IIT-JEE Adavanced:गर्ल्स के लिए बढ़ाईं 779 सीट्स से गिरेगा कटऑफ

128 से नीचे जा सकता है जनरल का कटऑफ, आईआईटी कानपुर ने इंटीजर टाइप सवालों के संबंध में जारी किया क्लेरीफिकेशन, 25 को मिलेगी ORS शीट

एजुकेशन डेस्क। आईआईटी कानपुर के द्वारा पहली बार ऑनलाइन हुए जेईई एडवांस के एग्जाम में इस बार देशभर के स्टूडेंट्स को इंटीजर सवालों ने खासा उलझाया था। इन सवालों में  डेसिमल के दो अंकों तक बढ़ाई गई रेंज के कारण कई स्टूडेंट्स क्वेश्चन पेपर के लगभग 49 सवालों को गलत ठहरा रहे हैं। जिसके जवाब में अंतत: मंगलवार को आईआईटी कानपुर ने जेईई एडवांस की ऑफीशियल वेबसाइट पर उदाहरणों के साथ क्लेरीफिकेशन नोट डाला। इसमें समझाया गया है कि आखिर किस तरह के जवाबों को सही जवाब माना जाएगा और किस तरह की मार्किंग स्कीम कॉपीज को जज करने में फॉलो की जाएगी। एक्सपर्ट्स की मानें तो इस बार पेपर के टफ होने और आईआईटीज में गर्ल्स रिजर्वेशन के लिए बढ़ाई गई 779 सीट्स के कारण जेईई एडवांस का कटऑफ नीचे गिरने की उम्मीद है। 

क्लेरीफिकेशन में उदाहरणों के साथ स्पष्ट की मार्किंग स्कीम 
- स्टूडेंट्स को इस बार न्यूमेरिकल आंसर टाइप सवालों के आंसर दशमलव के दो डिजिट्स तक लिखने के ऑप्शंस दिए गए थे, जिसमें जवाब यदि इंटीजर नंबर 11 है, तो ऐसे में 11, 11.0 और 11.00 सभी जवाब सही माने जाएंगे।
- इसी तरह यदि जवाब 11.5 है, तो 11.5 और 11.50 सही जवाब होगा।
- वहीं यदि आंसर 11.367777... आता है, स्टूडेंट्स 11.36 और 11.37 के बीच का कोई भी आंसर भर सकते हैं, दोनों ही आंसर सही होंगे और मार्क्स दिए जाएंगे। 

2017 की तुलना में इस बार हर कैटेगरी में कम होगा कटऑफ 
- जेईई एक्सपर्ट मितेश राठी ने बताया, 2017 में जरनल कैटेगरी में 128 कटऑफ गया था, जबकि ओबीसी कैटेगरी में स्टूडेंट्स को 115 मार्क्स तक कंसीडर किया गया था।
- इस बार यह कटऑफ सीट्स के बढ़ने और पेपर टफ होने दोनों ही वजहों से गिरने की उम्मीद है।
- स्टूडेंट्स का स्कोर कम होगा, लेकिन रैंक में इम्प्रूवमेंट नजर आएगा।
- स्टूडेंट्स की ऑप्टिकल रिस्पॉन्स शीट 25 मई तक जेईई एडवांस द्वारा जारी की जाएगी, जिसके बाद आंसर-की 29 मई को आएगी।
- आंसर-की आने के बाद स्टूडेंट्स अपने मार्क्स एज्यूम कर पाएंगे। 

इंजीनियरिंग संस्थानों में जेंडर गैप घटाने बढ़ाईं जा रही हैं सीट्स 
- टॉप इंजीनियरिंग संस्थानों में जेंडर गैप को घटाने के लिए एमएचआरडी के निर्देशों पर गर्ल्स रिजर्वेशन के कारण इस बार 779 सीट्स ज्यादा मिल रही हैं।
- मिनिस्ट्री के सुझाव के मुताबिक, जेईई एडवांस के लिए गर्ल्स की अलग मेरिट लिस्ट बनेगी, जिससे तय हो जाएगा कि आईआईटी में 14 परसेंट एडमिशन गर्ल्स को मिले।
- एक्सपर्ट का कहना है कि अगर एडवांस के लिए गर्ल्स ज्यादा मेहनत करें तो गर्ल्स रिजर्वेशन में अच्छी परफॉर्मर को मेन स्ट्रीम और एवरेज स्टूडेंट्स को ऑफबीट ब्रांच आसानी से मिल जाएगी।
- यह भी अनुमान है कि 15 हजार तक रैंक लाने वाली गर्ल्स को आईआईटी में आसानी से सीट मिल जाएगी। 2017 में आईआईटीज की 10587 सीट्स पर एडमिशन दिया गया, जिसमें 1006 गर्ल्स थीं।
- इस परसेंटेज को बढ़ाने के लिए इन 779 सुपरन्यूमरेरी सीट्स क्रिएट की गई हैं। हालांकि इससे मेल कैंडिडेट्स के लिए उपलब्ध सीटें नहीं घटेंगी। 

गर्ल्स के लिए 14% का रिजर्वेशन

- आईआईटीज और एनआईटीज में गर्ल्स रेशो बढ़ाने के लिए टोटल 14 परसेंट सीट का रिजर्वेशन रखा गया।
- रिजर्वेशन के तहत आईआईटी और एनआईटीज की हर ब्रांच में हर कैटेगरी की 14 परसेंट सीट्स गर्ल्स के लिए होंगी। यानी सीएस, इलेक्ट्रिकल्स सहित अलग-अलग ब्रांचेज में ओबीसी, एसटी और एससी की की अलग-अलग 14 परसेंट रिजर्वेशन दिया जाएगा।
- अभी तक आईआईटी में छात्राएं सिर्फ 8 परसेंट और एनआईटीज में 18 परसेंट है। अगर विदेशों से तुलना करें तो ये परसेंटेज बहुत ही कम है क्योंकि फॉरेन में 49 परसेंट तक गर्ल्स टेक्नीकल इंस्टीट्यूट में पढ़ रही है। 


2017 में यह था कैटेगरी वाइज कटऑफ 

कैटेगरी     

कटऑफ मार्क्स

कटऑफ परसेंटेज 

जनरल

128 35%

ओबीसी

116 31.50%

एसी

64 17.50%

एसटी 

64 17.50%

 

किस आईआईटी में कितनी सीट्स बढ़ीं 

कॉलेज 

बढ़ीं सीटें

कुल सीटें

खड़गपुर

113 1341

धनबाद

95 962

कानपुर 

79 827

भुवनेश्वर 

76 180

रूड़की 

68 1065

दिल्ली

59 851

मुंबई

58 880

गुवाहाटी

57 660

गर्ल्स रिजर्वेशन कुल सीट : 779


 

Next News

IIT-JEE Advanced: पेपर रहा टफ, 17% कम रहेगा कटऑफ

नेगेटिव मार्किंग स्कीम के कारण फ़र्स्ट पेपर के बाद 17 हजार स्टूडेंट्स ने पेपर-2 नहीं दिया था।

IIT-JEE Advanced: आज मिलेंगे रिकॉर्डेड रिस्पोंस, 29 मई को आएगी आंसर-की

जेईई एडवांस में सफल होने वाले कैंडिडेट को आईआईटी की कुल सीटों 10,988 पर प्रवेश दिया जाएगा।

Array ( )