परीक्षा के बाद छुट्टियों में सीखें सकते है ये 6 स्किल्स

ऐसे कई शोर्ट टर्म कोर्स हैं जो बच्चों के स्कूल के करीकुलम का भाग तो बिलकुल नहीं है लेकिन ऐसे कोर्स बच्चों के स्किल्स को और इम्प्रूव करने तथा करियर के मार्गदर्शन में काफी सहायक साबित होते हैं. तो आइये जानते हैं कुछ ऐसे ही शोर्ट टर्म कोर्स के बारे में जो आप

करियर डेस्क । यूपी बोर्ड, सीबीएसई बोर्ड  तथा अन्य बोर्ड्स के एग्जाम के बाद स्कूलों में गर्मी की छुट्टियाँ शुरू होने वाली हैं, जिसका छात्र बेसब्री से इंतज़ार कर रहे होते हैं। यह समय सबसे उत्तम समय है जीवन में कुछ नया सीखने तथा अपनी रुचियों को सही तरीके से पहचानने के लिए। दरअसल, ऐसे कई शोर्ट टर्म कोर्स हैं जो बच्चों के स्कूल के करीकुलम का भाग तो बिलकुल नहीं है लेकिन ऐसे कोर्स बच्चों के स्किल्स को और इम्प्रूव करने तथा करियर के मार्गदर्शन में काफी सहायक साबित होते हैं. तो आइये जानते हैं कुछ ऐसे ही शोर्ट टर्म कोर्स के बारे में जो आपकी गर्मी की छुट्टियों को और दिलचस्प बना सकती हैं :

कंप्यूटर  कोर्स:

आज के समय में IT से जुड़े स्किल्स आपके रोजगार की संभावनाएं बढ़ा सकती हैं तथा कई कम्पुटर संस्थानों द्वारा  IT से जुड़े ऐसे कई कोर्स हैं जिसका शिक्षण वर्ल्डवाइड उपलब्ध है. छात्र अपनी रूचि तथा मार्केट में उससे जुड़ी उपलब्धियों के अनुसार ऐसे कोर्स में दाखिला लेकर प्रशिक्षण ले सकते हैं जो आगे उनके करियर मार्ग से जुड़ी बेहतर संभावनाएं खोल सकता है.


IT से जुड़े कुछ पाठ्यक्रम यहाँ हमने नामांकित किये हैं :

  • क्रेश कोर्स इन हार्डवेयर एंड नेटवर्किंग
  • प्रोग्रामिंग लैंग्वेज
  • ग्राफ़िक डिजाइनिंग
  • सॉफ्टवेर टेस्टिंग
  • IT सिक्यूरिटी एंड एथिकल हैकिंग

पर्सनालिटी डेवलपमेंट क्लासेज :

पर्सनालिटी एक ऐसी चीज़ है जो आपको दूसरों से अलग होने का आभास करवाती है. जो आपकी डिग्री तथा दुसरे स्किल्स के साथ एक अहम भूमिका निभाती है. पर्सनालिटी डेवलपमेंट की क्लासेज छात्रों को पॉजिटिव और मोटिवेट रहने में काफी सहायक साबित होती है. किसी के सामने आपका पहला इम्प्रेशन ही आपके व्यक्तित्व को बताता है. पर्सनालिटी डेवलपमेंट कोर्स ना सिर्फ आपके व्यक्तित्व को निखरता है इसके साथ ही आपको सबके सामने काफी हद तक प्रजेंटेबल बनाता है. यदि छात्र अपनी छुट्टियों में पर्सनालिटी डेवलपमेंट की क्लासेज ज्वाइन करते हैं तो यह उनका कॉन्फिडेंस बढ़ाने और पॉजिटिव रहने में काफी मददगार साबित होगी और साथ ही साथ वह अपने पाठ्यक्रम से हटकर सीख सकते है।

प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी :

कई ऐसे संसथान हैं जो नेशनल लेवल पर बच्चों को प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करवाते हैं. छात्र कक्षा 8वीं से ही प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिए इस तरह के संस्थानों में दाखिला ले सकते हैं. गर्मी की छुट्टी का समय एक ऐसा समय होता है जब आप अपने स्कूल के सभी करिकुलम से फ्री होते हैं. इस समय आप अच्छी तरह से अपने प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी को ज्यादा से ज्यादा समय दे सकते हैं. उदाहरण के तौर पर यदि किसी छात्र को अभी से इंजीनियरिंग या मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी के लिए कोई फाउंडेशन कोर्स ज्वाइन करना हो या किसी प्रतिष्ठित संस्थान में कक्षा 10वीं या 12वीं में दाखिला लेना है तो वह इस समय का आगे बढ़ने के लिए बेहतर तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं.

स्पोकन इंग्लिश ट्रेनिंग :

स्पोकन इंग्लिश की ट्रेनिंग के लिए  ऐसे कई संस्थान हैं जो शोर्ट टर्म कोर्स करवाते हैं. जहाँ आप बड़ी आसानी से इस वर्ल्डवाइड लैंग्वेज पर अपनी पकड़ बना सकते हैं. आज के समय में अंग्रेजीं भाषा पर आपकी मजबूत पकड़ बहुत ही आवश्यक बनती जा रही है तथा यह भी आपके कॉन्फिडेंस को बढ़ाने में काफी सहायक साबित होती है. आप अपने करियर में भी यदि आगे जॉब इंटरव्यू के लिए जाते हैं तो आपको अंग्रेजीं भाषा में अपना इंटरव्यू देना पड़ सकता है. आप अपने स्पोकन क्लासेज के साथ-साथ इस बीच अपने दोस्तों व अभिभावक के साथ बात कर जल्दी ही अंग्रेजी भाषा पर बहुत अच्छी पकड़ बना सकते हैं.

विदेशी भाषा पाठ्यक्रम  :

आज के समय में यदि आपको एक एडिशनल लैंग्वेज पर अच्छी पकड़ हो तो वह आपके करियर के दृष्टिकोण से काफी लाभप्रद है. ऐसे कई विदेशी संसथान है जो कैंडिडेट्स को काफी अच्छा वेतन केवल इस कारण ही देते हैं क्यूंकि उनको उनकी एक एडिशनल लैंग्वेज पर अच्छी पकड़ है. तो आप भी अपनी रूचि के अनुसार अपनी गर्मी की छुट्टियों में ऐसी कई विदेशी भाषा हैं जिनका बेसिक सीखना शुरू कर सकते हैं, जैसे की-जर्मन, फ्रेंच, स्पैनिश, चीनी, रूसी आदि।

खेल और रोमांच में भाग लें :

हर एक छात्र को खेल तथा रोमांच की तरफ एक ख़ास रुझान होता है लेकिन स्कूल के कारण आप इसमें ज्यादा समय नहीं बिता पाते हैं. अपनी छुट्टियों के समय आप किसी भी अच्छे संसथान में अपने पसंदीदा खेल की अच्छी तरह प्रैक्टिस कर सकते हैं जिससे आपको खेल से जुड़ी जानकारी हो जाएँ और आप  उसमें और बेहतर प्रदर्शन कर पाएं. इससे आपको आपके करियर चुनाव में भी सहायता मिल सकती है. इसके अलावा यदि आप को एडवेंचर का ख़ास  शौक है तो इन छुट्टियों में आप इससे जुड़े चीजों में भी भाग ले सकते हैं. लेकिन सबसे ज़रूरी और आवश्यक बात यह है कि इसमें आपको बहुत सावधानी के साथ भाग लेने की आवश्यकता पड़ेगी.

Next News

आंध्र प्रदेश बोर्ड : 12वीं का रिजल्ट जारी, ऐसे चेक करें

आंध्र प्रदेश बाेर्ड ने कक्षा 12 द्वितीय वर्ष का परिणाम घोषित कर दिया है। इंटरमीडिएट एजुकेशन ऑफ इंटरनेशनल बोर्ड (बीईईएपी) एपी बोर्ड कक्षा 12 के परिणाम

एक क्रिएटिव करिअर का मौका देती है फैशन डिजाइनिंग

भारतीय टेक्स्टाइल उद्योग रोजगार उपलब्ध कराने के मामले में दूसरा सबसे बड़ा क्षेत्र है और यह दोगुनी रफ्तार से वृद्धि कर रहा है। यही नहीं मौजूदा समय में यह

Array ( )