म्यूजिक में है इंटरेस्ट तो 10th के साथ ही करें परफॉर्मिंग आर्ट में ग्रेजुएशन

मन काे सुकून देने वाला म्यूजिक आपके कॅरियर के लिए भी बेहतर साबित हाेता है। परफेक्शन और नॉलेज से इस फील्ड पर अपनी छाप छोड़ सकते हैं।

एजुकेशन डेस्क। म्यूजिक वर्ल्ड में इंटरेस्ट गाॅड गिफ्ट होता है। लेकिन अब प्रोफेशनल कोर्सेस के जरिए इस गिफ्ट को अपना बेस्ट कॅरियर ऑप्शन बना सकते हैं। इसके लिए ज्यादा परेशान नहीं होना पड़ता। बल्कि रेग्युलर स्टडी के साथ ही कई डिग्री और डिप्लोमा करके फ्यूचर तैयार कर सकते हैं। देश के कई राज्यों में म्यूजिक यूनिवर्सिटीज हैं, जो स्पेशल डिग्री और  िडप्लोमा कोर्स करवाती हैं। जिन्हें कोई भी स्टूडेंट किसी भी क्लास और एज में शुरू कर सकता है। वहीं 12th के बाद भी इन्हें कंटीन्यू करके पोस्ट ग्रेजुएशन और पीएचडी भी करने का आॅप्शन उपलब्ध रहता है। 

मिलती हैं ये उपाधियां 
संगीत में स्टडी के लिए संगीत प्रवेशिका (सीनियर सेकेंडरी समकक्ष), संगीत विशारद (ग्रेजुएट लेवल) और संगीत अलंकार (पोस्ट ग्रेजुएट लेवल) जैसे डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स होते हैं। इस प्रकार इन सभी कोर्सेस के जरिए आपको संगीत में पारंगत होने के लिए 8 साल का टाइम देना होता है।

केटेगरीज भी हैं कई

सितार, बांसुरी, तबला, हारमोनियम और वायलिन जहां इंस्ट्रूमेंटल में आते हैं। वहीं  वोकल, डांस, ड्रामा के लिए भी अलग-अलग कोर्स और फैकल्टी इन इंस्टीट्यूशन्स में मौजूद रहती हैं। लोकल लेवल पर एफिलिटेड कॉलेज और इंस्टीट्यूट से रजिस्ट्रेशन करवाकर डिग्री और डिप्लोमा लिया जा सकता है। 

ये हैं प्रमुख इंस्टीटयूट्स

  • फिल्म और टेलीविजन इंस्टीट्यूट पुणे
  • राष्ट्रीय नाट्य कला अकादमी, नई दिल्ली
  • भारतेंदु नाट्य कला अकादमी गोमती नगर, लखनऊ,
  • नेशनल सेंटर फॉर परफॉर्मिंग आर्ट्स, मुंबई 
  • कलकत्ता विश्वविद्यालय
  • एतिल्डे महाविद्यालय ऑफ़ दिल्ली
  • एतिल्डे महाविद्यालय ऑफ़ राजस्थान
  • दिल्ली संगीत समाज, नई दिल्ली
  • हिमाचल प्रदेश महाविद्यालय 
  • इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय  
  • जय नारायन व्यास महाविद्यालय
  • बनारस हिन्दू महाविद्यालय
  • कुरुक्षेत्र महाविद्यालय  
  • सरस्वती संगीत कॉलेज 
  • विश्व भारती विश्वविद्यालय  
  • दिल्ली विश्वविद्यालय 
  • राजा मानसिंह तोमर यूनिवर्सिटी ग्वालियर 
  • गंधर्व यूनिवर्सिटी खैरागढ़ 
Next News

करियर के प्लस पॉइंट बन सकते हैं 10th के बाद होने वाले डिप्लोमा कोर्स

10th के बाद से ही करियर का सही डायरेक्शन में बढ़ता है। इसलिए अपनी पसंद और मौजूदा दौर में बेस्ट आॅप्शन को चुनना इम्पोर्टेन्ट होता है।

कॅरियर की परफेक्ट ग्रोथ के लिए 10th के बाद से ही शुरू करें कॉम्पीटीटिव की तैयारी

10th के बाद स्टूडेंट्स कॅरियर की पहली सीढ़ी पर होते हैं। यहीं से कॉम्पटीटिव एग्जाम्स की तैयारी शुरू करने से सबजेक्ट पर अच्छी पकड़ बना सकते हैं।

Array ( )