JEE main : पेन एंड पेपर में पूछे गए सवालों का फायदा कम्प्यूटर टेस्ट में लें स्टूडेंट्स

8 अप्रैल को हुई ऑफलाइन जेईई के बाद 15 और 16 अप्रैल को कम्प्यूटर बेस्ट टेस्ट (सीबीटी) होने जा रहा है। शहर के चुनिंदा सेंटर्स पर होने वाली इस एग्ज़ाम में स्टूडेंट्स को कम्प्यूटर पर सवालों के जवाब देने होंगे।

एजुकेशन डेस्क । 8 अप्रैल को हुई ऑफलाइन जेईई के बाद 15 और 16 अप्रैल को कम्प्यूटर बेस्ट टेस्ट (सीबीटी) होने जा रहा है। शहर के चुनिंदा सेंटर्स पर होने वाली इस एग्ज़ाम में स्टूडेंट्स को कम्प्यूटर पर सवालों के जवाब देने होंगे। तैयारी के लिहाज़ से बहुत ज़्यादा अंतर इस टेस्ट में नहीं आने वाला लेकिन सवालों के जवाब देते वक्त स्टूडेंट्स को कुछ बातें ज़रूरी ध्यान रखनी होंगी। एक्सपर्ट्स की बात मानें तो स्टूडेंट्स को रविवार को हुई जेईई मेन ऑफलाइन के सवालों पर ज़रूर ध्यान देना चाहिए। इसका फायदा उन्हें सीबीटी में मिल सकता है।

दोनों मोड में डिफिकल्टी लेवल एक सा रहेगा

एक्सपर्ट विजित जैन के मुताबिक- सीबीएसई, परीक्षा के दोनों ही मोड में डिफिकल्टी लेवल एक जैसा रखेगा इसलिए पेन-पेपर एग्ज़ाम से स्टूडेंट्स अलग-अलग सेक्शन्स और टाइप ऑफ क्वेश्चन्स के बारे में अंदाज़ा लगा सकते हैं। डिफिकल्टी लेवल के लिए भी स्टूडेंट्स अपना माइंडसेट तैयार कर सकते हैं। इसके अलावा
तैयारी के मामले में भी स्टूडेंट्स को यह ध्यान रखना चाहिए कि जो टॉपिक्स तैयार किए जा चुके हैं उन्हें ही बेहतर करें। नए टॉपिक्स शुरू करने का समय अब नहीं रहा। सीबीटी में स्टूडेंट्स को रफ पेपर्स पर्याप्त मात्रा में दिए जाते हैं। इससे उन्हें कैल्कुलेशन करने में आसानी होगी। कम्प्यूटर स्क्रीन पर बचे हुए सवालों के साथ शेष समय की जानकारी भी रहती है। ऐसे में स्टूडेंट्स बेहतर तरीके से अंदाज़ लगा सकते हैं कि कौन से सब्जेक्ट को कितना समय देना चाहिए। कम समय में यदि ज्यादा सवालों के जवाब देना बाकी हों तो इस स्थिति में कैंडिडेट्स को घबराना नहीं चाहिए। ज्यादा अटेम्प्ट करने और गलत जवाब देने से बेहतर है कम सवालों के सही जवाब दें। सीबीटी के इअनुभव का फायदा स्टूडेंट्स को जेईई एडवांस में भी मिलेगा।

सीबीटी के लिए सीबीएसई ने 15 अप्रैल को सुबह और दोपहर, दो सेशन्स रखे हैं। 16 अप्रैल को सिर्फ सुबह के सेशन में ही एग्ज़ाम होगी। सुबह 9.30 से शुरू होने वाले टेस्ट के लिए रिपोर्टिंग टाइम 7 बजे रखा गया है। 12.30 पर एग्ज़ाम खत्म होगी।
 

Next News

NEET Guide : अच्छी तैयारी के लिए पिछले सालों के पेपर्स करें सॉल्ब

एमबीबीएस और बीडीएस कोर्सेज में एडमिशन के लिए होने वाले नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टसे्ट (नीट) 6 मई को होगा। इसमें देश भर के लगभग दो हजार सेंटर्स पर

NEET 2018 : लंबे सवालों को हल करें, छोटे सवाल उलझाते हैं 

5 मई को आॅर्गेनाइज होने वाले मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम नीट-2018 के लिए एक्सपर्ट ने टिप्स दिए हैं जो अच्छे मार्क लाने में हेल्पफुल होंगे।  

Array ( )