Articles worth reading

CLAT 2018: री-एग्जाम की उठी मांग, 4 हाईकोर्ट में पहुंचा मामला

विभिन्न राज्यों से अभी तक करीब 1800 से स्टूडेंट्स ने दोबारा क्लैट एग्जाम कराने की मांग की है।

एजुकेशन डेस्क। देशभर में 19 नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज में एडमिशन के लिए 13 मई को कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (क्लैट)- 2018 आयोजित किया गया था। कंप्यूटर हैंग, टाइम काउंटिंग समेत कई सारी समस्याओं ने स्टूडेंट्स को काफी परेशान किया। लिहाजा देश के विभिन्न राज्यों से अभी तक करीब 1800 से स्टूडेंट्स ने दोबारा क्लैट एग्जाम कराने की मांग की है। इसके चलते हालात यह हैं कि एक सप्ताह में ही दिल्ली हाईकोर्ट, जबलपुर हाईकोर्ट, पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट और जयपुर हाईकोर्ट में छात्रों ने पिटीशन दायर कर दी हैं। 

टाइम काउंटिंग में प्रॉब्लम 

- जबलपुर हाईकोर्ट में पिटीशन दायर करने वाले सलिल खरे ने बताया, इस परीक्षा में मेरी बेटी बैठी थी। शुरुआती दस मिनट तक कंप्यूटर चालू नहीं हुआ और टाइम काउंटिंग शुरू हो गई। उसे रीस्टार्ट किया, तो दोबारा टाइम काउंट 10 मिनट के आगे से शुरू हुआ। 
- कुछ सेंटर्स पर एग्जाम रात 7.30-8.00 बजे तक हुआ। किसी को पूरे दो घंटे का समय ही नहीं मिला तो किसी को 2-2 घंटे का एक्स्ट्रा टाइम मिला। कुछ लोगों के लिए स्पेशल अरेंजमेंट रखने की भी जानकारी मिली। मध्य प्रदेश से करीब 50 स्टूडेंट्स और सामने आए हैं, जिन्हें प्रॉब्लम हुई है। 

हाईकोर्ट में री-ड्राफ्ट प्रोसेस आज 

- क्लैट एक्सपर्ट हर्ष गंगरानी ने बताया, जयपुर हाईकोर्ट ने क्लैट कराने वाले केरल कोच्ची के नेशनल लॉ ऑफ एडवांस लीगल स्टडीज को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। 
- वहीं जबलपुर हाईकोर्ट में दायर याचिका में नाम जोड़ने के लिए री-ड्राफ्ट प्रोसेस 21 मई को की जानी है। देश में करीब 1800 स्टूडेंट्स अभी तक सामने आए हैं, जो क्लैट का विरोध कर रहे हैं।

10 बार बंद हुआ कंप्यूटर 

- क्लैट प्रतिभागी धर्मेश ने बताया, 2.30 बजे से एग्जाम के इंस्ट्रक्शंस का डेमो देना था, जो कि मेरे सिस्टम पर तीन बजे शुरू हुआ। 20 मिनट मेरे यूं ही वेस्ट हो गए। सिटिंग स्पेस भी कम था। किसी को कहीं भी बैठा दिया गया था। 
- वहीं स्टूडेंट ऋतिक तेंगुरिआ ने कहा, 10 बार मेरा कंप्यूटर शटडाउन हुआ। पेपर शुरू हुआ तो मेरे सिस्टम पर सब कुछ कोडेडे लैंग्वेज में था और टाइम काउंट बढ़ने लगा। री-स्टार्ट किया, तो टाइम काउंट री-स्टार्ट नहीं हुआ, बल्कि जितना आगे बढ़ चुका था, उसके आगे से समय शुरू हुआ। दो से तीन बार सिस्टम हैंग भी हुआ।

Next News

CLAT 2018: आंसर-की को चैलेंज करने की आज लास्ट डेट, 31 को रिजल्ट

आंसर-की में डाउट होने पर इसे चैलेंज कर सकते हैं, जिसके बाद 26 मई को फाइनल आंसर-की जारी की जाएगी।

31 मई को ही आएगा क्लैट का रिजल्ट, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश

ऑनलाइन हुए इस एग्जाम में कई बार कंप्यूटर हैंग और बंद होने जैसी समस्याएं आईं थीं।

Array ( )