स्टूडेन्ट्स के लिए रतन टाटा के बेस्ट इंस्पायरिंग कोट्स जो बदल देंगे सोच

मैं भारत के भविष्य की सम्भावनाओं के लेकर हमेशा बहुत कॉंफिडेंट और उत्साही रहा हूँ। मुझे लगता है ये एक महान क्षमता वाला महान देश है। - रतन टाटा

जेआरडी टाटा के उत्तराधिकारी और टाटा ग्रुप को सिरमौर बनाने वाले रतन टाटा  और उनके जीवन-कर्म को केवल इस एक वाक्य को समझा जा सकता है, उन्होंने कहा है - जिंदगी में आगे बढ़ते रहने के  लिए उतार-चढ़ाव बहुत जरूरी है, क्योंकि दिल के ईसीजी (ECG) टेस्ट में भी सीधी लकीर का मतलब मौत माना जाता है।

रतन नवल टाटा रचनात्मक तोडफ़ोड़ से नहीं डरते, क्योंकि वे ऐसे प्रशिक्षित आर्किटेक्ट, स्वयंभू इंजीनियर और परिस्थितिजन्य लीडर हैं, जिनके अपने शौक और जीने की अपनी शैली है। दिलचस्प बात यह है कि रतन टाटा जैसे दिखते हैं, वैसे हैं बिल्कुल नहीं। वास्तव में वे एक श्रीफल (नारियल) की तरह हैं, जो बाहर से इतना सख्त व मजबूत होता है कि सीधे भिड़ जाओ तो सिर फोड़ दे, पर सलीके से एक -एक परत  खोलते जाओ तो मिलेगी कोमल -मीठा फल। अपने पुरुषार्थ से कार्पोरेट वर्ल्ड के श्रीफल को प्राप्त कर चुके रतन टाटा के नजदीकी इसीलिए कहते हैं कि वे आश्चर्यजनक रूप से सहज और बेहद शर्मीले हैं, पर अपने हर काम में उतने ही तेज-तर्रार।

 

 

रतन टाटा के 10 बेस्ट इंस्पायरिंग थॉट्स

  1. मैं सही निर्णय लेने में विश्वास नहीं करता। मैं निर्णय लेता हूँ और फिर उन्हें सही साबित कर देता हूँ। 
  2. उन पत्थरों को उठाइए जो लोग आप पर फेंकते हैं और उनका इस्तेमाल कर के एक स्मारक खड़ी कर दीजिये।
  3. अगर आप तेजी से चलना चाहते हैं तो अकेले चलिए। लेकिन अगर आप दूर तक चलना चाहते हैं तो साथ मिलकर चलिए।
  4. आगे बढ़ने के लिए जीवन में उतर-चढ़ाव बहुत ज़रूरी हैं, क्योंकि ईसीजी में भी एक सीधी लाइन का मतलब होता है कि हम जिंदा नहीं हैं।
  5. जिस दिन मैं उड़ान नहीं भर पाऊंगा, वो मेरे लिए एक दुखद दिन होगा।
  6. मैं भारत के भविष्य की सम्भावनाओं के लेकर हमेशा बहुत कॉंफिडेंट और उत्साही रहा हूँ। मुझे लगता है ये एक महान क्षमता वाला महान देश है।
  7. ऐसी कई चीजें हैं, जो अगर मुझे दोबारा जीने के मौका मिले तो शायद मैं अलग ढंग से करूँगा। लेकिन मैं पीछे मुड़कर ये नहीं देखना चाहूँगा कि मैं क्या नहीं कर पाया।
  8. मैं कहूँगा कि एक चीज जो मैं अलग ढंग से करना चाहता वो है और अधिक आउटगोइंग होना।
  9. कोई लोहे को नष्ट नहीं कर सकता, लेकिन उसकी अपनी जंग कर सकती है! उसी तरह कोई किसी इंसान को बर्बाद नहीं कर सकता, लेकिन उसकी अपनी मानसिकता कर सकती है।
  10. मैं उन लोगों कि प्रशंसा करता हूँ जो बहुत सफल हैं। लेकिन अगर वो सफलता बहुत बेरहमी से हासिल की गयी है तो मैं उस व्यक्ति की प्रशंसा करता हूँ पर मैं उसकी इज्ज़त नहीं कर सकता।
Next News

अहिंसा और सत्य के मार्ग पर चलने वाले  मार्टिन का ऐतिहासिक भाषण

मार्टिन लूथर किंग जूनियर को अमेरिका में नीग्रोज़ को उनके मौलिक अधिकार दिलाने के लिए याद किया जाता है। महात्मा गांधी के दिखाए अहिंसा और सत्य के मार्ग पर

एपीजे अब्दुल कलाम के 20 थॉट्स जो किसी भी बच्चे में जोश भर देंगे

भारत रत्न कलाम ने अपनी किताबों और विभिन्न लेक्चर्स के दौरान ऐसी कई बातें कही हैं जो स्टूडेंट्स के काम आ सकती हैं। उनके ऐसे ही 20 मंत्र ।

Array ( )