जाएगी। इसलिए इस सैक्टर में जॉब की डिमांड बढ़ेगी और अगर अाप भी पब्लिक रिलेशन में करिअर बनाना चहाते हैं तो 12वीं के बाद करें मास कम्युनिकेशन। 


इस वजह से होगा विकास 
- इस इंडस्ट्री में सबसे ज्यादा विकास डिजिटल और सोशल मीडिया कंटेंट की वजह से होगा, जिसकी कुल हिस्सेदारी लगभग 25 फीसदी होगी।
- इसके अलावा इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि पीआर प्रोफेशनल की मांग सालाना 5 से 10 फीसदी की दर से बढ़ेगी। ऐसे में यह छात्रों के लिए करिअर का अच्छा विकल्प हो सकता है। 


जानिए क्या है पब्लिक रिलेशन 
- किसी संस्थान या संस्था और लोगों के बीच बेहतर संवाद स्थापित करने के प्रबंधन को पब्लिक रिलेशन कहते हैं। पब्लिक में शेयर होल्डर, सरकार, ग्राहक कर्मचारी या मीडिया को शामिल किया जा सकता है।
- किसी भी संस्थान के लिए जरूरी होता है कि वे समय-समय पर अपने कर्मचारियों, मीडिया या जिसके लिए वे उत्तरदायी हैं, उनसे सीधा संवाद करें। यह काम पब्लिक रिलेशन ऑफिसर या पीआर प्रोफेशनल करते हैं।
- कई निजी और सरकारी कंपनियों व संस्थानों को लगा कि उन्हें अपने प्रोडक्ट, सर्विस या सुविधाओं को ज्यादा से ज्यादा लोंगों तक पहुंचाया जा सके, तब पीआर प्रोफेशनल की जरूरत महसूस की गई। 
- हालांकि अब पीआर प्रोफेशनल का उपयोग बेहतर छवि बनाने के लिए ज्यादा किया जाता है। पब्लिक रिलेशन आफिसर को संस्थान के अंदर व बाहर काम करना होता है।
- ये मैनेजमेंट एंप्लॉई की मीटिंग, संस्थान को पॉलिसी के बदलावों के बारे में जानकारी व अन्य गतिविधियों के बारे में जानकारी देने का काम करते हैं। 

 

इसमें कैसे मिलेगा प्रवेश 
- किसी भी स्ट्रीम से 12वीं की परीक्षा पास करने वाले छात्र पब्लिक रिलेशन से संबंधित कोर्स में एडमिशन लेने के योग्य होते हैं। 12वीं के बाद मास कम्युनिकेशन के बैचलर कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।
- हालांकि कुछ संस्थानों में प्रवेश के लिए 12वीं में कम से कम 50 फीसदी अंक आवश्यक होते हैं। बैचलर डिग्री कोर्स में प्रवेश के लिए विभिन्न संस्थानों द्वारा एंट्रेंस टेस्ट आयोजित किया जाता है। 
- स्पेशलाइजेशन के लिए बैचलर डिग्री के बाद पब्लिक रिलेशन के पोस्टग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लिया जा सकता है। किसी भी स्ट्रीम से बैचलर डिग्री करने वाले छात्र इसमें प्रवेश ले सकते हैं।
- विभिन्न संस्थानों में पब्लिक रिलेशन के डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स भी कराए जाते हैं। 

कहां होंगे जॉब के अवसर 
- पब्लिक रिलेशन प्रोफेशल के लिए एडवर्टाइजिंग एजेंसियों, मार्केटिंग कंपनियों, पीआर एजेंसियों में जॉब के अवसर होते हैं। इसके अलावा विभिन्न सरकारी संस्थाओं, संस्थानों और कंपनियों में जनसंपर्क अधिकारी की आवश्यकता होती है।
- इन प्रोफेशनल के लिए निजी के साथ-साथ सरकारी कंपनियों में भी जॉब की बेहतर संभावनाएं हैं। वहीं राजनीतिक पार्टियों, राजनेताओं और सेलेब्रिटी स्टार को अपनी छवि बेहतर करने के लिए पीआर प्रोफेशनल्स की आवश्यकता होती है। 

क्या होगा पैकेज 
- पब्लिक रिलेशन में करिअर  के शुरुआती एक या दो वर्षों में पैकेज 10 से 15 हजार रुपए प्रति माह हो सकता है। लेकिन दो वर्ष के अनुभव के बाद प्रोफेशनल को 20 से 25 हजार रुपए प्रति माह का पैकेज मिलने लगता है।
- सरकारी संस्थानों में फ्रेशर को भी अच्छा पैकेज मिलता है। वहीं कई कंपनियों में पीआर प्रोफ्रेशनल को 3 से 4 वर्ष के अनुभव के बाद 5 से 6 लाख रुपए सालाना पैकेज भी मिलता है। 


यहां से कर सकते हैं कोर्स 

1. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ कम्युनिकेशन, दिल्ली 
www.iimc.nic.in/ 

2. बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी, वाराणसी 
www.bhu.ac.in/ 

3. ज़ेवियर इंस्टीट्यूट ऑफ कम्युनिकेशन, मुंबई 
www.xaviercomm.org/ 

4. मुंबई यूनिवर्सिटी 
www.mu.ac.in/ 

Next News

फैशन, डिजाइनिंग, जर्नलिज्म में स्टूडेंट्स के लिए बी-वॉक कोर्स

दैनिक भास्कर और जेईसीआरसी के सहयोग से आयोजित एजुकेशन एंड करियर फेस्ट संपन्न 

पब्लिक रिलेशन्स में करियर बनाना चाहते है तो आप में होना चाहिए यह जरूरी स्किल्स

अब पीआर प्रोफेशनल्स के सामने परंपरागत मीडिया के साथ ही न्यू मीडिया से खुद को अपडेट रखने की चुनौती भी आ चुकी है।

Array ( )