उत्तर प्रदेश बोर्ड : आॅनलाइन जारी की जाएंगी टॉपर्स की कॉपियां

उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि टॉपर की लिस्ट को लेकर पैदा होने वाले विवादों को खत्म करने और बोर्ड एग्जाम में पारदर्शिता लाने के लिए यह फैसला लिया गया है। 

एजुकेशन डेस्क। बोर्ड एग्जाम में पारदर्शिता लाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने 10वीं और 12वीं क्लास की मेरिट के टॉप टेन टॉपर स्टूडेंट्स की कापियां सार्वजनिक करने का फैसला किया है। मेरिट में आने वाले स्टूडेंट्स की कॉपियां ऑनलाइन सार्वजनिक की जाएंगी। 

29 अप्रैल को जारी होंगे नतीजे
कॉपियां रिजल्ट घोषित करने के एक हफ्ते बाद बोर्ड की वेबसाइट पर आनलाइन कर दी जाएंगी। यूपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं के नतीजे 29 अप्रैल को जारी किए जाएंगे। रिजल्ट के साथ ही मेरिट लिस्ट भी जारी की जाएगी। यूपी सरकार ने यह फैसला पिछले साल बिहार बोर्ड में हुए टॉपर घोटाले से सबक लेते हुए लिया है। यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव के मुताबिक़ टॉपर्स की कापियां सार्वजनिक करने का काम हली बार किया जाएगा।

60 लाख स्टूडेंट्स हुए थे शामिल
यूपी बोर्ड के एग्जाम में इस बार 60 लाख से ज़्यादा स्टूडेंट्स शामिल हुए थे। हालांकि इनमें से 11 लाख 32 हजार स्टूडेंट्स ने बीच में ही एग्जाम छोड़ दिया था। बोर्ड के एग्जाम छह फरवरी से शुरू होकर 12 मार्च तक चले थे। पहली बार एग्जाम और कॉपियां जांचने का काम सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में किया गया था। यूपी बोर्ड के अफसरों ने दावा किया है कि नकल पर सख्ती की वजह से इतनी बड़ी तादात में छात्रों ने परीक्षा छोड़ी है। इस बार के नतीजे 29 अप्रैल को दोपहर साढ़े 12 बजे बोर्ड के हेडक्वार्टर इलाहाबाद से जारी किए जाएंगे।

Next News

MP Board : खत्म होगा स्टूडेंट्स का इंतजार 14 मई को आएगा 10th-12th का रिजल्ट

2017 में भी माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वार 10th और 12th का रिजल्ट एक साथ ही डिक्लेयर किया गया था। इस बार भी दोनों क्लासेस का रिजल्ट सीएम हाउस में घोषत किया

यूपी बोर्ड में सख्ती का असर : 150 स्कूलों में सभी स्टूडेंट फेल, गाजीपुर सबसे आगे

ऐसे स्कूलों की संख्या प्रदेश में 150 है जिनमें एक भी स्टूडेंट पास नहीं हुआ है। इसमें गाजीपुर जिला पहले नंबर रहा है, यहां के 17 स्कूल शामिल हैं। दूसरे

Array ( )