मार्क्स से ही तय होती है रैंक, 326 से ज्यादा नंबर आने पर मिलती है पहली रैंक

जेईई मेन्स मार्क्स VS जेईई मेन्स रैंक

एक्स्पर्ट के अनुसार पिछले 5 साल के डेटा का एनालिसिस करने पर सामने आया कि कितने मार्क्स आने पर संभावित कितनी रैंक मिल सकती है

Next News

अगस्त 2014 में शुरू हुई थी योजना, नोटबंदी के समय 45 हजार करोड़ जमा थे

पीएम नरेंद्र मोदी ने इस योजना को 28 अगस्त 2014 को लॉन्च किया था

Array ( )