MPPSC mains : हिंदी, इथिक्स और निबंध का पेपर है स्कोरिंग

एग्जाम जुलाई में होने वाला है और अब ज्यादा टाइम नहीं बचा है। ऐसे में एक्सपर्ट का कहना है कि कुछ सेक्शन्स पर ही ज्यादा फोकस करना चाहिए।

करियर डेस्क । स्टूडेंट्स अब स्मार्ट तरीके से मप्र लोक सेवा आयोग की मुख्य परीक्षा को क्रेक कर सकते हैं। यह परीक्षा संभवत: जुलाई में होगी। इसके लिए स्टूडेंट्स के पास अब सिर्फ दो महीने का समय शेष बचा हुआ है। इससे पहले स्टूडेंट्स को मेन्स की तैयारी के लिए पांच महीने का समय मिलता ही था, लेकिन अब समय कम होने की वजह से उन्हें स्मार्ट स्टडी की स्ट्रेटजी अपनानी होगी। तभी वे इस एक्जाम की प्रिपरेशन इन दो महीनों में कर पाएंगे। जादौन कोचिंग के संचालक आनंद जादौन ने बताया कि दो महीनों में इथिक्स, हिंदी एवं एसे राइटिंग की तैयारी अच्छे से करनी चाहिए, क्योंकि ये तीनों ही पेपर स्कोरिंग हैं। स्टूडेंट्स 2015-16 के प्रीवियस पेपर लगा सकते हैं। 

इन प्वॉइंट्स पर करें फोकस

  • पीएसससी एक्सपर्ट मनोज शर्मा ने बताया किशुरुआती चार पेपर्स की आखिरी यूनिट्स जरूरपढ़ें। इनसे एक्जाम में कर सकते हैं स्कोर। इनसे बढ़े और छोटे सभी सवाल आ जाते हैं।
  • आंसर राइटिंग की प्रैक्टिस करें। जून के पहले सप्ताह से रोजाना तीन घंटे आंसर लिखना शुरू करें। इसके लिए टेस्ट सीरिज सॉल्व करें।
  • एसे राइटिंग के लिए पहले से कोट्स तैयार रखें। जो सोशल इश्यूज और महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर होना चाहिए। इन सेक्शन से ही एसे के टॉपिक पूछे जाते हैं।
  • साइंस एंड टैक में टेक्नोलॉजी पर ज्यादाफोकस करें। इनमें करेंट इश्यूज पर आंसर राइटिंग की प्रैक्टिस करें।
  • पॉलिटी में एक्ट वाले पार्ट पर स्टडी करें और इकोनॉमिक्स में भी करेंट को ज्यादा पढ़ें।


मेन टॉपिक्स के बनाएं शॉर्ट नोट्स 
समीक्षा इंस्टीट्यूट के एक्सपर्ट नरेंद्र सिहं भदौरिया ने बताया कि इन दो महीनों में एमपीपीएससी का सिलेबस पूरा करना असंभव है। इसलिए स्टूडेंट्स को पहले तीन पेपर जो सबसे टफ हैं। उनके प्रीवियस पेपर देखने होंगे, कि किस टॉपिक से सबसे ज्यादा सवाल पूछे गए हैं। उन टॉपिक के शॉर्ट नोट बनाकर ही उन्हें पहले से ब्रांडेड क्वेश्चन तैयार करने होंगे। इन टॉपिक को ही बार-बार रिवाइज करना होगा। क्योंकि मेंस में फैक्ट कम और कॉन्सेप्चुअल क्वेश्चन ज्यादा पूछे जाते हैं। इसलिए इन क्वेश्चन के कंसेप्ट क्लियर होने चाहिए। 
 

Next News

इन बातों काे ध्यान में रखकर स्टार्टअप को बनाएं सफल

उत्पाद की सफलता के लिए यह महत्वपूर्ण है कि उसे सही रणनीति के साथ बाजार में उतारा जाए। इसके लिए जरूरी है कि आप प्रॉडक्ट का टार्गेट, जरूरतें, फीचर्स और

ग्रेजुएशन के बाद ग्राफिक डिजाइनिंग में बनाएं करियर- जितिन चावला

आप क्रिएटिव हैं और क्रिएटिविटी की दुनिया में कुछ नया करने की चाहत है, तो ग्राफिक डिजाइनिंग का कॅरिअर आपके लिए बेहतरीन साबित होगा।

Array ( )