NEET 2018: मॉक टेस्ट बढ़ाएगा स्कोर, फॉलो करें लास्ट मोमेंट्स टिप्स

पेपर को सॉल्व करने एलिमिनेशन टेक्नीक यूज कर सकते हैं। सभी क्वेशचन्स के ऑप्शन्स को ध्यान से पढ़ें। इनमें से गलत को अलग कर दें। फिर पॉसिबल आन्सर टिक करें।

एजुकेशन डेस्क। मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन के लिए नीट-2018 के पहले लास्ट मोमेंट प्रिपरेशन काफी मायने रखती है। इस बार यह एग्जाम 6 मई को होने जा रहा है। कैंडिडेट्स को इस टाइम की वैल्यू समझनी होगी। अगर वे बाकी दिनों में बेहतर तैयारी कर लेते हैं तो एग्जाम में मिलने वाला स्कोर निश्चित रूप से 3-5% तक बढ़ जाएगा। इसके साथ ही जिन स्टूडेंट्स ने मॉक टेस्ट्स में 500 स्कोर आ रहा है, वे बाकी दिनों में रोज फुल मॉक टेस्ट की प्रैक्टिस करें।  

एग्जाम टाइम से करें मैनेज

एडमिट कार्ड सभी स्टूडेंट्स के पास होंगे। जिसमें उनकी शिफ्ट का टाइम भी लिखा होगा, इसलिए कोशिश करें मॉक टेस्ट की प्रैक्टिस भी उसी टाइम के अकॉर्डिंग करें, जिससे आपको एग्जाम टाइम में प्रेशर को मैनेज करने की आदत हो जाए। इस एक्सपेरिमेंट्स से सॉल्विंग स्पीड और एक्युरेसी का पता चल जाएगा। 

अपनी गलतियां सुधारें 

टेस्ट के दौरान आपने जहां-जहां गलतियां की हैं, उन्हें सुधारने के लिए उस टॉपिक को रिवाइज कर लें। इससे टॉपिक में दोबारा गलती की गुंजाइश खत्म हो जाएगी। ये मानकर चलें कि अगर इस फाइनल प्रैक्टिस के बाद अगर आप 720 में से 550 तक स्कोर करने में सफल होते हैं तो मेडिकल कॉलेजों में सीट पक्की है। 

शेड्यूल करें फॉलो

तीनों सब्जेक्ट्स का शेड्यूल बनाकर उसे फॉलो करें। मसलन इसके फैक्ट्स, डाटा और फॉर्मूला आदि को फास्ट रिवाइज करें। इसमें सबसे ज्यादा बायोलॉजी को समय और वेटेज दें। एग्जाम में भी इसी टॉपिक से ज्यादा फैक्चुअल क्वेश्चन पूछे जाते हैं। कैमिस्ट्री और फिजिक्स को अपने इंटरेस्ट के अकॉर्डिंग समय दें। 

ओल्ड पेपर्स की प्रैक्टिस 

बचे हुए समय में पिछले 10 साल के पेपर्स को भी सॉल्व करें। नीट के अलावा अन्य मेडिकल एग्जाम्स के पेपर्स को भी शामिल करें। अक्सर एग्जाम में इनसे ही डायरेक्ट-इन डायरेक्ट कई सवाल पूछे जाते हैं। 

एग्जाम डे पर यह करें 

  • एग्जाम का शुरुआती आधा घंटा बायोलॉजी सॉल्व करें। 
  • बाद वाला आधा घंटा कैमिस्ट्री के सवालों को हल करें। 
  • यही प्रोसेस फिजिक्स के लिए भी अपनाएं। 
  • इसके बाद 15-15 मिनट बचे हुए सवालों के लिए रखें।
  • जो सवाल टाइम कंज्यूमिंग है उसे छोड़कर आगे बढ़ जाएं। 

यह भी रखें ध्यान 

एग्जाम से पहले टेंशन छोड़ दें। भरपूर नींद लें। खाना समय पर खाएं। एडमिट कार्ड का हर पॉइंट ध्यान से पढ़ें। सेंटर दूर है तो एग्जाम से पहले सेंटर विजिट कर आएं। सीबीएसई ने जो ड्रेसकोड जारी किया है उसमें ही एग्जाम देने जाएं। सबसे जरूरी बात एग्जाम में टाइम से पहले पहुंचें। 

Next News

NEET Exam 2018: सिलेक्शन पाना है तो इन टिप्स के साथ करें तैयारी

देश के बड़े मेडिकल कॉलेजों में एडमिशन के लिए होने वाली नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेस एग्जाम NEET Exam 2018 पूरे देश में 6 मई को होगी। NEET Exam देश के

NEET 2018 : कटऑफ रहेगा कम, 18 प्रतिशत पर भी मिल सकेगा एडमिशन

इस साल से 5 नए मेडिकल कॉलेजों को भी एमसीआई ने नीट में शामिल होने की अनुमति दे दी है। ऐसे में इस साल स्टूडेंट्स को करीब 500 अधिक सीटों में एडमिशन लेने

Array ( )