Articles worth reading

14 मई तक डॉक्यूमेंट्स नहीं दिए, तो अल्पसंख्यक कॉलेज एडमिशन प्रोसेस से होंगे बाहर

4 साल से अल्पसंख्यक दर्जे के तहत इन कॉलेजों में ऑफलाइन एडमिशन हो रहा, लेकिन इस बार जरूरी दस्तावेज ही जमा नहीं किए गए।

एजुकेशन डेस्क, भोपाल। हायर एजुकेशन डिपार्टमेंट ने मध्य प्रदेश के 35 अल्पसंख्यक कॉलेजों को चेतावनी दी है कि अगर उन्होंने 14 मई तक अल्पसंख्यक दर्जे से रिलेटेड डॉक्यूमेंट्स जमा नहीं कराए तो ऑफलाइन एडमिशन प्रक्रिया से बाहर हो जाएंगे। साथ ही ऑनलाइन एडमिशन प्रक्रिया से जुड़ने का भी संकट हो जाएगा, क्योंकि उसके लिए लंबी प्रोसेस पूरी करना होती है। 

पहले भी दी थी चेतावनी

- 4 साल से अल्पसंख्यक दर्जे के तहत इन कॉलेजों में ऑफलाइन एडमिशन हो रहा, लेकिन इस बार जरूरी दस्तावेज ही जमा नहीं किए गए। आठ दिन पहले भी विभाग ने इन कॉलेजों को सप्ताहभर में दस्तावेज जमा करने की चेतावनी दी थी लेकिन कुछ ने ही दस्तावेज जमा किए। 

इन कॉलेजों को जमा कराने हैं डॉक्यूमेंट्स

- जिन कॉलेजों को तीन दिन में दस्तावेज जमा करवाना हैं, उनमें एमकेएचएस गुजराती, गुजराती इनोवेटिव, आइडेलिक इंस्टिट्यूट अॉफ मैनेजमेंट, इंदौर क्रिश्चियन, खालसा, अरिहंत, जैन दिवाकर, ऑक्सफोर्ड इंटरनेशनल, श्रीगुरु गोविंद सिंह कॉलेज, एलेक्सिया कॉलेज अॉफ प्रोफेशनल स्टडीज, इंदौर स्कूल ऑफ सोशल वर्क, माता गुजरी कॉलेज ऑफ प्रोफेशनल स्टडीज, टैगोर शिक्षा महाविद्यालय, रेनेसा कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड मैनेजमेंट, आईआईएससीएस जैसे बड़े कॉलेज शामिल हैं। 
- 14 मई तक इन कॉलेजों ने दस्तावेज जमा नहीं किए तो इनका दर्जा खत्म कर दिया जाएगा। 

कॉलेजों ने कहा- डॉक्यूमेंट्स भेजे हैं, जुड़ जाएगा नाम 

- इस मामले में ज्यादातर कॉलेजों ने कहा कि हम पहले ही शासन को दस्तावेज भेज चुके हैं। यदि कुछ दस्तावेज रह गए तो जमा करवा देंगे। कुछ ने यहां तक कहा कि हमारी तरफ से सारे दस्तावेज जमा करवा दिए गए। इस मामले में विभाग से चर्चा करेंगे। 

12वीं का रिजल्ट आते ही शुरू होगा एडमिशन

- 12वीं का रिजल्ट आने के बाद जिस दिन से ऑनलाइन एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू होगा, उसी दिन से अल्पसंख्यक दर्जा प्राप्त इन कॉलेजों में सीधे प्रवेश शुरू हो जाएगा। इसलिए विभाग द्वारा 16 मई तक अल्पसंख्यक कॉलेजों की फाइनल सूची जारी कर दी जाएगी। 
 

Next News

एजुकेशन न्यूज ब्रीफ: 7 बड़ी खबरें जो आपके लिए जानना है जरूरी

इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स को स्टार्टअप शुरू करने और आंत्रप्रेन्योर बनने में मदद करेगा इन्क्यूबेशन सेंटर

NEET के लिए ओपन स्कूल और प्राइवेट स्टूडेंट्स भी एलिजिबल: HC

मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने ओपन स्कूलिंग और प्राइवेट स्टूडेंट्स को NEET के इनएलिजिबल ठहराया था।

Array ( )