Articles worth reading

MP CPCT: 30 मई तक करें रजिस्ट्रेशन, 17 जून को होगा एग्जाम

CPCT का एग्जाम एक बार देने के बाद, कैंडिडेट्स 6 महीने बाद ही दोबारा एग्जाम के लिए अप्लाय कर सकता है।

एजुकेशन डेस्क, भोपाल। कंप्यूटर प्रोफिशिएंसी एंड सर्टिफिकेशन टेस्ट (CPCT) के लिए रजिस्ट्रेशन प्रोसेस शुरू हो गई है। इंटरेस्टेड कैंडिडेट्स ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर इसके लिए अप्लाय कर सकते हैं। कैंडिडेट्स 14 मई से लेकर 31 मई तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, जबकि इसके लिए 17 जून को कई सेंटर्स पर एग्जाम होंगे। 

कैसे करें इसके लिए अप्लाय?

- CPCT के लिए रजिस्टर करने के लिए ऑफिशियल वेबसाइट www.cpct.gov.in पर जाकर रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।
- वेबसाइट पर जाकर कैंडिडेट्स को अपनी प्रोफाइल क्रिएट करनी होगी। इसके बाद कैंडिडेट्स का यूजर आईडी और पासवर्ड जनरेट होगा।
- इसके जरिए कैंडिडेट्स ऑनलाइन फॉर्म भर सकते हैं। फॉर्म सबमिट करने के बाद ऑनलाइन ही एप्लीकेशन फीस सबमिट करनी होगी।

कितनी लगेगी एप्लीकेशन फीस?

- CPCT के रजिस्ट्रेशन के लिए सभी कैंडिडेट्स के लिए 660 रुपए रजिस्ट्रेशन फीस लगती है।

क्यों होता है CPCT का एग्जाम?

- 26 फरवरी 2015 को मध्य प्रदेश सरकार की तरफ से सरकारी नौकरियों के लिए कंप्यूटर प्रोफिशिएंसी एंड सर्टिफिकेशन टेस्ट (CPCT) को जरूरी कर दिया था।
- इसी एग्जाम के जरिए कैंडिडेट्स का कंप्यूटर नॉलेज और टायपिंग स्किल का टेस्ट किया जाता है और इसी के जरिए सरकारी विभागों में जॉब दी जाती है।

कैसे होता है इसका एग्जाम?

- इसका एग्जाम 120 मिनट यानी 2 घंटे का होता है, जो दो सेक्शन में आता है।
- पहले सेक्शन में कंप्यूटर से जुड़े मल्टीपल च्वॉइस क्वेश्चंस पूछे जाते हैं और ये 75 मिनट का होता है।
- जबकि दूसरा सेक्शन टायपिंग टेस्ट का होता है। इसमें 15-15 मिनट हिंदी और इंग्लिश टायपिंग का टेस्ट होता है।
- ये एग्जाम पूरी तरह से ऑनलाइन होता है और एग्जाम खत्म होने के बाद कंप्यूटर स्क्रीन पर ही स्कोर कार्ड भी आ जाता है। हालांकि एग्जाम के कुछ समय बाद ही स्कोर कार्ड जारी किया जाता है, लेकिन कैंडिडेट्स अपना रिजल्ट एग्जाम के दिन ही देख सकते हैं।

वेबसाइट पर ही आता है एडमिट कार्ड

- CPCT एग्जाम का एडमिट कार्ड इसकी ऑफिशियल वेबसाइट www.cpct.gov.in पर ही अपलोड किया जाता है। 
- एडमिट कार्ड डाउनलोड करने के लिए कैंडिडेट को वेबसाइट पर जाकर लॉग-इन करना होता है।
- इसी एडमिट कार्ड के साथ कैंडिडेट को अपने साथ आईडी कार्ड, फोटो और 10वीं की मार्कशीट लेकर एग्जाम सेंटर जाना होता है। 

2 साल वैलिड रहता है स्कोर कार्ड

- CPCT का स्कोर कार्ड सिर्फ 2 साल तक के लिए ही वैलिड रहता है और इसकी वैलिडिटी खत्म होने के बाद कैंडिडेट्स को दोबारा से ये एग्जाम पास करना होता है।
- इसके साथ ही अगर कोई कैंडिडेट्स ने अभी एग्जाम दिया है और वो दोबारा से इस एग्जाम को देना चाहता है, तो वो 6 महीने बाद ही फिर से इस टेस्ट में शामिल हो सकता है।

Next News
Array ( )