10th से ही करें इन एग्जाम्स का प्रिपरेशन, सबजेक्ट सिलेक्शन से लेकर कॅरियर तक होगी आसानी

10th के स्टूडेंट्स स्कूल के साथ-साथ फ्यूचर एग्जाम की तैयारी भी करते हैं तो फाइनल एग्जाम तक उन्हें सिर्फ रिवीजन ही करना पड़ेगा। इन एग्जाम्स की अनिश्चितता भी उन्हें परेशान नहीं कर सकती।

एजुकेशन डेस्क। स्कूल एजुकेशन का बेस क्लास 10th काे माना जाता है। कॅरियर के लिए सारी राहें यही से खुलती हैं। इसलिए इसी दौरान ही फ्यूचर में फेस करने वाले एग्जाम्स की प्रिपरेशन भी शुरू कर देनी चाहिए। 10th के बाद जिन एग्जाम्स को सबसे ज्यादा इम्पोर्टेन्स दिया जाता है। उनकी ब्रीफ इन्फॉर्मेशन के साथ जानिए कि इन एग्जाम्स को क्रैक करने की स्ट्रेटेजी कैसे बनाई जा सकती है। ताकि 10th लेवल से ही तैयारी पक्की होती जाए। 

नीट फॉर मेडिकल फील्ड 

यह एमबीबीएस / बीडीएस में एडमिशन का एंट्रेन्स एग्जाम है। यह एग्जाम साइंस से 12th पास करने के बाद देना होता है। इससे पहले, सीबीएसई ने ऑल इंडिया प्री मेडिकल टेस्ट (एआईपीएमटी) का आयोजन किया था। लेकिन अब एनईईटी यूजीसी ने एआईपीएमटी और ग्रेजुएट स्तर की अन्य मेडिकल प्रवेश परीक्षा की जगह ले ली है, यह परीक्षा सीबीएसई कंडक्ट करवाता है। 

जेईई फॉर इंजीनियरिंग फील्ड 

यह पीसीएम के साथ 12th साइंस स्ट्रीम के स्टूडेंट्स के लिए सामान्य इंजीनियरिंग एंट्रेन्स एग्जाम है। इसमें हिस्सा लेने वाले स्टूडेंट देश के विभिन्न इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन के लिए अप्लाय कर सकते हैं जैसे एनआईटी, आईआईटी। जेईई एडवांस इसका सैकेंड फेज है। यह आईआईटी में प्रवेश लेने के लिए फाइनल स्क्रीनिंग है। इसके बाद काउंसिलिंग होती है। 

एनडीए एग्जाम फॉर आर्मी 

यह एक ऑल इंडिया लेवल एंट्रेन्स एग्जाम है और उन युवाओं के लिए सबसे अच्छा विकल्प है जो देश के लिए काम करना और देश की सेवा करना चाहते हैं। एनडीए और एनए एग्जाम पास करने के बाद सेना, वायुसेना और नौसेना में रोजगार के अवसर मिल सकते हैं। लेकिन स्टूडेंट्स का फिजिक्स और मैथ्स से 12th पास होना चाहिए। तीन से चार साल तक ट्रेनिंग होती है।

क्लैट फॉर लाॅ फील्ड

यह ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट (एल.एल.बी. और एल.एल.एम.) के तहत एडमिशन के लिए कंडक्ट होने वाला एग्जाम है। यह भी ऑल इंडिया लेवल एग्जाम है, जो 12th के बाद देना होता है। लॉ कोर्सेस और एग्जाम 14 नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज (एनएलयू) के द्वारा आयोजित की जाती है।

निफ्ट फॉर फैशन फील्ड  

यह फैशन डिजाइन में प्रोफेशनल बिजनेस के डेवलपमेंट के लिए फैशन डिजाइन, टेक्नोलॉजी और मैनेजमेंट फील्ड का एक प्रमुख इंस्टीट्यूट है। एनआईएफटी के पास 15 डोमेस्टिक प्रोफेशनल मैनेजमेंट सेंटर हैं। जो पूरे भारत के प्रमुख शहरों में स्थित हैं।

एसएससी फॉर सेंट्रल गवर्नमेंट जॉब 

यह उन छात्रों के लिए एक अच्छा विकल्प है जो सरकारी नौकरी चाहते हैं। इसमें पास होने पर विभिन्न सरकारी मंत्रालयों और विभागों में चयनित उम्मीदवार सरकारी सेवा में सशस्त्र बलों या रेलवे में किसी भी केटेगरी के क्लर्क के रूप में शामिल हो सकते हैं। जिसमें 12th वाले स्टूडेंटस एसएससी एग्जाम में बैठ सकते हैं।

सीपीटी फॉर कॉमर्स फील्ड 

कॉमन प्रोफिशिएंसी टेस्ट (सीपीटी) का आयोजन चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया (आईसीएआई) द्वारा किया जाता है। कोई भी कॉमर्स स्टूडेंट जो इस एग्जाम को पास करता है वह अपने बी-कॉम स्नातक पाठ्यक्रम के साथ चार्टर्ड अकाउंटेंसी कोर्स कर सकता है।

इन सभी एग्जाम की तैयारी के लिए कोचिंग और प्रिपरेशन 10th से ही शुरू करना बेहतर होता है। तभी आप भीड़ में अलग हो सकतेे हैं। इन सभी एग्जाम्स की गाइडलाइन समय-समय पर रिलेटेड डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर अपलोड हेाती रहती है। मार्केट में भी इससे जुड़ा स्टडी  मैटेरियल अवेलेबल होता है। इसलिए आसानी से इन सभी बड़े एग्जाम्स की तैयारी हो सकती है। 

 

Next News

10th के बाद जानें कॉमर्स की खासियत, यह है फ्यूचर कोर्सेस की जानकारी

10th के बाद सिलेक्ट की जाने वाली सबसे ज्यादा फेमस स्ट्रीम कॉमर्स है। इसके फ्यूचर कोर्सेस का ग्लैमर अन्य दूसरे ट्रेडीशनल कोर्सेस से काफी अलग है।

10th या 12th के बाद तुरंत करें ये कोर्स, कॅरियर को नई ऊंचाईयां देने में मिलेगी मदद

वोकेशनल कोर्स करने के बाद बेहतर जॉब अपॉर्च्युनिटी हासिल कर सकते हैं। इसके लिए लोकल और नेशनल लेवल इंस्टीट्यूट्स डिस्टेंस लर्निंग कोर्स भी रन करते हैं।

Array ( )