Articles worth reading

एमपी बोर्ड: छोटे शहरों के स्टूडेंट्स ने भोपाल और इंदौर को पीछे छोड़ा

इस रिजल्ट की सबसे खास बात यह रही है छोटे शहरों के स्टूडेंट्स ने टॉपर लिस्ट शामिल होकर भोपाल और इंदौर जैसे बड़े शहरों को पीछे छोड़ दिया है।

एजुकेशन डेस्क।  मध्य प्रदेश बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (MPBSE) ने सोमवार को 10वीं और 12वीं क्लास के रिजल्ट जारी कर दिए। इस साल 10वीं क्लास का पासिंग परसेंटेज 66% और 12वीं क्लास का 68% रहा। इस रिजल्ट की सबसे खास बात यह रही है छोटे शहरों के स्टूडेंट्स ने टॉपर लिस्ट शामिल होकर भोपाल और इंदौर जैसे बड़े शहरों को पीछे छोड़ दिया है। जानिए किस शहर से कौन स्टूडेंट है टॉपर लिस्ट में....

1. छिंदवाड़ा की शिवानी पवार ने हृयूमेनिटीज से 12वीं में 476 मार्क स्कोर करके टॉप किया है।

2. शिवपुरी की आयुषी ढेंगुला ने 12वीं में कॉमर्स स्ट्रीम से 479 मार्क स्कोर करके टॉप किया है।

3. भिंड की तमन्ना कुशवाहा ने 500 में 754 मार्क स्कोर फाइन आर्ट की टॉपर बनी हैं

4. 10वीं में विदिशा जिले की अनामिका साध और शाजापुर के हर्षवर्धन परमार ने टॉप किया है। दोनों ने 495 मार्क स्कोर किए हैं।

5. इसके अलावा हाई पास पर्सेंटेज के मामले में नीमच सबसे सबसे उपर है। यहां के स्टूडेंट ने काफी बेहतर प्रदर्शन किया है।
 

इस साल 19 लाख स्टूडेंट्स हुए थे शामिल

- इस साल 10वीं में लगभग 8 लाख स्टूडेंट्स ने एग्जाम दिया।
- वहीं, इस साल 12वीं में लगभग 12 लाख स्टूडेंट्स ने एग्जाम दिया।

 

आंकड़ों की जुबानी से समझिए सोमवार को जारी हुए रिजल्ट को...

आंकड़े: 12वीं रेग्युलर
- 6,00,065 स्टूडेंट्स शामिल हुए
- 4253 एब्सेंट रहे
- 1,08,358 स्टूडेंट्स हुए फेल
- 4,05,122 छात्र हुए पास
- 81480 स्टूडेंट्स ने दिया सप्लीमेंट्री

आंकड़े: 12वीं प्राइवेट
- 1,65,293 स्टूडेंट्स शामिल हुए
- 16295 स्टूडेंट्स एब्सेंट रहे
- 81726 स्टूडेंट्स हुए फेल
- 41030 छात्र हुए पास
- 25804 स्टूडेंट्स ने दिया सप्लीमेंट्री

आंकड़े: 10वीं रेग्युलर
8,30,942 स्टूडेंट्स शामिल हुए
10,419 एब्सेंट रहे
1,89,115 स्टूडेंट्स हुए फेल
5,45,600 छात्र हुए पास
85,124 स्टूडेंट्स ने दिया सप्लीमेंट्री

आंकड़े: 10वीं प्राइवेट
3,17,156 स्टूडेंट्स शामिल हुए
33,052 स्टूडेंट्स एब्सेंट रहे
1,79,718 स्टूडेंट्स हुए फेल
64,658 छात्र हुए पास
39,519 स्टूडेंट्स ने दिया सप्लीमेंट्री

Next News

एमपी बोर्ड: पिता के साथ खेतों में किया काम, अब 12वीं में सेकेंड टॉपर

ये हर किसी के लिए सीख की तरह है कि मेहनत का कोई विकल्प नहीं हो सकता है।

कभी कोचिंग नहीं की, हिस्ट्री में इन्ट्रेस्ट ने यश को बनाया सिटी टॉपर 

इस बार भी ह्यूमेनिटीज सब्जेक्ट के स्टूडेंट ने किया ओवरऑल 12वीं में टॉप

Array ( )