सफलता इंतजार करवाती है, धैर्य रखना जरूरी : राहुल द्रविड़

संघर्ष करना जरूरी है और सफलता व असफलता दोनों ही इसके हिस्से हैं। आपको दोनों का सामना करना पड़ेगा। 

FirstPerson।  भारतीय राष्ट्रीय टीम के सबसे अनुभवी क्रिकेटरों में से एक राहुल द्रविड़ को क्रिकेट की दुनिया में द वॉल और जैमी के नाम से भी जाना जाता है। द्रविड़ ने अपने जीवन के 16 साल क्रिकेट को दिए हैं। उन्होंने 1996 में क्रिकेट खेलना स्टार्ट किया था और 2012 में इंग्लेंड के खिलाफ अपने जीवन का आखिरी इंटरनेशनल मैच खेला था। क्रिकेट की दुनिया में 'दीवार' के नाम से जाने जाने वाले राहुल द्रविड़ बता रहे हैं कि कैसे कामयाबी के लिए इंतजार करना जरूरी होता है और उसके लिए जल्दबाजी के बजाय धैर्य रखना जरूरी है। 

सफल होने के लिए जिज्ञासु होना जरूरी

-  द्रविड़ मानते हैं कि संघर्ष करना जरूरी है और सफलता व असफलता दोनों ही इसके हिस्से हैं। आपको दोनों का सामना करना पड़ेगा। 
-  सफल होने के लिए आपको निरंतर जिज्ञासु होना होगा। ये जिज्ञासा ही है जो आपको अपनी रुचि को पहचानने में मदद करेगी। जब आप यह जान जाएंगे कि आपकी दिलचस्पी किस में है तो आपको उस काम से प्यार हो जाएगा और आप उसे पूरी शिद्दत से कर पाएंगे।
-  दूसरी ओर मुश्किल समय से मैंने सीखा है कि प्रेरणा आपके बहुत काम आती है। अक्सर लोग इसे किताबी ज्ञान मानते हैं, लेकिन मेरा अनुभव है कि प्रेरित करने वाली कोई भी बात आपको मुश्किल समय में मजबूत बनाने का काम करती है।
-  द्रविड़ ने बताया कि खेल को करियर बनाने के दौरान उनके भी मेरे माता-पिता के दिमाग में भी वही डर थे जो एक सामान्य युवा और उसके माता-पिता के जेहन में होते हैं, लेकिन आपको इस डर को मैनेज करना होगा। इसके साथ अपने संघर्ष को भी अंजाम तक पहुंचाना होगा। 
-  द्रविड़ कहते हैं कि उनके दिमाग में भी वही डर थे, जो एक आम युवा के मन में होते हैं, लेकिन हम सभी को अपने डर का सामना करना आना चाहिए। 

सफलता बरकरार रखने के लिए मजबूत आधार होना चाहिए

- युवा पीढ़ी के साथ एक समस्या है कि उसमें धैर्य की कमी है। वह सब कुछ जल्दी से हासिल कर लेना चाहती है, लेकिन आपको समझना होगा कि कामयाबी इंतजार करवाती है। 

- द्रविड़ ने इस बात को एक चाइनीज बैंबू के माध्यम से समझाया। उन्होंने कहा कि एक चाइनीज बैंबू के बीज को अपने बगीचे में लगाइए और उसे सींचिए आप पाएंगे कि पहले एक साल में कोई अंकुर नहीं फूटा। फिर देखेंगे कि अगले पांच साल तक भी कोई अंकुर नहीं पनपा, लेकिन फिर एक दिन एक छोटा तिनका जमीन के बाहर नजर आएगा, जो आश्चर्यजनक रूप से बढ़ रहा है और सिर्फ 6 हफ्तों में 90 फीट का हो गया है। इस पौधे ने क्या किया, 5 साल तक अपनी जड़ें जमाई ताकि वह अपनी 90 फीट की ऊंचाई को लंबे समय तक संभाल सके। कामयाब होना आसान है, लेकिन उसे लंबे समय तक बनाए रखने के लिए एक मजबूत आधार की जरूरत होती है।
- इसमें समय लगता है। परिणाम एकदम आखिरी प्रक्रिया है, उसके पहले की तैयारी महत्वपूर्ण है। लोग कहेंगे कि यह चाइनीज बैंबू 6 महीने में 90 फीट का हो गया, लेकिन वे कहते है कि इसे यहां तक पहुंचने में 5 साल 6 महीने लगे। 

ज्यादा से ज्यादा सहयोगी बनाइए 

- हर सफल व्यक्ति के पीछे ढेरों लोगों का सहयोग होता है। यह सपोर्ट ही है, जो आपको असफलता के बाद फिर से खड़ा होने की उम्मीद देता है। 
- उन्होंने बताया कि उनके साथ भी यह कई बार हुआ जब मुझे परिवार के साथ-साथ ऐसे लोगों का भी सहयोग मिला, जिनसे मुझे कोई उम्मीद नहीं थी इसलिए ज्यादा से ज्यादा सहयोगी बनाइए।
- वे आपको बेहतर बनाने के लिए अपनी अमूल्य राय देंगे, जो आपको सफलता के करीब ले जाएगी। याद रखें, सफलता लक्ष्य नहीं एक यात्रा है, जिसमें आपको कई बार निराश होना पड़ेगा, लेकिन यह इसका जरूरी हिस्सा है। 
- आपकी दृढ़ता भी आपको इस तक पहुंचने में मदद करेगी। कामयाबी के फल के लिए दृढ़ता का बीज रोपना जरूरी है। इतना ही नहीं जब वह आपको मिल जाए तो उसकी इज्जत भी करें।

Next News

असफलता ही कामयाबी के लिए तैयार करती है: राकेश ओमप्रकाश मेहरा

आप चाहे जो कुछ भी कर रहे हों लेकिन सिर्फ सामान्य तरीके से उसे अंजाम दे रहे हैं तो उसका आउटपुट भी सामान्य ही होगा।

Array ( )