माइक्रोबायोलॉजी ग्रेजुएट के लिए कहां हैं नई संभावनाएं?

माइक्रोबायोलॉजी से ग्रेजुएशन के बाद क्या स्कोप है ? - मोनिका सहरावत

करियर डेस्क । माइक्रोबायोलॉजिस्ट जीवाणुओं और मनुष्यों, जंतुओं व पौधों के बीच के संबंधों का अध्ययन करते हैं। इनकी कई श्रेणियां हैं। उदाहरण के तौर पर मेडिकल माइक्रोबायोलॉजिस्ट मानव व जंतु रोगों में सूक्ष्म जीवाणुओं की भूमिका को जांचते हैं और इन बीमारियों की रोकथाम के तरीके खोजते हैं। एग्रीकल्चरल माइक्रोबायोलॉजिस्ट पौधों की बीमारियों में सूक्ष्म जीवाणुओं की भूमिका का अध्ययन करते हैं।

इसी तरह इंडस्ट्रियल माइक्रोबायोलॉजिस्ट खाद्य उत्पादों के लिए सूक्ष्म जीवाणुओं का इस्तेमाल करते हैं। जनरल माइक्रोबायोलॉजिस्ट सूक्ष्म जीवाणुओं की सभी विशिष्टताओं का अध्ययन करते हैं। माइक्रोबायोलॉजिस्ट रिसर्च संस्थानों की लैबोरेटरी, अस्पताल, फूड एंड बेवरेज इंडस्ट्रीज व फार्मास्यूटिकल फर्म्स में काम करते हैं। लैब का सैटअप और माहौल प्राइवेट या सरकारी सेक्टर के मुताबिक अलग-अलग हो सकता है।

ताकतवर सूक्ष्म जीवाणुओं पर काम करते हुए उन्हें रिपोर्ट तैयार करनी होती है, अपनी खोज के निष्कर्ष निकालने होते हैं। कई डॉक्यूमेंट्स व किताबों को रेफर करना होता है। ऐसे में काम के लिए यहां गहन अध्ययन व बेहतर विश्लेषण क्षमताएं जरूरी होती हैं। बता रहे हैं एक्सपर्ट करियर काउंसलर जितिन चावला . . .


इन संस्थानों से करें पढ़ाई

बीएससी के बाद माइक्रोबायोलॉजी ग्रेजुएट्स अप्लाइड माइक्रोबायोलॉजी, मेडिकल माइक्रोबायोलॉजी, फूड माइक्रोबायोलॉजी, इंडस्ट्रियल माइक्रोबायोलॉजी में एमएससी कर सकते हैं। इसके अलावा जेनेटिक्स, बायोटेक्नोलॉजी, बायो इंफॉर्मेटिक्स, माइक्रोबायल टेक्नोलॉजी, क्लीनिकल रिसर्च, मॉलिक्यूलर बायोलॉजी, बायोकेमिस्ट्री में भी मास्टर्सकर सकते हैं। पीजी के लिए आप दिल्ली यूनिवर्सिटी, जीवाजी यूनिवर्सिटी, देवी अहिल्या विश्वविद्यालय, जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी, पुणे यूनिवर्सिटी, वीआईटी यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में एडमिशन ले सकते हैं।


जॉब के लिए यहां ढेरों हैं अवसर

रोजगार के अवसर फार्मास्यूटिकल्स इंडस्ट्रीज, यूनिवर्सिटीज, प्राइवेट अस्पताल, रिसर्च संस्थानों, पर्यावरण एजेंसियों, फूड इंडस्ट्री, केमिकल इंडस्ट्रीज में उपलब्ध हैं। यहां आप इकोलॉजिस्ट, साइंटिस्ट, मरीन बायोलॉजिस्ट, साइंस राइटर आदि के रूप में काम कर सकते हैं। माइक्रोबायोलॉजी से एमएससी के बाद आप प्राइवेट सेक्टर में मस्कट इंटरनेशनल, सिरोन टेक्नोलॉजी लिमिटेड, एल्फा फार्मा हेल्थकेयर इंडिया प्रावेट लिमिटेड, दी इंडियन होटल्स कंपनी लिमिटेड जैसे संस्थानों में जॉब तलाश सकते हैं।

Next News

पत्रकारिता/एमबीए के साथ लॉ में कहां है मौके बता रहे हैं काउंसलर

एक वकील के लिए कॉर्पोरेट वर्ल्ड मैं कौन से मौके हो सकते हैं? - सचिन कुमार

एमसीए के बाद कहां हैं मौके बता रहे हैं काउंसलर जितिन चावला

एमसीए के बाद करियर की क्या संभावनाएं हैं, मुझे गाइड करें ? -अमित कश्यप

Array ( )