नॉन-आईआईटी इंजीनियरिंग कॉलेजों में भी हो सकेगी PhD., सरकार ने लिया फैसला

गैर आईआईटी कॉलेजों में भी इसी सत्र से पीएचडी कोर्स शुरू करने की तैयारी है।

एजुकेशन डेस्क। देश में तकनीकी विषयों में शोध पर काम तेज करने के लिए सरकार नया कदम उठाने जा रही है। पहली बार गैर आईआईटी कॉलेजों में भी इसी सत्र से पीएचडी कोर्स शुरू करने की तैयारी है। कुछ ही दिन में इसका नोटिफिकेशन जारी कर दिया जाएगा।

पीएचडी करने के लिए क्या होनी चाहिए योग्यता?

- इसके लिए कुछ शर्तें भी जोड़ी गई हैं। एंट्रेंस की परीक्षा सेंट्रलाइज होगी। अभ्यर्थी के किसी मान्यता प्राप्त इंजीनियरिंग कॉलेज से एमटेक में 70% या इससे अधिक अंक हों।

- उसने गेट या जीपैट की परीक्षा अंतिम पांच साल में पास की हो और उम्मीदवार की उम्र 30 साल से कम होनी चाहिए।

अभी तक क्या थे नियम?

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) के सलाहकार प्रो. दिलीप एन मालखेड़े के मुताबिक अभी तक सिर्फ आईआईटी और एनआईटी कॉलेजों में रिसर्च के लिए पीएचडी का कोर्स होता है। गैर आईआईटी कॉलेजों में तीन साल के पीएचडी कोर्स की पढ़ाई के लिए हर छात्र को प्रति माह 35 हजार स्टाइपेंड भी मिलेगा। 

Next News

देश के टॉप MBA कॉलेज, जहां बिना CAT के मिलेगा एडमिशन

देश में कई ऐसे कॉलेज हैं जो अपना अलग टेस्ट लेते हैं ऐसे में आप इसमें अच्छा स्कोर करके बेहतरीन कॉलेज में एडमिशन ले सकते हैं।

राजस्थान यूनिवर्सिटी : प्रोस्पेक्टस में ही मिलेगी 'घूमर' की जानकारी

इस साल प्रोस्पेक्टस में ही मिलेगी 'घूमर' की जानकारी

Array ( )