जेईई मेन ऑनलाइन एग्जाम : शॉर्ट नोट्स पर ज्यादा ध्यान दें, नए सिरे से न करें स्टडी

जेईई मेन का ऑनलाइन एग्जाम की तैयारी के संबंध में एक्सपर्ट ने दिए टिप्स।ऑनलाइन परीक्षाएं 15 एवं 16 अप्रैल को होगी।

जेईई मेन का ऑनलाइन तैयारी के संबंध में एक्सपर्ट ने दिए टिप्स

एजुकेशन डेस्क । जेईई मेन की ऑनलाइन परीक्षाएं 15 एवं 16 अप्रैल को शहर के आठ सेंटर्स पर होंगी। ऐसे में ऑनलाइन एक्जाम को लेकर स्टूडेंट्स को एक नई स्ट्रेटजी बनानी होगी। एक्सपर्ट का कहना हैकि स्टूडेंट्स अपनी स्ट्रेटजी में नए रूल्स बनाएं। इसके लिए उन्हें एक्जाम के तीन घंटे की अवधि को प्रति सवाल एक
मिनट के हिसाब से बांटना होगा यानि एक सवाल पर कितना वक्त देना है। अगर स्टूडेंट्स सवाल के लिए तय समय सीमा को पार कर जाते हैं तो अगले सवाल की तरफ उन्हें बढ़ना चाहिए। उसे हल करने के बाद अगर समय मिले, तो फिर से अनसुलझे सवाल की तरफ वापस आ सकते हैं। परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग का मतलब यह है कि आपको वैसे सवालों को हल करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए, जिसके बारे में आपको जानकारी नहीं है। इसके बाद स्टूडेंट्स को आखिरी सवाल तक पहुंचने की कोशिश करना चाहिए। चाहे इसके कारण कुछ ऐसे सवालों को क्यों न छोड़ना पड़े, जिनके जवाब आप नहीं दे पा रहे हैं। इसके अलावा इस समय ज्यादा से ज्यादा मॉक टेस्ट पेपर सॉल्व करना चाहिए, इससे आपके अंदर एक्जाम का डर खत्म होगा।  

इस तरह बनाएं जेईई मेन की स्ट्रेटजी 

सिलेबस जेईई मेन सिलेबस
के ज्यादातर टॉपिक की पढ़ाई
स्टूडेंट्स 11वीं क्लास में पढ़ चुके
होंगे और कुछ 12वीं क्लास में।
इसे सिर्फ रिवाइज करने की
जरूरत है।

शॉर्ट नोट्स : पहले से बनाए हुए शॉर्ट नोट्स में फॉर्मूलों को रिवाइज करें। फॉर्मूलों के अलावा उन प्वाइंट्स को नोट कर लें, जिन्हें आखिरी वक्त में स्टूडेंट्स को सरसरी तौर पर देखने की जरूरत होगी।

वेटेज के हिसाब से टॉपिक : परीक्षा से ठीक पहले का वक्त शॉर्टकट से तैयारी करने का मौका होता है। इसलिए ज्यादा महत्वपूर्ण टॉपिक पर ज्यादा फोकस करें और कम महत्वपूर्णटॉपिक्स पर ज्यादा समय खर्च नहीं करें। कम समय में ज्यादा से ज्यादा टॉपिक को समेटने की कोशिश करें।

मॉक टेस्ट: जेईई मेन परीक्षा के पैटर्न को जानने के लिए हर रोज जेईई मेन का सैंपल पेपर या मॉक टेस्ट का पेपर लगाएं। उसके बाद पड़ताल करें कि गलती कहां हुई। साथ ही, इसे मुस्तैदी के साथ दोहराएं भी।

स्ट्रांग सब्जेक्ट: उन टॉपिक्स को नजरअंदाज नहीं करें, जिन पर आपकी पकड़ है। इसे छोड़कर नए टॉपिक की तरफ बढ़ना गलत कदम साबित हो सकता है।

 जेईई मेन एक्सपर्ट अज्ञात गुप्ता एवं बालेंदु चांदिल
 

Next News

MP PPT 2018 : 15 अप्रैल को होगा स्टेट लेवल प्री-पॉलीटेक्निक टेस्ट

प्री-पॉलीटेक्निक टेस्ट मध्यप्रदेश के 18 जिलों में दो शिफ्ट में ऑनलाइन मोड पर होगा।

जेईई ऑनलाइन एग्जाम में ऑप्शन पर बार-बार क्लिक ना करें स्टूडेंट्स

ऑनलाइन एग्जाम देने में स्टूडेंट्स पिछले साल कई तरह की गलती करने से क्वेश्चन पेपर ठीक से नहीं कर पाए थे। इस बार ऑनलाइन में किसी तरह की गलती न करें इसके

Array ( )