Articles worth reading

NEET के लिए ओपन स्कूल और प्राइवेट स्टूडेंट्स भी एलिजिबल: HC

मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने ओपन स्कूलिंग और प्राइवेट स्टूडेंट्स को NEET के इनएलिजिबल ठहराया था।

एजुकेशन डेस्क, नई दिल्ली। हाईकोर्ट ने शुक्रवार को ओपन स्कूलिंग और प्राइवेट स्टूडेंट्स को लेकर एक बड़ा फैसला दिया है। कोर्ट ने ओपन स्कूलिंग और प्राइवेट स्टूडेंट्स को NEET से बाहर करने के मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के फैसले को गलत ठहराते हुए इन स्टूडेंट्स को भी NEET के लिए एलिजिबल माना है। अब जो स्टूडेंट्स ओपन स्कूलिंग और प्राइवेट पढ़ाई करते हैं, वो भी अगले साल से NEET दे सकेंगे। 

10 हजार से ज्यादा स्टूडेंट्स को होगा फायदा

- दिल्ली हाईकोर्ट ने शुक्रवार को 81 पेज के जजमेंट में मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के फैसले को गलत मानते हुए ओपन स्कूलिंग और प्राइवेट स्टूडेंट्स को भी NEET देने की इजाजत दे दी है।
- फैसले के बाद अब इन कैटेगरी के स्टूडेंट्स आने वाले सालों में मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम दे पाएंगे। इससे देशभर के करीब 10 हजार स्टूडेंट्स को फायदा मिलेगा।
- ओपन स्कूलिंग में नेशनल ओपन स्कूलिंग और स्टेट ओपन स्कूलिंग दोनों ही स्टूडेंट्स शामिल है। यही लाभ प्राइवेट पढ़ने वाले स्टूडेंट्स को भी मिलेगा। 

एडिशनल बायो वाले स्टूडेंट्स को लेकर ये कहा

- इसी तरह से एडिशनल बॉयोलाजी से NEET देने वाले स्टूडेंट्स के संबंध में हाईकोर्ट ने कहा कि जो फैसला एमसीआई ने इस कैटेगरी के स्टूडेंट्स के लिए रिवाइज किया था, वो ही लागू होगा। - एमसीआई ने रिवाइज निर्णय में कहा था कि 2 साल तक बॉयोलाजी पढ़ने वाले स्टूडेंट्स ही नीट के लिए एलिजिबल होंगे। इसमें ब्रेक हो तो भी पात्रता पर कोई असर नहीं पड़ेगा। 

अब 25 साल ही रहेगी एज लिमिट

- हाईकोर्ट ने 25 साल से अधिक आयु के स्टूडेंट्स को इस साल तो NEET में शामिल होने की इजाजत दे दी है, लेकिन अगले सेशन के लिए राहत नहीं दी है। 
- ऐसे में NEET देने की अधिकतम आयु 25 ही रह सकती है। अगले सेशन से 25 साल तक के स्टूडेंट्स ही NEET देंगे। बता दें कि पिछले साल भी आयु सीमा को लेकर विवाद हुआ था।

सुप्रीम कोर्ट जाने का है ऑप्शन

- दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देने के लिए दोनों ही पक्षों के पास सुप्रीम कोर्ट में अपील करने का ऑप्शन है। 
- जिन कैटेगरी में कोर्ट ने स्टूडेंट्स को अलाऊ किया है, उसके लिए सीबीएसई और एमसीआई सुप्रीम कोर्ट जा सकता है। ओवरएज स्टूडेंट्स भी अपील कर सकते हैं। 

Next News

14 मई तक डॉक्यूमेंट्स नहीं दिए, तो अल्पसंख्यक कॉलेज एडमिशन प्रोसेस से होंगे बाहर

4 साल से अल्पसंख्यक दर्जे के तहत इन कॉलेजों में ऑफलाइन एडमिशन हो रहा, लेकिन इस बार जरूरी दस्तावेज ही जमा नहीं किए गए।

JEE ADVANCE: KV और नवोदय स्कूलों में 15 तक दे सकते हैं मॉक टेस्ट

देश के किसी भी केवी और नवोदय विधालय में क्वालिफाइड कैंडिडेट्स मॉक टेस्ट दे सकते हैं।

Array ( )