JEE MAIN : पिछले 5 साल में 2 लाख से ज्यादा कम हुई कैंडीडेट्स की संख्या

इस साल मेन में करीब साढे 11 लाख स्टूडेंट्स शामिल हुए थे। जो पिछले सालों के मुकाबले कम थे। ये आकड़ा पिछले कुछ सालों से लगातार गिरता जा रहा है। पिछले 5 सालों के आकड़ों पर नजर डालें तो इसमें 2 लाख से ज्यादा स्टूडेंट कम हुए हैं। 

एजुकेशन डेस्क । ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (JEE) मेन 2018 का रिजल्ट सोमवार को जारी हुआ। इस परीक्षा में देश भर से 2 लाख 31 हजार 24 बच्चे क्वालिफाई हुए हैं। यानी इतने बच्चे 20 मई को होने वाली जेईई एडवांस की परीक्षा में बैठेंगे। इस साल में करीब साढे 11 लाख स्टूडेंट्स शामिल हुए थे। जो पिछले सालों के मुकाबले कम थे। ये आकड़ा पिछले कुछ सालों से लगातार गिरता जा रहा है। पिछले 5 सालों के आकड़ों पर नजर डालें तो इसमें 2 लाख से ज्यादा स्टूडेंट कम हुए हैं। 

घट रहे हैं अपीयरिंग कैंडीडेट्स (पेपर-1, 2) 

साल  

अपीयर हुए

2014

13,56,000 

2015

13,04,217 

2016

12,07,257

2017

11,98,989 

2018

11,48,000

इसलिए कम हो रहे कैंडीडेट्स
बोर्ड ने JEE में अपीयरिंग चांसेज की लिमिट 2 बार कर दी है। इस कारण कैंडीडेट्स कम हो रहे हैं। वहीं पेपर पहले से टफ हो गए हैं। स्टूडेंट्स को चाहिए कि वे एनसीईआरटी पर फोकस करें और बेसिक मजबूत करें। -मनीष सिन्हा, चैप स्क्वायर 

Next News

JEE MAIN झारखंड : 22वीं रैंक के साथ जमशेदपुर के राहुल बने टॉपर

झारखंड से करीब 35 हजार स्टूडेंट्स इस परीक्षा में शामिल हुए थे। 22वीं रैंक के साथ जमशेदपुर के राहुल कुमार तिवारी स्टेट टॉपर बने हैं। जबकि 96वीं रैंक के

IIT-JEE Advanced: एग्जाम से पहले इन बातों का रखें खास ध्यान

मुमकिन हो तो एग्ज़ाम सेंटर और हॉल की विज़िट करें ताकि एडवांस्ड वाले दिन किसी भी हड़बड़ाहट से बचा जा सके।

Array ( )