IIT-JEE Advanced: डेसिमल का कंफ्यूजन दूर ,मार्किंग पैटर्न में बदलाव

एडवांस्ड के अगले ही दिन आईआईटी कानपुर ने दी राहत, तीन उदाहरण देकर समझाया पैटर्न।

एजुकेशन डेस्क, कोटा। पहली बार ऑनलाइन हुए आईआईटी के एग्जाम में डेसिमल के क्वेश्चन नें स्टूडेंट्स को बहुत कंफ्यूज किया। स्टूडेंट्स के कंफ्यूजन को राहत देने के लिए आईआईटी कानपुर ने जेईई एडवांस्ड समाप्त होने के अगले ही दिन न्यूमेरिकल वैल्यू के उत्तरों पर तीन उदाहरण देते हुए स्थिति को साफ कर दिया है। अब उन स्टूडेंट्स को भी अंक अवार्ड हो जाएंगे, जिन्होंने एक विंडो लिमिट में भी आंसर दिया है। 

स्टूडेंट्स ने किए थे मेल

- एडवांस्ड के बाद कई स्टूडेंट्स ने न्यूमेरिकल वैल्यू के संबंध में जोनल आईआईटीज व आईआईटी कानपुर को मेल किए थे।
- छात्रों का कहना है कि अगर किसी सवाल का उत्तर 7.00 की जगह सात ही लिख दिया है तो क्या वह सही माना जाएगा।
- पहली बार एग्जाम में डेसिमल में आंसर्स देने का पैटर्न सामने आया था। 

मॉक टेस्ट में नहीं पूछे थे डेसिमल में आंसर 

- ऑनलाइन जेईई एडवांस्ड की तैयारियों के लिए आईआईटी ने मॉक टेस्ट पेपर जारी किए थे।
- ग्रामीण क्षेत्र के स्टूडेंट्स के लिए जवाहर नवोदय व केंद्रीय विद्यालयों में मॉक टेस्ट की सुविधा दी थी।
- मॉक टेस्ट में न्यूमेरिकल वैल्यू के सवालों के उत्तर सिंगल डिजिट में जारी किए थे।
- इस कारण एग्जाम में डेसिमल में आंसर्स पूछे गए तो स्टूडेंट्स असमंजस में पड़ गए थे। 

आईआईटी ने दिया सही सर्टिफिकेट अपलोड करने का मौका 

- अब जेईई एडवांस्ड की वेबसाइट पर नए सर्टिफिकेट, करेक्शन किए गए सर्टिफिकेट और प्रॉपर सर्टिफिकेट अपलोड करने का मौका दिया है। एडवांस्ड की साइट पर जारी कैंडिडेट पोर्टल पर जाकर सर्टिफिकेट अपलोड कर सकते हैं। 

आईआईटी ने ऑनलाइन पेपर किए अपलोड 

- जेईई एडवांस्ड के पेपर सोमवार रात को वेबसाइट पर अपलोड कर दिए गए हैं। पेपर 1 व पेपर 2 हिंदी व अंग्रेजी भाषा में अपलोड किए गए हैं।
- 22 से 25 तारीख तक रिकॉर्डेड रिस्पोंस भी स्टूडेंट्स को मेल कर दिए जाएंगे।
- आंसर-की 29 मई को जारी की जाएगी। 30 तक आपत्तियां भेजनी होंगी।

ऐसे होगी अब न्यूमेरिकल वैल्यू के आंसर्स की मार्किंग 

- आईआईटी ने पहला उदाहरण देते हुए समझाया है कि अगर किसी क्वेश्चन का आंसर 11 है और स्टूडेंट्स ने इसका आंसर 11, 11.0 व 11.00 दिया है तो उसका आंसर सही माना जाएगा। 
- किसी क्वेश्चन का आंसर 11.5 है और अगर स्टूडेंट्स ने उसका आंसर स्टूडेंट्स ने 11.5 व 11.50 भी दिया है तो उसको भी सही माना जाएगा। 
- किसी क्वेश्चन का आंसर 11.367777777 है और स्टूडेंट ने आंसर 11.36 से लेकर 11.37 तक की रेंज में भी दिया है तो वो सही माना जाएगा।

10 जून को आएगा रिजल्ट 

- पेपर लीक होने के मामले को देखते हुए 25 मई को आंसर-की जारी कर दी जाएगी। इसके बाद 29 मई को फाइनल आंसर लिस्ट जारी की जाएगी। 10 जून को जेईई-एडवांस का रिजल्ट घोषित किया जाएगा।

ऐसा था न्यूमेरिकल सवालों के पैटर्न

- पहली बार पेपर में मल्टीपल चॉइसेस क्वेश्चन में तीन करेक्ट ऑप्शन दिए गए थे। तीनों को सही करने पर चार मार्क्स और एक भी गलत आंसर होने पर दो मार्क्स की नेगेटिव मार्किंग थी।
- ऐसे 6 सवाल थे जिनके करेक्ट आंसर ऑप्शन एक से ज्यादा थे। इन सवालों की 4 पार्शल मार्किंग रखी गई थी।
- पहली बार इंटीजर बेस्ड क्वेश्चंस में जवाब डेसिमल के बाद दो प्लेसेज तक के मांगे गए थे। इस तरह के कुल 16 सवाल पूछे गए थे। जो स्टूडेंट्स को राउंड ऑफ में भरने थे, इससे स्टूडेंट्स काफी कंफ्यूज हुए।
- अब तक जेईई एडवांस्ड में सिंगल डिजिट इंटीजर के सवाल होते थे। 

ऑफिशियल वेबसाइट पर जाने के लिए यहां क्लिक करें 

Next News

IIT-JEE Advanced: डेसिमल में उलझे स्टूडेंट्स, इंटरनेट ने किया परेशान

पहली बार ऑनलाइन हुए आईआईटी एडवांस्ड के एग्जाम में देशभर के 1.60 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स शामिल हुए थे।

IIT-JEE Advanced: 5,625 कैंडिडेट्स एब्सेंट, एक सीट पर 14 दावेदार

अगर जेईई मेन क्वालिफाई करने सभी कैंडीडेट्स एडवांस के दोनों पेपर्स में अपीयर होते, तो एक सीट पर 21 दावेदार होते।

Array ( )