नए नियम के अनुसार UGC फिजियोथेरेपी में योगा डिप्लोमा होल्डर्स को मिलेगी प्राथमिकता

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने योग विषय में डिप्लोमा धारकों को फिजियोथेरेपी के डिग्री में एडमिशन के लिए प्राथमिकता देना का फैसला किया है। एक विशेषज्ञ समिति की सिफारिश के बाद यूजीसी ने यह निर्णय लिया है।

एजूकेशन डेस्क । विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने योग विषय में डिप्लोमा धारकों को फिजियोथेरेपी के डिग्री में एडमिशन के लिए प्राथमिकता देना का फैसला किया है। एक विशेषज्ञ समिति की सिफारिश के बाद यूजीसी ने यह निर्णय लिया है। सिफारिश में सुझाया गया था कि योग में विशेषज्ञता रखने वालों को दाखिले में प्राथिमिकता दी जाए। इन सिफारिशों को मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने मंजूर कर ली हैं। यूजीसी ने सभी विश्वविद्यालयों को एक पत्र भेजा है जिसमें कहा गया कि योग में एक साल का डिप्लोमा रखने वाले उम्मीदवार को एडमिशन में प्राथमिकता दी जा सकती है।   

लेटर में कहा गया है, ''योगा में 1 साल का डिप्लोमा रखने वाले कैंडिडेट्स को एग्जाम में स्कोर किए गए उनके मार्क्स के आधार पर ही प्राथमिकता दी जाए।'' साथ ही ये बात भी कही गई है कि योग्यता के बाकी पैमाने योगा धारकों के लिए दूसरे कैंडिडेट्स के जैसे ही रहेंगे।

यूजीसी ने विश्वविद्यालयों से दाखिले की प्रक्रिया के दौरान सभी सिफारिशों पर ध्यान देने को कहा है। बता दें कि मई 2016 में यूजीसी ने विश्वविद्यालयों से फिजियोथेरेपी के ग्रेजूएशन और पोस्ट ग्रेजूएशन के डिग्री पाठ्यक्रमों में योग के शिक्षण व प्रशिक्षण का मॉड्यूल शामिल करने के लिए कहा था। 

Next News

वनस्थली विद्यापीठ से एमबीए करने का मौका, 30 अप्रैल तक करें आवेदन

एमबीए प्रोग्राम में एडमिशन के इच्छुक आवेदक 30 अप्रेल 2018 तक एप्लीकेशन फॉर्म भर सकते हैं। इस प्रोग्राम में योग्य आवेदकों का सिलेक्शन मेरिट कम एप्टीट्यूड

नेशनल इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्नोलॉजी राउरकेला से करें पीएचडी, लास्ट डेट 20 मई

एनआईटी राउरकेला ने 20 विभागों के पीएचडी प्रोग्राम में एडमिशन के लिए आवेदन मांगे हैं। इसके लिए 20 मई तक आवेदन किया जा सकता है।

Array ( )