टेक्नोलॉजी सेक्टर में सफलता के लिए जरूरी चार स्किल 

पिछले कुछ सालों में टेक्नोलॉजी सेक्टर में बढ़ती जॉब्स की संख्या इस क्षेत्र की मजबूती की ओर इशारा कर रही है। ऐसे में यहां करियर शुरू करने वाले युवा पढ़ाई के साथ-साथ उन स्किल्स के बारे में जानना चाहते हैं जो यहां उन्हें सफलता दिला सकती हैं।

करियर डेस्क । पिछले कुछ सालों में टेक्नोलॉजी सेक्टर में बढ़ती जॉब्स की संख्या इस क्षेत्र की मजबूती की ओर इशारा कर रही है। ऐसे में यहां करियर शुरू करने वाले युवा पढ़ाई के साथ-साथ उन स्किल्स के बारे में जानना चाहते हैं जो यहां उन्हें सफलता दिला सकती हैं। इन स्किल्स में अक्सर कम्प्यूटर, कोडिंग, नेटवर्किंग का जिक्र आता है। लेकिन टेक्निकल जॉब में सफल होने के लिए अब इतना काफी नहीं है। यहां हायरिंग के दौरान सॉफ्ट स्किल्स भी टेक्निकल स्किल्स जितनी महत्वपूर्ण होती हैं और कामयाबी में भी ये अहम भूमिका निभाती हैं। हाल में टेक्नोलॉजी स्टाफिंग प्लेसमेंट कंपनी हैरिस एलाइड ने अपनी ताजा रिसर्च में उन चार महत्वपूर्ण सॉफ्ट स्किल्स के बारे में बताया है जिनकी अब नौकरियों के बाजार में मांग बढ़ी है। 

 

प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल्स : टेक्नोलॉजी एक्सपर्ट के रूप में आपमें प्रॉब्लम सॉल्विंग स्किल का होना जरूरी है। हालांकि कंपनियां हर थोड़े समय में नई टेक्नोलॉजी अपडेट नहीं कर सकतीं लेकिन वे आपसे उम्मीद करती हैं कि आप उनकी मौजूदा टेक्निकल समस्याओं का समाधान निकालें ताकि कोई काम न रुके।

 

कम्यूनिकेशन स्किल्स :  आईटी विभाग अब हर कंपनी की ताकत है जहां टेक्नोलॉजी के लिए कंपनी की निर्भरता आईटी टीम पर होती है। ऐसे में हर दिन अलग-अलग विभाग के कई लोगों से आपको बात करनी होती है। चूंकि वे टेक्नोलॉजी बैकग्राउंड से नहीं होते ऐसे में उन्हें संबंधित चीजें समझा पाना मुश्किल होता है। यहां कम्यूनिकेशन स्किल्स की अहमियत है ताकि आप जटिल बातें भी आसानी से समझा पाएं। 

 

लीडरशिप स्किल्स  : लीडरशिप स्किल्स की खासतौर पर इस क्षेत्र की नौकरियों में मांग है। अगर आपमें लीडरशिप क्वालिटी है तो आपके यहां आगे बढ़ने की अच्छी संभावनाएं हैं। इन स्किल्स में टीम को प्रोत्साहित करने, उन्हें जिम्मेदारियां सौंपने और विवादों को अासानी से हैंडल करने के गुण आपमें होने चाहिए

 

मैनेजमेंट स्किल्स :  टेक्नोलॉजी की पढ़ाई के दौरान कम ही कॉलेज मैनेजमेंट पढ़ाते हैं। जबकि इस क्षेत्र में जॉब की शुरुआत करते ही मैनेजमेंट के महत्व का पता लगता है। असल में कंपनियां अब ऐसे प्रोफेशनल्स को पसंद कर रही हैं जो टेक्नोलॉजी रोल के साथ एडमिनिस्ट्रेटिव और मैनेजीरियल रोल भी संभाल लें। साथ ही ज्यादातर कंपनियां अप्रैजल के समय इन खूबियों को भी ध्यान में रखती हैं।

Next News

हर इंटरव्यू में काम आएगी ग्रुप डिस्कशन की तैयारी 

जीडी के लिए कई स्टूडेंट्स इसके लिए अलग से कोचिंग भी लेते हैं लेकिन आप चाहें तो खुद ही अपनी तैयारी को मजबूत बना सकते हैं। यहां दिए गए टिप्स इस काम में

अब ऑडियो प्रोफाइल में तैयार कीजिए अपना रेज्यूमे, पसंद आएगा रिक्रूटर्स को 

रिक्रूटर अब सिर्फ सोशल मीडिया पर आपका रेज्यूमे देखकर संतुष्ट नहीं होते, बल्कि वे आपके बारे में ज्यादा जानना चाहते हैं।

Array ( )