ICAI ने अपने सिलेबस में किया बदलाव, CA स्टूडेंट को जरूर पढ़ना चाहिए

ICAI के नए सिलेबस के तहत सीए फाइनल के स्टूडेंट्स के पेपर में कुछ बदलाव किए गए हैं।

एजुकेशन डेस्क। द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया द्वारा नया सिलेबस लागू कर दिया गया है। इस नए सिलेबस के तहत सीए फाइनल के स्टूडेंट्स के पेपर में कुछ बदलाव किए गए हैं। 

सीए फाइनल एग्जाम में पहली बार ओपन बुक सिस्टम से होगा इलेक्टिव सब्जेक्ट का पेपर 

पहली बार आईसीएआई ओपन बुक सिस्टम से एग्जाम लेने जा रहा है। मई में होने वाले एग्जाम में इलेक्टिव सब्जेक्ट में स्टूडेंट बुक और नोट्स के साथ एग्जाम दे सकेंगे। सीए फाइनल में स्टूडेंट्स को अनिवार्य विषयों के अलावा स्पेशलाइजेशन के लिए छह में से एक इलेक्टिव विषय को चुनना होता है। इसी इलेक्टिव सब्जेक्ट का पेपर ओपन बुक बेस्ड होगा, जिसमें स्टूडेंट्स नोट्स, मॉड्यूल या बुक लेकर जा सकेंगे और बुक देखकर पेपर सॉल्व कर सकेंगे। रिस्क मैनेजमेंट, फाइनेंशियल सिक्योरिटीज एंड केपिटल मार्केट, इंटरनेशनल टैक्सेशन, इकॉनोमिक लॉ, ग्लोबल फाइनेंशियल रिपोर्टिंग स्टैंडर्ड और मल्टीडिस्पिलनरी केस स्टडी जैसे इलेक्टिव सब्जेक्ट में शामिल हैं। 

इसलिए यह पैटर्न 

ये पैटर्न इसलिए शामिल किया गया है, ताकि सीए बनने जा रहा स्टूडेंट्स कॉम्पलेक्स लॉ और वर्किंग को समझ सकें। उनकी क्रिटिकल और एनालिटिकल थिंकिंग स्ट्राॅन्ग हो और वे अपने कार्य में दक्ष बनें। पहले साल ओपन बुक सिस्टम को थोड़ा आसान रखा जा सकता है, लेकिन आने वाले सालों में यह कठिन होगा, ताकि स्पेशलाइजेशन वाले विषय में स्टूडेंट्स की जानकारी गहरी हो। 

कठिन होगा पेपर सॉल्व करना 

एक्सेल सीए क्लासेस के सीए प्रवीण गोलछा के अनुसार, किताब देखकर पेपर सॉल्व करना सुनने में आसान लगता है, लेकिन आसान होगा नहीं। सीएस में ओपन बुक एग्जाम का कॉन्सेप्ट पहले से है। सीएस स्टूडेंट्स का एक्सपीरियंस अच्छा नहीं रहा है। उन्हें पेपर सॉल्व करने में प्रॉब्लम होती है। इसी तरह सीए के स्टूडेंट्स को भी पेपर सॉल्व करने में दिक्कत होगी। पेपर में सवाल केस स्टडी के रूप में आएंगे। यानी क्रिटिकल थिंकिंग एप्लाई करना होगी, ठीक वैसे जैसे क्लाइंट से बात कर केस स्टडी करते हैं। 

आईसीएआई का इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी टेस्ट 22 को, नहीं बदल सकेंगे सेंटर 

सीए की तैयारी करने वाले स्टूडेंट्स को इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एवं सॉफ्ट स्किल्स के एडवांस्ड इंटीग्रेटेड कोर्स के लिए इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी टेस्ट देने का मौका मिलेगा। यह टेस्ट 4 अलग-अलग डेट्स में होगा। जिसके लिए स्टूडेंट्स को अभी से तैयारी करनी होगी, ताकि वे अपना फाइनल रिवीजन कर टेस्ट दे सकें। पहला टेस्ट 22 अप्रैल को होगा। 

देशभर के 60 एग्जाम सेंटर्स में लिया जाएगा टेस्ट 

यह टेस्ट देशभर के कुल 60 परीक्षा केंद्रों में होगा। इसमें स्टूडेंट्स अपनी आईटी स्किल्स को जज कर पाएंगे। टेस्ट के लिए यदि स्टूडेंट्स पहले से ही एक परीक्षा केंद्र चुन चुके हैं, तो वे इसे दोबारा बदल नहीं पाएंगे। इस टेस्ट से जुड़ी सभी डिटेल्स इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) की वेबसाइट पर अपलोड कर दी गई है। 

Next News

सीटीईटी के सिलेबस में बदलाव,अब मैथ्स के साथ साइंस के भी सवाल पूछे जाएंगे

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन (सीबीएसई) मई में केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) कराएगा। इसमें मैथ के साथ-साथ साइंस से जुड़े प्रश्न भी पूछे

लाइव रिजल्ट के लिए गूगल का CBSE से करार, जुड़े कई नए फीचर

सीबीएसई के हर एग्जाम रिजल्ट के अलावा गूगल के जरिए डेटशीट और रजिस्ट्रेशन से जुड़ी जानकारी भी अपडेट होती रहेगी।

Array ( )