Articles worth reading

MHRD तैयार कर रहा नई एजुकेशन पॉलिसी, टेक्निकल कोर्सेस अब हिंदी में भी

हिंदी को देश में अपना उचित स्थान मिल सकें इसके लिए नई एजुकेशन पॉलिसी तैयार की जा रही है।

एजकेशन डेस्क। किसी भी समाज और देश के लिए वहां की मातृभाषा का अपना खास महत्व होता है। इसी कड़ी में जल्द ही एचआरडी मिनिस्ट्री व एआईसीटीई द्वारा नई एजुकेशन पॉलिसी लाने की तैयारी की जा रही है। जिसके माध्यम से हिंदी को देश में अपना उपयुक्त स्थान मिल सकेगा। ऐसा होने पर हिंदी में न सिर्फ टेक्निकल कोर्सेस के सिलबेस डिजाइन किए जाएंगे, बल्कि तकनीकी कोर्सेस भी डिजाइन होंगे। यह विशेष रूप से उन स्टूडेंट्स को ध्यान में रखकर किया जा रहा है, जो अंग्रेजी में वीक हैं और इस भाषा में किसी भी टेक्निकल कोर्स को करने से डरते हैं। नई एजुकेशन पॉलिसी के बाद वे भी आगे की पढ़ाई आसानी से कर सकते हैं। गौरतलब है कि साल 1835 में जब एजुकेशन पॉलिसी लाई गई थी, तो लॉर्ड मैकाले ने कहा था कि भारत के लोग भले ही वेशभूषा औऱ खून से भारतीय रहें, मगर उनकी सोच अंग्रेजों के समान उन्नत है। बेहद जरूरी है कि भारतीय अपनी मूलता को न भूलें ।


NCERT की बुक में होगी बाल सुरक्षा की जानकारी 

अब एनसीईआरटी की किताबें नए कलेवर में मिलेंगी। नेशनल काउंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग (एनसीईआरटी) की ओर से इन किताबों को बाल सुरक्षा के लिहाज से डिजाइन किया जाएगा। जिसमें बच्चों और अभिभावकों को बाल सुरक्षा की जानकारी मिलेगी। इसमें महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भी एनसीईआरटी का सहयोग करेगा। यह जानकारी कक्षा 6वीं से लेकर 12वीं तक के पाठ्यक्रम की सभी किताबों के मुख्य पृष्ठ के अंदर के पन्नों पर मौजूद रहेगी। एनसीईआरटी की किताबों में बच्चों की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर प्रकाशित किए जा रहे हैं। इन हेल्पलाइन नंबर के जरिए बच्चे अपने मन की बात काउंसलर्स से कह सकेंगे। साथ ही उनकी काउंसलिंग भी की जाएगी। एनसीईआरटी की बुक पर चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर-1098 भी अंकित रहेगा। 

Next News

NIFT: 25 हजार लोगों का बॉडी साइज नापेंगे निफ्ट के स्टूडेंट 

इस साइजिंग चार्ट के जनरेट होने के बाद ड्रेस में साइज गलत होने की प्रॉब्लम खत्म हो जाएगी।

राजस्थान: प्री-बीएसटीसी का पेपर लीक, 20 हजार में बेचा, ब्लूटूथ से नकल करा रहा गिरोह गिरफ्तार

परीक्षा शुरू होने से 3 घंटे पहले सोशल मीडिया पर वायरल हुआ पेपर, 6 लोग गिरफ्तार,बाड़मेर में अभ्यर्थियों को 20 हजार में बेचा

Array ( )