तेलंगाना: 10 मई से शुरु होगी 'DOST'सुविधा, जानें क्या है खास

DOST सुविधा आने के बाद कॉलेज सीटों की ब्लैक मार्केटिंग को रोका जा सकेगा

एजुकेशन डेस्क, हेदराबाद। तेलंगाना स्टेट काउंसिल ऑफ हायर एजुकेशन के चेयरमैन पप्पी रड्डी ने बुधवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि 10 मई से दोस्त (डिग्री ऑनलाइन सर्विस तेलंगाना ) की सुविधा शुरू हो जाएगी। इस सर्विस से स्टूडेंट्स सीट्स ब्लॉक नहीं कर पाएंगे। इस सर्विस में  सभी स्टूडेंट्स का बायोमेट्रिक टेक्नीक से रजिस्ट्रेशन होगा जिससे एक स्टूडेंट्स किसी भी कोर्स के लिए एक बार ही अप्लाय कर सकेगा। इस तरह से सीट्स को ब्लॉक करने से रोका जा सकेगा।

कब होगें रजिस्ट्रेशन 

- फर्स्ट फेस: 10 मई से 26 मई तक (लेट फीस के साथ 27-29 मई)
- सेकेंड फेस:  5 से 14 जून 
- थर्ड फेस:  20 से 27 जून(सप्लीमेंट्री से पास स्टूडेंट्स के लिए)

सीट अलॉटमेंट

- फर्स्ट लिस्ट: 4 जून
- सेकेंड लिस्ट: 19 जून
- थर्ड लिस्ट: 30 जून

क्या होगा फायदा

- स्टूडेंट्स डिग्री और इंजीनियरिंग सीट्स को एक साथ ब्लॉक नहीं कर सकेंगे।
- इसके द्वारा पॉलिटेक्निक कोर्सेस में भी एडमिशन होगा।
- बायोमेट्रिक सिस्टम से सर्टिफिकेट वेरिफिकेशन होगा।
- इससे सीट अलॉटमेंट सिस्टम में ट्रांसपेरेंसी आएगी जिससे सीट ब्लैक नहीं हो सकेंगी।
- स्टूडेंट्स से अधिक फीस नहीं वसूली जा सकेंगी। 

कितनी है सीट्स

- कुल सीट्स: 4 लाख
- गवर्नमेंट डिग्री कॉलेजो में सीट्स: 77 हजार
- प्रायवेट कॉलेजो में सीट्स: 3.23 लाख
- 9000 सीट्स पर कोर्ट में केस

खत्म होगी सीटों की ब्लैक मार्केटिंग 

पिछले साल के एडमिशन प्रक्रिया को भी बायोमेट्रिक सिस्टम से लिंक कर दिया गया है। इस सुविधा में उनके आधार कार्ड की डिटेल मांगी गई है जिससे एक बार सीट कंफर्म हो जाने पर वह किसी और कॉलेज की सीट ब्लॉक नहीं कर पाएगा जिससे एलिजिबल स्टूडेंट्स को एडमिशन लेने में कोई परेशानी नहीं होगी।

9 हजार सीटों पर चल रहा कोर्ट में केस

बता दें कि कई कॉलेज "दोस्त" सर्विस का विरोध कर रहें हैं क्योंकि इससे वह कॉलेंजो की सीटों को डोनेशन बेस पर या ज्यादा पैसे लेकर नहीं भर पाएंगे। इसे लेकर 19 प्रायवेट कॉलेज कुल 9 हजार सीटों को लेकर कोर्ट में पिटीशन दायर कर चुके हैं जिन पर अभी फैसला आना बाकी है।
 

Next News

इन कॉन्टेस्ट में जीत सकते हैं 5 हजार डॉलर तक का कैश प्राइज़, ऐसे करें अप्लाय

कोडिंग कॉन्टेसेट में जीतकर आपको टीसीएस में काम करना का मौका भी मिल सकता हैं

RTE: एडमिशन प्रोसेस पेचीदा, स्टूडेंट्स-पैरेंट्स हो रहे परेशान

4 साल में 142 स्कूल बढ़े, छात्रों की संख्या घटी, नियम और ऑनलाइन फॉर्म के चलते 1563 घट गए एडमिशन

Array ( )