JEE Main 2018 : जानें सीट्स, कट-आॅफ, रैंकिंग कैल्कुलेशन और इंट्रेस्टिंग फैक्ट

जानिए आईआईटी जेईई 2018 से जुड़े कई सवालों के जवाब और कुछ एंट्रेस्टिंग फैक्ट  जानना बेहद जरूरी है। 

एजुकेशन डेस्क। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम (JEE Main) के नतीजे आज जारी करेगा। रिजल्ट के अलावा कई ऐसे सवाल हैं जिनके जवाब जानना जरूरी हैं जैसे मेन के नतीजों के आधार पर रैंक कैसे कैल्कुलेट होती है, कट—आॅफ कितना जाएगा, किस आईआईटी में कितनी सीट्स हैं, भारत के अलावा किन देशों के स्टूडेंट्स इस एग्जाम में शामिल हुई हैं..।

यहां क्लिक करें जानें इन सवालों के जवाब

जेईई मेन के अंकों के आधार पर कैसे तय होती है रैंकिंग?

जेईई मेन के अंकों के आधार पर इसकी रैंक तय होती। जितने अधिक अंक होंगे उतनी बेहतर रैंक तय होगी। इसे खबर में दी गई टेबल से समझा जा सकता है।


कौन-कौन से देशों के स्टूडेंट्स भारत में आईआईआई जेईई में शामिल होते हैं? 

देश के IITs में फॉरेन स्टूडेंट्स भी पढ़ाई करते हैं और इसके लिए उन्हें JEE Main एग्जाम देने की जरुरत नहीं होती है। बल्कि फॉरेन स्टूडेंट सीधे JEE Advance को क्वालीफाय करके ही IITs में एडमिशन ले सकते हैं।


आईआईटी कहां कितनी सीटों पर देगा प्रवेश?

जेईई एडवांस 2018 में प्राप्त रैंक के आधार पर भारत में 23 आईआईटी इंस्टीट्यूट में प्रवेश होता है। इसके अलावा, कुछ अन्य संस्थानों में भी प्रवेश जेईई एडवांस के स्कोर के आधार पर होता है।


देश की 23 आईआईटीज में कितने स्टूडेंट्स को मिलेगा एडमिशन?

 एडवांस के बाद लगभग 11000 स्टूडेंट्स को ही देश की 23 आईआईटीज में एडमिशन मिल पाएगा। IIT अपने मैनेजमेंट और अवेलेबल कोर्स के अनुसार कटऑफ जारी कर स्टूडेंट्स को एडमिशन देंगी। 


पिछले पांच साल में कितना रहा है कट—आॅफ?

पिछले चार-पांच साल के आंकड़ों के ट्रेंड को देखकर यह तथ्य सामने आया है कि जेईई मेन्स से एडवांस क्वालीफाई करने वाले स्टूडेंट्स की संख्या बढ़ रही है, लेकिन एडवांस का कट ऑफ लगातार गिरता जा रहा है।


IIT के पहले बैच में सिर्फ लड़के थे, रूड़की में चलता है सबसे तेज इंटरनेट, जानें कुछ ऐसे दिलचस्प बातें...

 IIT-JEE एग्जाम देने वाला हर स्टूडेंट इसको लेकर एक्साइटेड रहता है, लेकिन इसके बावजूद ज्यादातर लोगों को IIT-JEE से जुड़ी कुछ जरूरी बातें नहीं पता होती हैं। 


कैसे देखें JEE Main 2018 का रिजल्ट?

 रिजल्ट 6 बजे तक जारी किया जा सकता है। रिजल्ट आधिकारिक वेबसाइट jeemain.nic.in पर देखा जा सकेगा। 

 


 

Next News

9 देशों के लोग दे सकते हैं भारत की IIT-JEE, पाक स्टूडेंट्स को नो एंट्री

जून 2016 में भारत सरकार ने 9 देशों को IIT-JEE के लिए परमिशन दी थी। हालांकि पाकिस्तान को इसमें शामिल नहीं किया गया था।

Facts: IIT के पहले बैच में सिर्फ लड़के थे, रूड़की में चलता है सबसे तेज इंटरनेट

IITs में एडमिशन लेने वाले पहले बैच में सिर्फ लड़के ही थी। IIT रूड़की की इंटरनेट स्पीड भारत में सबसे ज्यादा है।

Array ( )