IIT JEE Advanced : इन बातों का ध्यान रखेंगे तो एग्जाम में मिलेगी सफलता

मेहनत के बाद JEE Advanced तक पहुचने वाले स्टूडेंट्स कई बार छोटी गलतियां कर बैठते हैं जिसका उन्हे बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ता है।

ऐजूकेशन डेस्क । मेहनत के बाद JEE Advanced तक पहुचने वाले स्टूडेंट्स कई बार छोटी गलतियां कर बैठते हैं जिसका उन्हे बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ता है।  JEE Advanced हर बार की तरह इस बार भी टफ होने वाला है।  JEE Mains निकलने के बाद ” JEE Advanced की तैयारी कैसे करे”  इसे लेकर स्टूडेंट्स परेशान रहते हैं। इसीलिए आज हम कुछ ऐसे टिप्स लेकर आए हैं जो आप के लिए काफी मददगार साबित हो सकतीं हैं।

लास्ट मिनट प्रिपरेशन से बचे
एक चीज जो किसी टॉपर को भीड़ से अलग करती हैं तो वो है ” Last Minute Preparation Strategies” । हम थोडा और थोडा और जैसे मेंटालिटी में फँस कर रह जाते हैं। हमें यह लगता हैं कि थोडा और पढ़ लेने पर मार्क्स थोड़े और ज्यादा आ जाएंगे। जबकि ज्यादातर टॉपर्स का मानना है कि लास्ट मिनट प्रिपरेशन से आप के स्कोर पर कोई खास फर्क नहीं पड़ता। यदि साल भर आपने पढाई की हैं तो लास्ट मिनट में घबराहट कैसी..?। निश्चिंत रहे और टेंशन फगी होकर पेपर दें।

मनोवैज्ञानिको का मानना है कि “Last Minute Preparation” से स्ट्रेस लेवल बढ़ता है। इसके अलावा इससे पिछले Summary को Override कर यह आपके कांसेप्ट को काफी हद तक धूमिल भी कर सकता हैं। जो आप को परेशानी में डाल सकता है। हाँ, अपने पुराने नोट्स या कांसेप्ट को थोडा बहुत देखते रहे। 

Time Management जरूरी
तैयारी तो सबने की होती हैं  मगर निर्धारित समय में ज्यादा से ज्यादा क्वेश्चन बनाने वालों को ही सफलता मिल पाती है।  JEE ADVANCED के सिलेबस को यदि ध्यान से देखा जाए तो हर क्वेश्चन के लिए लगभग 2 मिनट का समय मिल पाता हैं। एक बात गाँठ बाँध ले किसी भी क्वेश्चन में जरुरत से ज्यादा समय न दे।ज्यादातर मामलों में देखा जाता हैं कि कोई क्वेश्चन नहीं बनने पर बच्चे उसपर कुछ ज्यादा ही फोकस करने लगते हैं ऐसे में यदि वो क्वेश्चन बन भी जाये तो दुसरे क्वेश्चन्स के लिए ज्यादा समय नहीं रह पाता। ऐसे में आपके जीत का बस एक ही फलसफा हैं एक उम्दा Time Management Startegy” ।

Online Mock Test Series का लें सहारा
सब कुछ अपने अनुकूल बनाये रखने के लिए आप एग्जाम से पहले ढेरों प्रैक्टिस सेट्स दे सकते हैं या फिर एग्जाम टाइमिंग एवं टाइम मैनेजमेंट को दुरुस्त करने के लिए ऑनलाइन टेस्ट का भी  हिस्सा बन सकते हैं। Online Mock Test Series न सिर्फ आपको एग्जाम में पूछे जाने वाले क्वेश्चन्स का आईडिया देगी बल्कि आपके टाइम मैनेजमेंट को सुधार आपके स्कोर को भी बहुत फायदा पहुचायेगी।

मजबूत पहलु से करें शरूआत

एग्जाम में क्वेश्चन पेपर मिलने के बाद पहले एक नजर सारे क्वेश्चन्स में डाले। अपने तैयारी के आधार पर प्रश्नों को तीन केटेगरी में बांटें।

  1. जो  सवाल आपको काफी अच्छे से आते हैं।
  2. वो जो बन तो जाएंगे लेकिन थोडा वक़्त लगेगा । 
  3. लास्ट में उन सवालों को सॉल्व करें जिनके बारे में आपको कोई आईडिया नहीं।

पेपर की शुरुआत उन सवालों से करें जिन्हे आप आसानी से सॉल्व कर सकते हैं। इससे न केवल आपका Confidence Boost up होगा बल्कि आपको दूसरे सवालों के लिए एक्ट्रा टाइम भी मिल जाएगा। 

Next News

IIT-JEE 2018: अब नहीं होगा रैंक में कन्फयूजन, पॉजिटिव आन्सर बनेंगे टाई ब्रेकर

जेईई एडवांस में मार्क्स टाई होने पर रैंक निर्धारण का नया नियम लागू किया गया है। इसके तहत स्टूडेंट्स के गलत आन्सर उसकी रैंक को प्रभावित कर सकते हैं।

IITJEE के मिरेकल मैन, जिनसे पढ़ना सफलता की गारंटी, बनाया नेशनल रिकॉर्ड

IIT के एक टीचर ने एक Positive गुरुकुल की स्थापना की है। यहां पर एक ही घर में बच्चे एक साथ रहकर पढ़ते हैं। भोपाल में पहले बैच से ही इन्होंने IIT जोन टॉपर

Array ( )