सीबीएसई स्कूलों के स्टूडेंट्स 5 सब्जेक्ट्स के साथ पढ़ेंगे एक वोकेशनल सब्जेक्ट

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन, स्टूडेंट्स को पढ़ाई और जीवन की रियल सिचुएशन के बीच सामंजस्य करवाने वाली स्किल्स का पाठ पढ़ाएगा।

एजूकेशन डेस्क। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजूकेशन, स्टूडेंट्स को पढ़ाई और लाइफ की रियल सिचुएशन के बीच तालमेल बैठाने वाली स्किल्स का पाठ पढ़ाएगा। यह स्किल्स को समझाने के लिए सीबीएसई वोकेशनल कोर्स का सहारा लेगा। इसके लिए स्टूडेंट्स को रियल सिचुएशन को समझने के लिए टास्क दिए जाएंगे। साथ ही स्टूडेंट्स को इन सिचुएशन की पहचान और उनके सॉल्यूशन के बारे में रिपोर्ट भी सबमिट करनी होगी। नए शैक्षणिक सत्र से सीबीएसई स्कूलों में सेकंडरी लेवल पर 15 एवं सीनियर सेकंडरी लेवल पर कुल 40 वोकेशनल कोर्स स्टूडेंट्स को ऑफर किए जाएंगे।

30 जून से पहले करें ऑनलाइन अप्लाय

सीबीएसई के इन वोकेशनल कोर्स को जो भी स्कूल नए शिक्षण सत्र से शुरू करना चाहते हैं, उन्हें सीबीएसई के पोर्टल पर 30 जून तक ऑनलाइन अप्लाय करना होगा।

10वीं-12वीं के लिए अलग-अलग कोर्स

सेकंडरी लेवल पर स्टूडेंट्स को पांच एकेडमिक सब्जेक्ट के साथ एक वोकेशनल सब्जेक्ट एडिशनल पढ़ना पड़ेगा। यदि स्टूडेंट साइंस, मैथ्स एवं सोशल साइंस इन तीन इलेक्टिव सब्जेक्ट में से किसी एक सब्जेक्ट में फेल होता है, तो वह अपने वोकेशनल सब्जेक्ट से उस सब्जेक्ट को रिप्लेस कर सकता है। क्लास 10 का रिजल्ट इन पांच सब्जेक्ट में कम्प्यूटेड बेस्ड होगा। यदि कोई स्टूडेंट्स इस फेल सब्जेक्ट में दोबारा से अपीयर होना चाहता है, तो उसे इस सब्जेक्ट के साथ कंपार्टमेंट एग्जाम भी देना होगा।

Next News

CBSE Paper Leak: 12'th के स्टूडेंट्स को दोबारा नहीं देना होगा इकोनॉमिक्स का एग्जाम

शिक्षा सचिव के अनुसार पहले परीक्षा दे चुके 12th के एनआरआई (Non-Resident Indians) स्टूडेंट्स का एग्जाम फिर से नहीं लिया जाएगा।

CBSE के पुराने एडमिट कार्ड पर ही दें सकेंगे 12th इकोनॉमिक्स का पेपर

पहले खबर आई थी कि री-एग्जाम के लिए नए एडमिट कार्ड जारी होंगे। लेकिन बाद में पहले से अलॉट किए गए एडमिट कार्ड पर ही री-एग्जाम लिया जाएगा।

Array ( )