Articles worth reading

CLAT 2018: अच्छा स्कोर करने में काम आएंगे ये टिप्स, आजमाएं जरूर

एग्जाम में पास होने के लिए सबसे जरूरी है टाइम मैनेजमेंट। इसलिए जो आता हो, उसे पहले करें। नया सीखने में टाइम वेस्ट न करें।

एजुकेशन डेस्क, भोपाल। कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (CLAT 2018) के एग्जाम में अब कुछ ही घंटे बाकी हैं। देशभर में होने वाले इस एग्जाम में देशभर के 50 हजार से ज्यादा स्टूडेंट्स शामिल हो रहे हैं। एग्जाम में अब जब कुछ ही समय बचा है, तो जाहिर है कि स्टूडेंट्स इसको लेकर काफी नर्वस होंगे। मगर इसी नर्वसनेस और टेंशन का असर एग्जाम में बिगड़ता है और फिर रिजल्ट बिगड़ जाता है। इसलिए bhaskareducation.com एग्जाम से पहले स्टूडेंट्स को कुछ ऐसे लास्ट मोमेंट्स टिप्स के बारे में बताने जा रहा है, जिनको आजमाकर हर स्टूडेंट्स एग्जाम में अच्छा स्कोर कर सकता है।

छोटे-छोटे ब्रेक लेकर करें पढ़ाई

- अब ये समय क्वालिटेटिव स्टडी का है। ऐसे वक्त में ज्यादा पढ़ने की और घंटों बैठकर स्टडी करने की जरुरत नहीं है। बल्कि ऐसे समय में हल्की स्टडी ही करना चाहिए। एग्जाम से एक दिन पहले छोटे-छोटे ब्रेक लेकर पढ़ाई करें और बीच-बीच में लाइट म्यूजिक भी सुनते रहें।

नया पढ़ने की कोशिश न करें

- ज्यादातर स्टूडेंट्स एग्जाम में अच्छा स्कोर करने के लिए एग्जाम के लास्ट टाइम तक नया पढ़ने की कोशिश करते रहते हैं, जबकि एग्जाम में अच्छा स्कोर करने के लिए ऐसा करने की जरुरत नहीं है। एक्सपर्ट भी यही सलाह देते हैं कि लास्ट मोमेंट्स में कुछ भी नया पढ़ने की बजाय रीविजन करना बेहतर होता है। नया पढ़ने से टेंशन और स्ट्रेस ही बढ़ता है। 

CLAT 2018: रविवार को होगा एग्जाम, जानें इससे जुड़ी सारी बातें

एग्जाम से पहले पूरी तरह रिलेक्स रहें

- अगर अगले दिन एग्जाम हो तो उससे एक दिन पहले स्टूडेंट्स को एग्जाम का काफी डर और टेंशन होता है। ये टेंशन और डर एग्जाम हॉल में खतरनाक भी साबित हो सकती है। इसलिए बेहतर होगा कि एग्जाम से एक दिन पहले टेंशन से पूरी तरह दूर रहें। इसके साथ ही टेंशन का असर स्टूडेंट्स की सेहत पर भी पड़ता है, जिससे एग्जाम बिगड़ने का खतरा भी बढ़ जाता है। इसलिए एग्जाम से एक दिन पहले टेंशन को अपने पास भटकने भी न दें। 

एग्जाम के दौरान इन बातों का रखें ध्यान

- किसी भी एग्जाम को पास करने के लिए सबसे जरूरी है टाइम मैनेजमेंट। 2 घंटे होने वाले इस एग्जाम में 200 मार्क्स के क्वेश्चंस पूछे जाते हैं, जिसमें अलग-अलग सब्जेक्ट्स से क्वेश्चंस आते हैं। एग्जाम में निगेटिव मार्किंग भी होती है, लिहाजा क्वेश्चन सॉल्व करते समय सावधानी बरतें। अगर किसी क्वेश्चन को सॉल्व नहीं कर पा रहे हैं या उसमें टाइम लग रहा है, तो उसको स्किप करके दूसरे क्वेश्चन में चले जाएं। 

- एग्जाम में पास होने के लिए सबसे जरूरी फैक्टर है, क्वेश्चन सॉल्व करना। एग्जाम शुरू होने पर सबसे पहले ऑब्जेक्टिव टाइप के आसान क्वेश्चन को सॉल्व करना चाहिए। इतना होने के बाद कुछ कठिन क्वेश्चंस और सबसे आखिरी में कठिन क्वेश्चंस सॉल्व करना चाहिए। 

- एग्जाम हॉल में प्लानिंग का खासतौर से ध्यान रखें। पेपर मिलते ही उसे सॉल्व करने की बजाय 10 से 15 मिनट तक पेपर को देखें और प्लानिंग करें। पेपर को अच्छी तरह से देखें और सबसे पहले जो क्वेश्चंस आते हैं, उन्हें सॉल्व करें। ऐसा करने से न सिर्फ कॉन्फिडेंस बढ़ेगा, बल्कि ज्यादा से ज्यादा क्वेश्चंस भी सॉल्व हो पाएंगे।

Next News

CLAT 2018: एग्जाम खत्म, 31 मई को आएगा रिजल्ट

इस साल क्लैट एग्जाम नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ एडवांस्ड लीगल स्टडीज़ (NULAS), कोच्चि की तरफ से कंडक्ट कराया गया।

CLAT 2018: आंसर-की को चैलेंज करने की आज लास्ट डेट, 31 को रिजल्ट

आंसर-की में डाउट होने पर इसे चैलेंज कर सकते हैं, जिसके बाद 26 मई को फाइनल आंसर-की जारी की जाएगी।

Array ( )