JEE MAIN झारखंड : 22वीं रैंक के साथ जमशेदपुर के राहुल बने टॉपर

झारखंड से करीब 35 हजार स्टूडेंट्स इस परीक्षा में शामिल हुए थे। 22वीं रैंक के साथ जमशेदपुर के राहुल कुमार तिवारी स्टेट टॉपर बने हैं। जबकि 96वीं रैंक के साथ रांची के प्रतीक प्रवार ने शहर में टॉप किया है। 

रांची । ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन (जेईई) मेन 2018 का रिजल्ट सोमवार को जारी हुआ। इस परीक्षा में देश भर से 2 लाख 31 हजार 24 बच्चे क्वालिफाई हुए हैं। यानी इतने बच्चे 20 मई को होने वाली जेईई एडवांस की परीक्षा में बैठेंगे। इसमें झारखंड से करीब 35 हजार स्टूडेंट्स इस परीक्षा में शामिल हुए थे। 22वीं रैंक के साथ जमशेदपुर के राहुल कुमार तिवारी स्टेट टॉपर बने हैं। जबकि 96वीं रैंक के साथ रांची के प्रतीक प्रवार ने शहर में टॉप किया है। 

झारखंड के टॉपर

ऑल इंडिया रैंक नाम  शहर

22

राहुल कु. तिवारी

जमशेदपुर

47  आर्यन

बोकारो

72

शुभम कर

जमशेदपुर 

 

रांची के टॉपर

ऑल इंडिया रैंक नाम

96 

प्रतीक प्रवार

122 

हर्षित अग्रवाल

168

प्रभात कुमार

क्या कहते हैं टॉपर्स 

12वीं के साथ ही रोज 5 घंटे की जेईई की तैयारी : प्रतीक प्रवार 
प्रतीक प्रवार ने रांची में टॉप किया है। उन्हें 96वीं रैंक मिली है। उन्होंने बताया कि मैं रोज प्लानिंग के साथ 5-6 घंटे पढ़ाई करता था। यह किसी दिन मिस नहीं किया। 12वीं के साथ ही जेईई की तैयारी अपनी रूटीन में शामिल कर लिया था। आज वह अनुशासन काम आया। 

12वीं बोर्ड के दो महीने पहले से जेईई के लिए स्ट्रैटेजिक पढ़ाई की: हर्षित अग्रवाल
हर्षित ने जेईई मेंस में 314 अंक प्राप्त किए हैं। उनकी ऑल इंडिया रैंक 122 है। उन्होंने बताया कि वह रोजाना केवल 4-5 घंटे घर पर पढ़ाई करते थे। खेद-कूद के साथ टीवी भी देखते थे। 12वीं बोर्ड के दो महीने पहले से स्ट्रैटजी के साथ पढ़ाई ने परीक्षा में सफलता दिलाई। 

पहली बार 540 रैंक मिली, दूसरी बार में थर्ड टॉपर : प्रभात कुमार 
प्रभात कुमार ने कहा कि वह पिछली बार भी इस परीक्षा में सफल हुए थे। उस वक्त 540 रैंक मिली। इससे प्रभात खुश नहीं थे। इसलिए, उनहोंने इस बार दोबारा परीक्षा दी। 168 रैंक के साथ रांची के थर्ड टॉपर बने। अपनी सफलता और निर्णय से खुश हैं। प्रभात इस वक्त वह पतरातू के पीडीएस कॉलेज में पढ़ रहे हैं। 

 

Next News

JEE MAIN रायपुर : ऑल इंडिया 99 रैंक के साथ सुयश रहे सिटी टॉपर

शहर से लगभग 10 हजार स्टूडेंट्स जेईई मेंस में शामिल हुए थे, जिसमें से लगभग डेढ़ हजार स्टूडेंट जेईई एडवांस के लिए क्वालिफाई करने में कामयाब रहे हैं।

JEE MAIN : पिछले 5 साल में 2 लाख से ज्यादा कम हुई कैंडीडेट्स की संख्या

इस साल मेन में करीब साढे 11 लाख स्टूडेंट्स शामिल हुए थे। जो पिछले सालों के मुकाबले कम थे। ये आकड़ा पिछले कुछ सालों से लगातार गिरता जा रहा है। पिछले 5

Array ( )