इंफोटेनमेंट के जमाने में रेडियो में बनाएं करियर

अब  रेडियो सूचना के माध्यम से आगे निकलकर मनोरंजन तक पहुच गया है। इंफोटेंटमेंट के इस माध्यम में अब आरजे की जिम्मेदारी भी पहले से बढ़ गई है।

करियर डेस्क । अब रेडियो सूचना के माध्यम से आगे निकलकर मनोरंजन तक पहुच गया है। इंफोटेंटमेंट के इस माध्यम में अब आरजे की जिम्मेदारी भी पहले से बढ़ गई है। रेडियो जॉकी का काम होता है अपनी आवाज के जादू से लोगों को बांधे रखना।अब रेडियो जॉकी लोगों को जानकारी भी इस अंदाज में देते हैं ताकि लोगों का भरपूर मनोरंजन भी हो सके।

क्या होता है काम
एक रेडियो जॉकी का काम सिर्फ रेडियो शो को प्रेजेंट करना ही नहीं होता बल्कि उनके कार्यक्षेत्र में म्यूजिक प्रोग्रामिंग, सक्रिप्ट लिखना, रेडियो एडवरटाइजिंग करने से लेकर ऑडियो मैगजीन व डाक्यूमेंट्री भी पेश करने होते हैं। रेडियो जॉकी को न सिर्फ देश−विदेश में होने वाली गतिविधियों की जानकारी होनी चाहिए बल्कि उसे अपने शहर की सांस्कृतिक गतिविधियों के बारे में भी पता होना चाहिए ताकि वह अपने शो को और भी बेहतर व इंर्फोमेटिव बना सके। 

योग्यता
वैसे तो आरजे बनने के लिए कोई प्रोफेशनल कोर्स करना खास जरूरी नहीं है लेकिन फिर भी खुद को निखारने के लिए आप 12वीं के बाद किसी संस्थान से डिग्री या डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं। फिर चाहे आप किसी भी स्टीम के छात्र हों। आज देश के हर राज्य में ऐसे बहुत से संस्थान हैं जो रेडियो जॉकी बनने के लिए प्रोफेशनल डिग्री व डिप्लोमा कोर्स कराते हैं।


पर्सनल स्केल
इस क्षेत्र में उन युवाओं के लिए मौके हैं, जिनकी सोच आधुनिक व कल्पना शक्ति असीमित है और वे स्वयं में स्फूर्तिवान हों। देखा गया है कि प्रत्येक आरजे(रेडियो जॉकी) का अंदाज अलग होता है। श्रोताओं के दिलों पर अपनी छाप छोडऩे के लिए एक रेडियो जॉकी के पास अच्छी आवाज के साथ दोस्ताना स्वभाव व हाजिर जवाबी की कुशलता भी होनी चाहिए। रेडियो जॉकी में अच्छे कम्युनिकेशन का कौशल होना चाहिए। आवाज भी तेज और मधुर होनी चाहिए। 

संभावनाएं
मीडिया उदयोग में रेडियो जॉकी के लिए काम की कोई कमी नहीं है। आप एआईआर से लेकर टाइम्स एफएम, रेडियो मिड−डे, रेडियो वाणी व अन्य रेडियो स्टेशंस में जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं। थोड़े अनुभव के बाद आप वॉइस ओवर कमर्शियल, लाइव शो होस्ट, टेलीविजन शो व फिल्मों के लिए भी ट्राई कर सकते हैं।

आमदनी 
इस क्षेत्र में आपकी आमदनी आपके अनुभव व लोगों के रिसपॉन्स पर निर्भर करती है। शुरूआती दौर में, आपको सात हजार से लेकर 15 हजार रूपए तक आसानी से मिल जाएंगे। वहीं अनुभव प्राप्त करने के पश्चात् व लोगों का प्यार मिलने से आप हर शो के लिए 2500 से 3000 हजार रूपए चार्ज कर सकते हैं।

कोर्सेज
डिप्लोमा इन रेडियो प्रोग्रामिंग व ब्रॉडकास्ट मैनेजमेंट।
डिप्लोमा इन रेडियो प्रोडक्शन व रेडियो जॉकी।
पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा इन रेडियो एंड ब्रॉडकास्ट मैनेजमेंट।
सर्टिफिकेट कोर्स इन रेडियो जॉकिंग।

प्रमुख संस्थान

रेडियो सिटी स्कूल ऑफ ब्रॉडकास्टिंग, मुम्बई
संपर्क - +91 6696 9146
http://www.radiocity.in/radiocity-school-of-broadcasting/

  
इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ मास कम्युनिकेशन, नई दिल्ली
 संपर्क - 011 2674 2920
http://www.iimc.nic.in/


जेवियर इंस्टीटयूट ऑफ कम्युनिकेशंस, मुम्बई
संपर्क - 022 2262 1366
http://www.xaviercomm.org/


जामिया मिलिया इस्लामिया, नई दिल्ली
संपर्क - 011 2698 7285
http://jmi.ac.in/


द मुद्रा इंस्टीटयूट ऑफ मास कम्युनिकेशन, अहमदाबाद
सपर्क - 09350007111
http://www.mass-communication.in/mudra-institute-of-communication-ahmedabad/

Next News

वाइल्ड लाइफ में कॅरियर की चमकीली संभावनाएं के साथ संवारें अपना कल

अगर आपको जंगल और जंगली जीव-जंतुओं से प्यार है, और वाइल्ड लाइफ आपको आकर्षित करता है, तो वाइल्ड लाइफ के क्षेत्र में आप शानदार करियर बना सकते हैं।

एक्सपर्ट टॉक : 3डी ड्रॉइंग में रुचि है तो सिविल चुनें, मशीनें लुभाती हों तो मैकेनिकल में जाएं

इंजीनियरिंग करने वाले स्टूडेंट्स को विशेषज्ञों की सलाह, ब्रांच सिलेक्ट करने के पहले समझें अपना इंट्रेस्ट और एप्टीट्यूड।

Array ( )