12th के बाद क्राउड फंडिंग बनेगा स्टार्ट अप्स का इनकम सोर्स

12th के बाद स्टडी नहीं करना चाहते हैं तब भी कॅरियर को स्टार्ट अप के जरिए बनाया जा सकता है। स्टार्ट अप के लिए फंड रेज करने भी परेशान नहीं होना पड़ेगा।

एजुकेशन डेस्क। 12th की स्टडी कम्पलीट हो चुकी है। यदि आप भी लर्निंग के साथ अर्निंग का फंडा अपनाते हुए सेल्फ इम्प्लॉयड होना चाहते हैं तो स्टार्ट अप आपके लिए सबसे बेस्ट ऑप्शन है। यंग स्किल को बढ़ाने के लिए गवर्नमेंट भी स्टार्ट अप को फंडिंग कर रही है। इसके लिए सेंट्रल और स्टेट गवर्नमेंट द्वारा कई स्कीम भी रन की जा रही है। जो यंगस्टर्स को उनके स्टार्ट अप के सपोर्ट के लिए फंड देती हैं। 

सेंट्रल की स्कीम

भारत सरकार ने स्टार्टअप्स और लघु उद्यमों को फंड करने कई स्कीम्स शुरू की हैं। इनके जरिए बिजनेस पर्सन आसानी से धन जुटा सकते हैं। दो फेमस स्कीम्स में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना और स्टैंडअप इंडिया शामिल हैं। मुद्रा योजना के जरिए बिजनेस को तीन कैटेगरी शिशु, किशोर और तरुण में बांटकर फंड दिया जाता है। शिशु में 50 हजार तक का लोन, किशोर में 50 हजार से 5 लाख तक का लोन और तरुण में 5 लाख से 10 लाख तक का लोन मिलता है। वहीं स्टैंडअप इंडिया के तहत एससी, एसटी व महिला एंटरप्रेन्योर्स को आसान ब्याज दरों पर 1 करोड़ रुपए तक का लोन प्राेवाइड किया जाता है।

बैंकिंग लोन

बैंक से बिजनेस लोन लेना एक ट्रेडीशनल ऑप्शन है। अाज भी  कई सारे एंटरप्रेन्योर्स इसी ऑप्शन पर ज्यादा भरोसा करते हैं क्योंकि बैंक से जुड़कर उन्हें ज्यादा सुरक्षित महसूस होता है। अमूमन बैंक लोन देने से पहले आपकी फाईनेन्शियल नीड्स की जानकारी लेते हैं। हर बिजनेस की दो तरह की नीड्स होती हैं- फिक्स्ड कैपिटल और वर्किंग कैपिटल। अपनी फाईनेन्शियल नीड्स का केलकुलेशन करके आप बैंक में लोन के लिए अप्लाय कर सकते हैं। बैंक लोन देने से पहले एक इंस्पेक्शन कराता है, जिसमें सब कुछ ठीक होने के बाद ही आपके लोन को फाइनल किया जाता है।

क्राउड फंडिंग 

यह तेजी से बढ़ा हुआ ट्रेंड है। इसके चलते स्टार्ट अप के लिए पैसों की कमी से निजात मिल सकती है। बस स्टार्ट अप का मोड हेल्पिंग बेस्ड होना चाहिए। इसमें डेली नीड्स, सोशल वेलफेयर और अन्य जरूरी चीजों को मुहैया कराने के लिए किए जा रहे स्टार्ट अप के लिए क्राउड फंडिंग से पैसा जुटा सकते हैं। हालांकि इंडिया में इसके लिए अवेयरनेस कम हैं। अनजान लोगों के लिए कोई फंड देना पसंद नहीं करता है। भले ही ऑफ लाइन क्राउड फंडिंग से इंकम नहीं होती है, लेकिन ऑनलाइन मार्केट में इसका क्रेज धीरे-धीरे बढ़ रहा है। जो छोटे-छोटे गांवों के लिए मददगार होगा। 

Next News

NET 2018: जेआरएफ के लिए दो साल बढ़ी एज लिमिट

असिस्टेंट प्रोफेसर और जूनियर रिसर्च फेलोशिप (जेआरएफ) की पात्रता के लिए सीबीएसई द्वारा आयोजित यूजीसी नेट के लिए ऑनलाइन आवेदन की लास्‍ट डेट 5 अप्रैल है।

12th के बाद ग्रेजुएशन के साथ करें 5 क्रैश कोर्स अट्रैक्टिव पर्सनैलिटी बनेगी प्लस पॉइंट

ग्रेजुशन के साथ किए जा सकने वाले ये शॉर्ट टर्म कोर्स पर्सनैलिटी को ग्रूम करते हैं। साथ ही भीड़ में एक अलग पहचान भी दिला सकते हैं।

Array ( )