एक क्रिएटिव करिअर का मौका देती है फैशन डिजाइनिंग

भारतीय टेक्स्टाइल उद्योग रोजगार उपलब्ध कराने के मामले में दूसरा सबसे बड़ा क्षेत्र है और यह दोगुनी रफ्तार से वृद्धि कर रहा है। यही नहीं मौजूदा समय में यह सबसे अच्छी आय ऑफर करने वाली इंडस्ट्री भी है।

करियर डेस्क । भारतीय टेक्स्टाइल उद्योग रोजगार उपलब्ध कराने के मामले में दूसरा सबसे बड़ा क्षेत्र है और यह दोगुनी रफ्तार से वृद्धि कर रहा है। यही नहीं मौजूदा समय में यह सबसे अच्छी आय ऑफर करने वाली इंडस्ट्री भी है। यही वजह है कि क्रिएटिव माइंड रखने वाले युवाओं के बीच अब फैशन डिजाइन कॅरिअर का एक पसंदीदा विकल्प बन चुका है। फैशन डिजाइनिंग में प्रोफेशनल डिग्री हासिल करने वालों के लिए देश ही नहीं विदेश में भी कई मौके हैं। आप चाहें तो किसी फैशन हाउस, मैन्यूफैक्चरिंग या एक्सपोर्ट यूनिट को जॉइन कर सकते हैं या अपना लेबल लॉन्च कर सकते हैं। 

सही इंस्टीट्यूट चुनें 
एडमिशन लेने से पहले पूरी रिसर्चकरके एक सही इंस्टीट्यूट चुनें। इसके लिए कॉलेज का इतिहास देखें, जानें कि वहां पर्याप्त बुनियादी सुविधाएं मौजूद हैं या नहीं और स्टूडेंट्स को मिलने वाले अवसरों के बारे में भी जानने का प्रयास करें। इंटर्नशिप्स और प्लेसमेंट्स की स्थिति और एल्युम्नाई स्टूडेंट्स कहां काम कर रहे हैं यह जानना भी जरूरी है।

खुद को समझेंऔर फोकस्ड रहें
किसी भी कॅरिअर को चुनने का पहला कदम होता है अपनी पसंद को पहचानना और उसी क्षेत्र से जुड़ेकॅरिअर के लिए खुद को तैयार करने की ओर ध्यान देना। अगर आपको ड्रॉइंग, विजुअलाइजेशन या क्रिएटिव राइटिंग में मजा आता है तो आपमें इस इंडस्ट्री को जॉइन करने का कौशल है।

विकल्पों की कमी नही - फैशन डिजाइनर के अलावा इस क्षेत्र में कई और मौके हैं जो आप प्रोफेशनल कोर्स करने के बाद अपना सकते हैं।

 

  • आंत्रप्रेन्योरशिप : आप चाहें तो पारिवारिक कारोबार में शामिल हो सकते हैं या अपना नया बिजनेस शुरू कर सकते हैं।
  • फैशन मर्केंडाइजर : अपैरेल सेल्स को प्रोत्साहित करने के लिए एक्सपोर्ट और बाइंग हाउसेज में इस प्रोफाइल को अपना सकते हैं।
  • फैशन ब्लॉगर : लेखन में दिलचस्पी हो तो फैशन ब्लॉगिंग कर सकते हैं। अभिमन्युसिंह राठौड़ भारत के लोकप्रिय फैशन ब्लाॅगर्स में से एक हैं।
  • फैशन स्टाइलिस्ट : फैशन स्टाइलिस्ट के तौर पर सेलिब्रिटीज के लिए डिजाइनिंग कर सकते हैं। मनीष मल्होत्रा इसका बेहतरीन उदाहरण हैं।
  • कॉर्पोरेट फैशन डिजाइनर : एक्सपोर्ट हाउसेज, बाइंग हाउसेज, प्रॉडक्शन हाउसेज में डिजाइनरों की जरूरत होती है जो उनके बिजनेस के लिए परिधान व एक्सेसरीज विकसित कर सकें।
  • एकेडमिक्स : जरूरी नहीं कि फैशन डिजाइनिंग का कोर्सकरने के बाद आप डिजाइनर के तौर पर ही अपना कॅरिअर शुरू करें। पढ़ाने में आपकी रुचि है तो आप इस फील्ड में एकेडमिशियन भी बन सकते हैं।

प्रमुख संस्थान

पर्ल ऐकेडमी ऑफ फैशन, नई दिल्ली
संपर्क - 1800 103 3005
https://pearlacademy.com/


नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन डिज़ाइन, कोलकाता
संपर्क - 033 2335 8872
https://www.nift.ac.in/


सोफिया पॉलीटेक्निक, मुंबई
संपर्क - 022 2351 3157
http://www.sophiapolytechnic.com/


नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ डिजाइन, अहमदाबाद
संपर्क - 079 2662 9500
http://www.nid.edu/

Next News

परीक्षा के बाद छुट्टियों में सीखें सकते है ये 6 स्किल्स

ऐसे कई शोर्ट टर्म कोर्स हैं जो बच्चों के स्कूल के करीकुलम का भाग तो बिलकुल नहीं है लेकिन ऐसे कोर्स बच्चों के स्किल्स को और इम्प्रूव करने तथा करियर के

प्रधानमंत्री विशेष स्कॉलरशिप के लिए आवेदन शुरू,जल्दी करें अप्लाई

इसमें वह विद्यार्थी आवेदन कर सकते है जिन्होंने 12वीं कक्षा केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड या राज्य स्कूल शिक्षा बोर्ड से पास की हो। विद्यार्थियों के लिए

Array ( )