10th के बाद दमदार आवाज का जादू बना सकता है वॉइस ओवर आर्टिस्ट

दो से ज्यादा लैंग्वेजेस का नॉलेज हो तो डबिंग आर्टिस्ट के तौर पर कॅरियर बनाया जा सकता है। लोकल एफएम और ऑल इंडिया रेडियो के लिए भी वर्क कर सकते हैं।

एजुकेशन डेस्क। अगर आप भी जल्द से पैसा कमाकर सफल होना चाहते हैं तो वाॅइस ऑवर आर्टिस्ट बेस्ट करियर हो सकता है बशर्ते आपकी आवाज दमदार हो। प्रजेंट सिनेरियो में टीवी से लेकर फिल्मों तक वॉइस ओवर आर्टिस्ट की डिमांड होती है। अगर आपकी आवाज भी अच्छी है और शब्दों के जरिए भावनाओं को व्यक्त करने में माहिर हैं तो सिर्फ अपनी आवाज के जादू से ही लोगों को न सिर्फ अपना दीवाना बना सकते हैं बल्कि आवाज से अपनी अलग पहचान बनाकर अर्निंग भी कर सकते हैं। 

जरूरी एलिजिबिलटी

इस फील्ड में कॅरियर बनाने के लिए किसी स्पेशलाइजेशन की जरूरत नहीं होती क्योंकि इस फील्ड में मुख्यतः आपकी आवाज की ही जरूरत होती है। लेकिन फिर भी अपनी आवाज में निखार लाने के लिए आप तीन से छह माह का डिप्लोमा कर सकते हैं। इसमें आप 10th के बाद भी दाखिला ले सकते हैं।

स्किल्स क्या चाहिए
आपको अपनी आवाज को भावों के अनुसार उतार−चढ़ाव देना आना चाहिए क्योंकि शब्द ही उन भावों को जान देते हैं, जिन्हें आप बोलते हैं। इसके अतिरिक्त विभिन्न भाषाओं का ज्ञान भी आपके काम के लिए बेहद जरूरी है। यदि दो या दो से अधिक भाषाओं का ज्ञान रखते हैं तो आपके काम करने का दायरा काफी हद तक बढ़ जाता है।

वर्क फील्ड

वॉइस ओवर ऑर्टिस्ट का काम किसी सीरियल, फिल्म, डॉक्यूमेंटी या कार्टून कैरेक्टर आदि के लिए आवाज देना होता है। वे खुद परदे के पीछे रहते हैं लेकिन अपनी आवाज से उस किरदार को जिंदा कर देते हैं। डबिंग के टाइम एक भाषा को समझकर उसे दूसरी भाषा में बोलना होता है। आपका कार्यक्षेत्र सिर्फ लिखी हुई लाइनों को बोलना नहीं होता, बल्कि उसे सही ढंग से पेश करना होता है।

डिमांड एरिया 

वॉइस ओवर आर्टिस्ट की काफी डिमांड है क्योंकि क्षेत्रीय भाषाओं की फिल्मों को भी कई भाषाओं में डब किया जाता है। इसके अतिरिक्त प्रोडक्शन हाउस, आकाशवाणी, विभिन्न टीवी चैनल्स, रेडियो चैनल्स, विज्ञापनों, एनिमेशन वर्ल्ड, डॉक्यूमेंट्री फिल्मों यहां तक कि विभिन्न प्रकार की सेवाओं में भी वॉयस ओवर आर्टिस्ट की डिमांड की जाती है। कई भाषाओं का ज्ञान रखते हैं या फिर आप कई तरह की आवाजें निकालने में सक्षम हैं तो आपके लिए संभावनाओं का आकाश और भी बड़ा हो जाता है। 

सैलरी इनकम 

वॉइस ओवर आर्टिस्ट प्रति घंटा 300 से 500 रूपए आसानी से कमा सकता है। वहीं अगर कहीं पर जॉब करता है तब भी 30000 से लेकर 40000 रूपए आसानी से कमाए जा सकते हैं। एक एनिमेशन प्रोजेक्ट करते हैं तो हर प्रोजेक्ट के कम से कम दस से पंद्रह हजार रूपए आसानी से मिल जाएंगे।

ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट्स 

  • द वॉयस स्कूल, मुंबई
  • जेवियर इंस्टीटयूट ऑफ कम्युनिकेशन, मुंबई
  • आईसोम्स बेग फिल्मस, नोएडा
  • एशियन एकेडमी ऑफ फिल्म एंड टेलीविजन, नोएडा
  • अकादमी ऑफ रेडियो मैनेजमेंट, नई दिल्ली
  • मुंबई फिल्म अकादमी, मुंबई
  • इंस्टीटयूट ऑफ वॉयस कल्चर एंड डिजिटल डबिंग स्टूडियो, मुंबई
Next News

10th के बाद थामें कैमरा करें एक क्लिक जाे यादगार बन जाए

फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी की टेक्नोलॉजी सीखने कोर्स की मदद ले सकते हैं। साथ ही साथ अपना विजन डेवलप करने के लिए लोकल और यूनीक प्लेस पर ट्रेवलिंग जरूर

रिजल्ट स्कूल स्टडीज का आएगा लाइफ का नहीं, स्टूडेंट्स और पेरेंट्स स्ट्रेस से रहें दूर

स्टूडेंट्स अगर बेस्ट रिजल्ट नहीं ला पाते तब इसे सैकेंड चांस की तरह देखें। पेरेंट्स की जिम्मेदारी है कि डिप्रेशन ज्यादा होने पर काउसंलर की हेल्प लेना न

Array ( )