IIT में 14% ज्यादा होंगी लड़कियां जेईई एडवांस में बढ़ेंगी चार हजार सीटें

देशभर की सभी आईआईटीज़ में इस सत्र से लड़कियों के लिए कुल 779 सीट्स बढ़ाई जाएंगी। एमएचआरडी द्वारा जेंडर बैलेंस के लिए जारी किए गए निर्देशों के बाद 2018-19 के सत्र से सभी आईआईटीज़ को लड़कियों की संख्या 14 फीसदी रखना जरूरी है।

एजुकेशन डेस्क। जेईई एडवांस के लिए भी सीट बढ़ाई हैं। पिछले साल जहां एडवांस में 2 लाख 20 हजार स्टूडेंट्स शामिल हुए थे वहीं इस बार 2 लाख 24 हजार स्टूडेंट्स परीक्षा दे सकेंगे। जेईई मेन का रिज़ल्ट जारी होने के बाद 2 मई से एडवांस्ड के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू होगी। गर्ल्स की सीट बढ़ाने की वजह से कम नहीं होंगी बॉयज की सीट- एमएचआरडी के निर्देश के बाद आईआईटीज़ ने सुपरन्यूमरेरी सीट्स के जरिए लड़कियों की संख्या बढ़ाना सुनिश्चित किया है। 

कम नहीं होंगी लड़कों की सीटें
2018-19 के एकेडमिक सेशन के लिए सभी आईआईटीज़ को क्लास में लड़कियों की संख्या 14 फीसदी रखना जरूरी है। इससे आईआईटी में लड़कों की कुल सीट संख्या पर असर नहीं होगा। एक्सपर्ट्स के मुताबिक यदि कुल 100 सीटों में से 8 सीटों पर लड़कियों को एडमिशन मिला है तो शेष 6 सीटों के लिए लड़कियों की अलग मेरिट लिस्ट जारी की जाएगी। इस लिहाज़ से लड़कों की सीटें कम नहीं होंगी। 

779 सीटों का होगा इजाफा
पिछले साल 23 आईआईटी की कुल 10 हजार 988 सीटों में से महज़ 1006 सीटों पर लड़कियों ने एडमिशन लिया था। 2018-19 के लिए फीमेल कैंडिडेट्स के लिए कुल 779 सीटों का इज़ाफा किया जाएगा। इससे गर्ल्स को आईआईटी में एडमिशन लेने में फायदा मिलेगा। 
 

Next News

JEE Mains: Ans Key में है ऑब्जेक्शन तो अप्लाय करने की आज लास्ट डेट

जो भी स्टूडेंट्स आंसर-की से सहमत नहीं हैं तो वे इसे चुनौती दे सकते हैं। चुनौती देने की आखिरी तारीख 27 अप्रैल है। इसके लिए 1000 रूपए फीस तय की गई है।

JEE ADVANCE 2018 : एग्जाम में अच्छा स्कोर करने के लिए अपनाएं ये टिप्स

मेन्स क्वॉलिफाई करने वाले JEE Advanced 2018 में शामिल होंगे। JEE Advanced 2018 परीक्षा 20 मई को होगी । एक्सपर्ट्स की मानें तो इस साल कटऑफ 95 से 105 के

Array ( )