Articles worth reading

पटना की मधुमिता को गूगल में मिला 1 करोड़ का पैकेज, जानें उनके बारे में

मधुमिता को गूगल में जॉब के लिए 7 राउंड क्लियर करने पड़े। इस बीच उनके पास कई बड़ी कंपनियों के भी ऑफर आए।

एजुकेशन डेस्क। दुनिया की सबसे बड़ी सर्च इंजन कंपनी 'गूगल' ने भारत के पटना शहर की रहने वालीं मधुमिता को सालाना 1 करोड़ 8 लाख रुपए के पैकेज पर जॉब दी है। मधुमिता ने सोमवार से गूगल के स्विट्जरलैंड ऑफिस में टेक्निकल सोल्युशन इंजीनियर के तौर पर ज्वॉइन भी कर लिया है। इससे पहले मधुमिता बैंग्लोर की एक कंपनी में काम कर रहीं थीं। 

7 राउंड क्लियर करने के बाद मिली नौकरी

- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गूगल में जॉब पाने के लिए मधुमिता को 7 राउंड क्लियर करने पड़े। 
- ये सभी राउंड नवंबर 2017 से लेकर जनवरी 2018 तक चले। 
- इस बीच मधुमिता को अमेजन, माइक्रोसॉफ्ट और मर्सिडीज़ जैसी बड़ी कंपनियों से भी ऑफर मिला, लेकिन गूगल में जॉब करने का उनका सपना था। 
- मधुमिता को गूगल में जॉब मिलने का भरोसा था, इसलिए उन्होंने किसी दूसरी कंपनी को ज्वॉइन करने की बजाय गूगल के लिए प्रीपरेशन की।

आईएएस बनने का था सपना, लेकिन इंजीनियरिंग चुनी

- मधुमिता के पिता सुरेंद्र शर्मा बताते हैं कि स्कूलिंग पढ़ाई के दौरान मधुमिता को मैथ्स और फिजिक्स में काफी इंटरेस्ट था। इसके साथ ही वो डिबेट कॉम्पिटीशंस में भी हिस्सा लेतीं थीं। उनके पिता ने बताया कि पहले मधुमिता का सपना आईएएस बनने का था।
- सुरेंद्र शर्मा ने बताया कि 12th में मधुमिता को 86% आए थे। इसके बाद उन्होंने इंजीनियरिंग में जाने का फैसला लिया और मधुमिता ने जयपुर के आर्या कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नॉलॉजी से कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग की पढ़ाई की।

मधुमिता की फैमिली

- जानकारी के मुताबिक मधुमिता के पिता सुरेंद्र कुमार रेलवे पुलिस फोर्स में असिस्टेंट सिक्योरिटी कमिश्नर हैं और उनकी मां चिंता देवी हाउस वाइफ हैं।
- मधुमिता की बहन रश्मि कुमार अभी इंदौर के अरविंदो मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की पढ़ाई कर रही हैं।
- वहीं उनका छोटा भाई हिमांशु शेखर बैंग्लोर के आरवी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है।

Next News

UP Board : टॉपर लिस्ट में किसान और ऑटो ड्राइवर के बच्चे, डॉ. एपीजे कलाम जैसा बनने की चाहत

टॉप करने वाले स्टूडेंट्स ने बताया कि वे एग्जाम से पहले 8-10 घंटे स्टडी में देते और सोशल मीडिया से पूरी तरह दूरी बनाए रखते थे।

रेलवे के फ्री वाई-फाई से कुली ने की पढ़ाई, पास किया सिविल सर्विस एग्जाम

श्रीनाथ पिछले 5 सालों से केरल के मुन्नार जिले में एर्णाकुलम रेलवे स्टेशन पर कुली का काम कर रहे हैं। काम करते-करते ही उन्होंने फ्री वाई-फाई से अपनी तैयारी

Array ( )