RJIT ने जीते एशिया सोलर चैलेंज कॉम्पटीशन में 4 अवार्ड, बना ओवरऑल रनरअप

रुस्तमजी प्रौद्योगिकी संस्थान के 25 स्टूडेंट्स ने सोलर व्हीकल को एशिया सोलर चैलेंज कॉम्पटीशन में भागीदारी की। 

हम लोग चार महीने पहले से सतना में होने वाली इंडो एशिया सोलर चैलेंज-2018 की तैयारी में थे। इसके लिए हमने पहले व्हीकल बनाया और बाद में उसकी टेस्टिंग शुरू कर दी। इसलिए न केवल इस प्रकार के कॉम्पटीशन की पुरानी वीडियो को देखे, बल्कि टेस्टिंग के दौरान व्हीकल में भी कई बार बदलाव किए। इसी के परिणाम स्वरूप हमारी टीम इस कॉम्पटीशन में ओवरऑल रनरअप का खिताब पाने में कामयाब रही।

ग्वालियर। कुछ इसी प्रकार के अनुभव आरजेआईटी की विजेता टीम ने सिटी रिपोर्टर से साझा किए। टीम ने सतना में हुई इंडो एशिया सोलर चैलेंज-2018 में ग्वालियर का नाम रोशन किया। संस्थान की असिस्टेंट प्रोफेसर नमिता सक्सेना ने बताया कि इसके पीछे टीम की कड़ी मेहनत और उनका जुनून शामिल रहा। टीम के कैप्टन महेंद्र प्रताप ने बताया कि इस व्हीकल के करीब 15 स्कैच बनाने के बाद जब डिजाइन नहीं समझ आई तो टीम के हर मेंबर को स्कैच बनाने का टास्क दिया गया। इस कॉम्पटीशन के लिए पहले वर्चुअल राउंड पार किया। फिर फिनाले में भी अपनी जगह बनाई।

जीते 62 हजार के प्राइज

इस व्हीकल को बनाने वाली 25 स्टूडेंट्स की टीम ने सतना में कुल 62 हजार के अवार्ड जीते हैं। जो कि स्टूडेंट्स को चार कैटेगरी में दिए गए हैं। रुस्तमजी प्रौद्योगिकी संस्थान के 25 स्टूडेंट्स ने सोलर व्हीकल के एशिया सोलर चैलेंज कॉम्पटीशन में भागीदारी की। 

इन चार कैटेगरी में मिले अवार्ड 

  • ओवर ऑल रनरअप- 45 हजार रुपए 
  • बेस्ट सोलर परफॉर्मर- 07 हजार रुपए 
  • लाइटेस्ट व्हीकल- 05 हजार 
  • बेस्ट ऑटो क्रॉस विनर- 05 हजार
     
Next News

UG: इंजीनियरिंग की कम, साइंस की बढ़ी मांग

एचआरडी के हालिया डेटा के मुताबिक, साल 2016-17 में 97.3 लाख छात्रों ने बीए में दाखिला लिया जबकि 47.3 लाख बीएससी में और 41.6 लाख ने इंजीनियरिंग में।

RGPV में लीडरशिप वर्कशॉप में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने लॉन्च की स्टार्टअप पॉलिसी 

आरजीपीवी 100 स्टूडेंट्स को स्टार्टअप फंडिंग देगा, साथ ही आरजीपीवी स्टूडेंट्स को स्टार्टअप शुरू करने और इसका पेटेंट लेने में भी मदद करेगा। 

Array ( )