JEE Main: मेरिट में 1 से 6 रैंक तक सभी छात्रों को 350-350 अंक, पहली बार ऐसा

एडवांस्ड के लिए 2 लाख 31 हजार 24 छात्रों ने किया क्वालीफाई, लगातार चौथे साल घटा कट—ऑफ, दिव्यांगों का कट ऑफ माइनस 35 तक गिरा 

एजुकेशन न्यूज। सीबीएसई ने देश भर के आईआईटी, एनआईटी और अन्य इंजीनियरिंग संस्थानों में एडमिशन के लिए आयोजित संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) मेन्स का रिजल्ट घोषित कर दिया है। सोमवार शाम आए नतीजों में आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा के सूरज कृष्णा देश भर में अव्वल रहे हैं। आंध्र के ही केवीआर हेमंत दूसरे और कोटा के पार्थ लथूरिया तीसरे स्थान पर रहे हैं। टॉप-10 छात्रों में से 6 आंध्र-तेलंगाना जबकि तीन छात्र कोटा से हैं। इस बार खास बात यह रही है कि एक से लेकर छह तक सभी छात्रों को 350-350 अंक मिले हैं। संभवत: यह किसी प्रतियोगी परीक्षा में पहली बार हुआ है। 

पहली बार रिकॉर्ड 50 हजार से ज्यादा लड़कियां एडवांस्ड तक पहुंचीं 
जेईई के इतिहास में पहली बार 50 हजार से ज्यादा लड़कियां जेईई एडवांस्ड तक पहुंची हैं। यह पिछले साल की तुलना में 5 हजार ज्यादा है। 2017 में 46 हजार से ज्यादा लड़कियां यहां तक पहुंची थीं। 

समान अंक होने पर ऐसे तय हुई मेरिट 
टॉप-6 छात्रों के नंबर एक समान होने पर अलग-अलग विषयों के अंकों के आधार पर मेरिट तय की गई है। नंबर टाई होने पर गणित और फिजिक्स के अंकों की गणना की गई। यहां पर भी सभी के नंबर एक जैसे होने पर पॉजिटिव और निगेटिव आंसर के आधार पर रैंक तय की गई। इसमें आंध्र के सूरज कृष्णा ने बाजी मारी। 2017 में राजस्थान के कल्पित वीरवाल ने 100% अंक हासिल कर रिकॉर्ड बनाया था। 

कट ऑफ दो साल में 100 से गिरकर 74 पहुंचा 
जेईई मेन्स का कट ऑफ स्कोर लगातार चौथे साल गिरा है। सामान्य वर्ग में पिछले साल 81 अंक हासिल करने पर छात्र एडवांस्ड के लिए क्वालीफाई हुए थे, जबकि 2016 में यह 100 अंक था। इस साल यह कट ऑफ 74 पर आ गया है। इस साल ओबीसी का कट ऑफ स्कोर 45, एससी का 29 और एसटी का 24 अंक रहा है। नि:शक्तजनों का कट ऑफ माइनस 35 अंक रहा है। 

हिमांश राठौर भोपाल के टॉपर, 177 रैंक हासिल की 
भोपाल के हिमांश राठौर ने 306 अंक हासिल कर शहर में पहली रैंक पर जगह बनाई। हिमांश की ऑल इंडिया रैंक 177 है। जबकि केमेस्ट्री में इन्हें 120 में से 120 अंक मिले हैं। भोपाल के ही आयुध सक्सेना को ऑल इंडिया 424 रैंक, अनिरुद्ध चिदर को 523 रैंक, प्रखर दीवान को 540 रैंक, निश्चय मनवानी को ऑल इंडिया 613 रैंक, कौस्तुभ त्रिपाठी को 704 रैंक और श्रीवांशु गौर को ऑल इंडिया 1038 रैंक मिली। 

Next News

JEE Mains result: नांदेड़ के पार्थ को तीसरी रैंक, बनना चाहते हैं कम्प्यूटर इंजीनियर

महाराष्ट्र के नांदेड के रहने वाल पार्थ लथुरिया कोटा में रहकर तैयारी कर रहे हैं और आईआईटी बॉम्बे से कंप्यूटर इंजीनियरिंग करना चाहते हैं। 

JEE Main कोटा : टाॅप-10 में कोटा के 3, टॉप-100 में 37 स्टूडेंट्स 

सीबीएससी ने जो सूची जारी की है उसके मुताबिक कोटा के नवीन सिंघल ने 11वीं, आयुष गर्ग ने 12वीं लय जैन ने 13वीं, करण अग्रवाल ने 16वीं, यश गुप्ता ने 19वीं

Array ( )