रिजल्ट के बाद स्ट्रेस को दूर करने के लिए आजमाएं ये टिप्स

रिजल्ट अगर बिगड़ जाता है तो उसके बारे में ज्यादा सोचने की बजाय अपनी फ्यूचर प्लानिंग पर फोकस करें।

एजुकेशन डेस्क, भोपाल। एग्जाम रिजल्ट्स आने शुरू हो गए हैं। हर दिन किसी न किसी बोर्ड का रिजल्ट जारी किया जाता है। एग्जाम में कुछ स्टूडेंट्स पास होते हैं, तो वहीं कुछ स्टूडेंट्स उम्मीद के मुताबिक नहीं कर पाते या उन्हें कम मार्क्स आते हैं। रिजल्ट के बाद सबसे ज्यादा टेंशन न सिर्फ बच्चों को बल्कि उनके पैरेंट्स को भी होता है। जबकि टेंशन या स्ट्रेस लेने से कुछ बदलने वाला नहीं है। रिजल्ट के स्ट्रेस की वजह से कई बच्चों की तबीयत तक खराब हो जाती है। इसलिए bhaskareducation.com बताने जा रहा है कि एग्जाम रिजल्ट के बाद अपने स्ट्रेस को किस तरह से दूर करें।

1. अपनी तैयारी को रिवाइज करें

- रिजल्ट अगर उम्मीद के मुताबिक नहीं आया है तो स्ट्रेस लेने की बजाय अपनी गलतियों के बारे में सोचें। एग्जाम के दौरान की गई प्लानिंग को रिवाइज करें। ये इसलिए भी जरूरी है क्योंकि इससे जो गलतियां पहले कर चुके हैं, उन्हें दोहराने से बच जाते हैं।

2. अपने खास दोस्त से बात करें

रिजल्ट आने के बाद अपना स्ट्रेस या टेंशन दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है, अपने दोस्तों के साथ टाइम स्पेंड करें। अपने मन में जो भी बात हो, उसे शेयर करें। सिर्फ दोस्त ही नहीं, बल्कि अपने पैरेंट्स के साथ भी टाइम स्पेंड करें, उनसे अपनी परेशानी शेयर करें। 

3. पुराना भुलाएं और फ्यूचर प्लानिंग करें

रिजल्ट चाहे जैसा रहा हो, लेकिन उसके बारे में ज्यादा न सोचें। टेंशन लेने से कुछ भी बदलने वाला नहीं है। इससे बेहतर होगा कि फ्यूचर प्लानिंग की तैयारी करें। रिजल्ट को भूलकर आगे क्या करना है, इसके बारे में सोचें।

4. कभी कंपेरिजन न करें

अक्सर रिजल्ट आने के बाद पैरेंट्स अपने बच्चों को किसी दूसरे बच्चों से कंपेयर करने लगते हैं, जो काफी गलत है। इससे बच्चों का टेंशन और स्ट्रेस बढ़ता है। इसके साथ ही रिजल्ट बिगड़ने के बाद बच्चे अपने दोस्तों से खुद को कंपेयर करने लगते हैं। इससे बच्चों के डिप्रेशन में जाने का खतरा भी बढ़ जाता है। 

5. एल्कोहल या स्मोकिंग न करें

देखा जाता है कि रिजल्ट बिगड़ने के बाद कई बच्चे टेंशन में आकर एल्कोहल और स्मोकिंग करने लगते हैं। इससे स्ट्रेस दूर होने की बजाय और बढ़ जाता है, साथ ही सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है। माना कि अच्छे फ्यूचर के लिए रिजल्ट भी अच्छा होना चाहिए, लेकिन ऑप्शंस की अब कमी नहीं है।

पैरेंट्स के लिए कुछ जरूरी टिप्स

- बच्चों से बहुत ज्यादा एक्स्पेक्टेशन न रखें। जो रिजल्ट आया है, उसे ही एक्सेप्ट करें।
- रिजल्ट खराब आने पर दूसरे बच्चों से अपने बच्चों को कंपेयर न करें।
- रिजल्ट बिगड़ने का स्ट्रेस पैरेंट्स को भी होता है, लेकिन इस स्ट्रेस को बच्चे के सामने जाहिर करने से बचें।
- बच्चे के बिहेवियर पर नजर रखें। रिजल्ट के बाद अगर बच्चा अकेला बाहर जा रहा है या कमरे में बंद हो रहा है, तो उसे ऐसा न करने दें।
- बच्चे का रिजल्ट खराब आने के बाद उसे डांटे नहीं और न ही उसके रिजल्ट का जिक्र दूसरे लोगों के सामने करें।
- रिजल्ट बिगड़ने के बाद भी अगर बच्चा टेंशन नहीं ले रहा है, तो उस पर गुस्सा न करें। 

Next News

सोशल मीडिया यूजर्स के लिए जरूरी है इन कानूनों की जानकारी

यहां सोशल मीडिया से जुड़े कुछ कानूनों की जानकारी दी गई है, जो आपको इंटरनेट इस्तेमाल के दौरान सावधानी बरतने में काम आएगी।   

करंट अफेयर्स / 10 May-18 : शहरी गैस वितरण की सबसे बड़ी नीलामी

प्रतियाेगी परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण करंट अफेयर्स

Array ( )