Articles worth reading

वीरप्पन ने तीन दशक तमिलनाडु और कर्नाटक की

मेन एग्जाम 4 नवंबर को आयोजित किया जाएगा।

नीट मेडिकल और डेंटल एंट्रेंस एग्जाम

IIM INDORE: आईपीएम एप्टिट्यूड टेस्ट आज, 28 शहरों में हो रही एग्जाम

टेस्ट शुरू होने के ढाई घंटा पहले पहुंचना होगा सेंटर, जूलरी व पेन-पेंसिल भी प्रतिबंधित

एजुकेशन डेस्क, इंदौर। आईआईएम इंदौर के पांच सालाना कोर्स आईपीएम में एडमिशन के लिए शुक्रवार को देशभर में एप्टिट्यूड टेस्ट होगा। देश के 28 शहरों में होने वाले ऑनलाइन टेस्ट के लिए स्टूडेंट्स को बेहद सख्त नियमों से गुज़रना होगा। सुबह 10 बजे शुरू होने वाले टेस्ट के लिए स्टूडेंट्स को ढाई घंटा पहले 7.30 बजे सेंटर्स पर रिपोर्ट करना ज़रूरी है। आईआईएम द्वारा जारी निर्देशों के मुताबिक 9.30 बजे के बाद किसी भी स्टूडेंट को एग्ज़ाम हॉल में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। स्टूडेंट्स को हॉल में ओरिजनल एडमिट कार्ड के अलावा कुछ भी चीज़ ले जाने की अनुमति नहीं होगी। इसमें पेन-पेंसिल, जूलरी, कैल्कुलेटर और किसी भी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स शामिल हैं। प्रवेश के लिए स्टूडेंट्स को ओरिजनल फोटो, आइडेंटिटी कार्ड और उसकी सेल्फ अटेस्टेड फोटोकॉपी लाना होगी। 

मोबाइल और बैग रखने की भी इजाज़त नहीं 

- आईआईएम ने स्टूडेंट्स को साफ निर्देश दिए हैं कि वे अपने साथ मोबाइल या बैग जैसी कोई चीज़ एग्ज़ाम सेंटर पर न लेकर आएं क्योंकि इन्हें रखने की सुविधा भी नहीं दी जाएगी। ओरिजनल एडमिट कार्ड पर स्टूडेंट्स को अपना एक फोटो लगाने के साथ उसे सेल्फ अटेस्ट भी करना होगा। हॉल में एंट्री के बाद सभी स्टूडेंट्स को यूज़र इंटरफेस चेक करवाए जाएंगे ताकि टेस्ट शुरू होने के बाद परेशानी ना हो। 

पहली बार होंगे सब्जेक्टिव आंसर 

- एक्सपर्ट अतुल जैन के अनुसार पेपर दो सेक्शन में होगा। क्वांटिटेटिव एप्टिट्यूड और वर्बल एबिलिटी के बीच 60:40 का अनुपात होगा। आईपीएम टेस्ट में स्टूडेंट्स से पहली बार सब्जेक्टिव सवाल पूछे जाएंगे। इन सवालों का जवाब स्टूडेंट्स को तीन सा चार लाइनों में लिखकर देना होगा। 100 सवालों के पेपर में सही जवाब पर 4 अंक मिलेंगे। गलत जवाब पर एक अंक काटा जाएगा। 

Next News

माइनॉरिटी स्कॉलरशिप स्कीम का फायदा ले रहे 10 इंस्टीट्यूट्स के खिलाफ FIR 

अमरोहा और संभल जिले के 5-5 इंस्टीट्यूट्स के नाम शामिल हैं।

UG-PG में अब किसी भी उम्र में होगा एडमिशन, ये होगा फायदा

गुरुवार को मध्य प्रदेश के हायर एजुकेशन डिपार्टमेंट ने यूजी और पीजी कोर्सेस की एज लिमिटेशन को खत्म कर दिया। अभी तक यूजी के लिए 23 और पीजी के लिए 28 साल

Array ( )