10th के बाद रिजल्ट आने से पहले ही फेवरिट स्ट्रीम में होगा एडमिशन

इस प्रोसेस से स्टूडेंट्स को यह फायदा भी होगा कि अगर वे किसी स्ट्रीम को नहीं समझ पाते तो रिजल्ट आने के बाद उसे चेंज कर सकेंगे।

एजुकेशन डेस्क। मध्यप्रदेश में हर ब्लॉक के सभी हायर सेकंडरी स्कूलों में इस बार 10th एग्जाम देने के बाद रिजल्ट का इंतजार कर रहे स्टूडेंट्स को एडमिशन दिया जा रहा है। स्टूडेंट्स को प्रोविजनल एडमिशन देने की यह प्रोसेस शुरू भी हो गई है। ऐसा पहली बार हो रहा है। जब 10th बोर्ड एग्जाम में पास होने से पहले स्टूडेंट्स अपने पसंदीदा सबजेक्ट के साथ 11th में बैठ सकेंगे। 

रिजल्ट नेगेटिव हुआ तो होगा यह

रिजल्ट आने पर यदि स्टूडेंट फेल होता है तो उसे पिछली क्लास में रिवर्स कर दिया जाएगा। गवर्नमेंट ने 10th के सभी स्टूडेंट्स को प्रोविजनल एडमिशन देने का फैसला लिया है। फरवरी में हुए प्री-बोर्ड एग्जाम के बेस पर यह फैसला लिया है। इसके तहत स्टूडेंट्स को 11th में एडमिशन दिया जा रहा है। गौरतलब है कि अप्रैल में ही एडमिशन प्रोसेस पूरे होने के निर्देश दिए हैं।

अप्रैल में शुरू किया सेशन

एजुकेशन सिस्टम में सुधार के लिए इस बार गवर्नमेंट ने प्राइवेट स्कूल की तर्ज पर अप्रैल के फर्स्ट वीक से स्कूल खोलने का डिसीजन लिया है। इसके पीछे सरकार की सोच है कि जून व जुलाई में एडमिशन के कारण स्टडी पर असर न हो। अब तक सरकार हर साल 16 जून से नया एजुकेशनल सेशन शुरू करती थी। 

समर वेकेशन 1 मई से

इस बार समर वेकेशन भी 1 मई से शुरू होगा। जो कि हर बार की तरह 15 जून तक चलेगा। समर वेकेशन के बाद 16 जून से स्कूलों में फिर से पढ़ाई शुरू हो जाएगी। हायर सेकंडरी स्कूलों में नए निर्देशों के मुताबिक स्टूडेंट्स को पसंदीदा स्ट्रीम में एडमिशन देने की प्रोसेस शुरू हो गई है। 

Next News

10th या 12th के बाद तुरंत करें ये कोर्स, कॅरियर को नई ऊंचाईयां देने में मिलेगी मदद

वोकेशनल कोर्स करने के बाद बेहतर जॉब अपॉर्च्युनिटी हासिल कर सकते हैं। इसके लिए लोकल और नेशनल लेवल इंस्टीट्यूट्स डिस्टेंस लर्निंग कोर्स भी रन करते हैं।

5 डिप्लोमा कोर्सेस, जो 10वीं पास स्टूडेंट्स को देते हैं जॉब गारंटी

इन कोर्सेस न सिर्फ स्किल्स को इंप्रूव करने का मौका मिलता हैं बल्कि उन्हें जॉब मिलने की गारंटी भी बढ़ जाती है।

Array ( )