एमपी बोर्ड: 70% वाले स्टूडेंट्स को मिलेंगी सरकारी मदद, बन रहा रिकॉर्ड

स्टूडेंट्स जिनकी परिवार की वार्षिक आय 6 लाख से कम है , उन्हें लैपटॉप के लिए मिलेंगें 25 हजार

एजुकेशन डेस्क, इंदौर। हायर सेकंडरी में 70% से ज्यादा अंक लाने वाले मेधावी स्टूडेंट्स की काउंसलिंग शुरू हो चुकी है। इन विद्यार्थियों का पूरा डेटा अब सरकार के पास तैयार हो रहा है। शिक्षा विभाग द्वारा इस पूरी कार्रवाई की बिंदुवार रिपोर्ट तैयार करने के पीछे सरकार की मेधावी स्टूडेंट्स के लिए शुरू की गई योजना है, जिसमें उन्हें आगे की पढ़ाई के लिए सरकार की ओर से सहायता दी जाएगी। इंदौर जिले में 70% से ज्यादा अंक लाने वाले 6811 स्टूडेंट्स की काउंसलिंग 21 मई से शुरू हो चुकी है। इस दौरान यह भी तय किया जा रहा है कि कितने स्टूडेंट्स काउंसलिंग में पहुंच पा रहे हैं और कितने अनुपस्थित हैं। इसके अलावा जो स्टूडेंट्स आगे की पढ़ाई के लिए कॉलेज में एडमिशन लेना चाहते हैं उनकी भी सूची तैयार हो रही है। सूची में यह भी दर्ज किया जा रहा है कि कौन सा स्टूडेंट किस कॉलेज और किस विषय में एडमिशन ले रहा है। साथ ही जो स्टूडेंट कॉम्पिटेटीव एग्जाम की तैयारी करना चाहते हैं, उनकी भी सूची तैयार हो रही है। 

13 विशेषज्ञ कर रहे हैं काउंसलिंग

- 30 मई तक होने वाली इस काउंसलिंग के जरिए ही सरकार को पता चलेगा कि कितने स्टूडेंट्स आगे की पढ़ाई के लिए कॉलेज में एडमिशन लेंगे और कितने कॉम्पिटेटीव एग्जाम की तैयारी करेंगे।
- इसके लिए इंदौर में बनाए गए 4 सेंटरों पर 13 काउंसलर की टीम बच्चों की काउंसलिंग कर रहे हैं। 

मेधावी स्टूडेंट्स की फीस प्रदेश सरकार भरेगी 

- 12वीं में 75% से अधिक या उससे अधिक अथवा सीबीएसई/आईसीएसई बोर्ड में 85 प्रतिशत या उससे अधिक अंक लाने वाले स्टूडेंट द्वारा चयनित शासकीय/निजी कॉलेजों में प्रवेश लेने पर प्रदेश सरकार उनकी फीस भरेगी।
- निजी इंजीनियरिंग शिक्षण संस्थानों के लिए यह सीमा अधिकतम 1.5 लाख है।
- सरकारी कॉलेजों में प्रवेश लेने वाले स्टूडेंट्स की नियमानुसार जो भी फीस होगी, वह राज्य सरकार वहन करेगी।
- वहीं जिन स्टूडेंट्स के पालकों की वार्षिक आय 6 लाख रुपए से कम है, उन्हें राज्य सरकार लैपटॉप खरीदने के लिए 25 हजार देगी। 

12वीं के 781 छात्रों को सीएम 28 मई को देंगे लैपटॉप

- माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा घोषित किए गए हायर सेकंडरी की परीक्षा में अच्छे अंक लाने वाले छात्रों को सीएम शिवराज सिंह चौहान 28 मई को भोपाल में लैपटॉप प्रदान करेंगे।
- इसके लिए आयुक्त लोक शिक्षण जयश्री कियावत ने निर्देश जारी कर कहा है कि निजी व सरकारी स्कूलों के प्रिंसिपल पात्र छात्रों की सूची तैयार कर उत्कृष्ट विद्यालय मुरार में जमा करें।
- अभी ग्वालियर जिले के 781 छात्रों को लैपटॉप प्रदान किया जाना है। एससी व एसटी के जिन छात्रों के 12 वीं में 75 फीसदी व सामान्य और पिछड़े वर्ग के 85 फीसदी से अधिक अंक होने पर लैपटॉप मिलेगा।

Next News

एमपी बोर्ड: 12वीं में 70% से ज्यादा अंक वाले स्टूडेंट्स की काउंसलिंग शुरू

इंदौर जिले के 6811 स्टूडेंट्स के लिए शहर में बनाए 4 सेंटर, करियर के बारे में बता रहे

असम बोर्ड: 10th का रिजल्ट घोषित, 54.45% स्टूडेंट्स पास; ऐसे करें चेक

इस साल 10th बोर्ड में 1.75 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स ने एग्जाम में शामिल हुए थे।

Array ( )